अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान स्थित है भारत
नयी दिल्ली
नयी दिल्ली
भुवनेश्वर
भुवनेश्वर
जोधपुर
जोधपुर
पटना
पटना
भोपाल
भोपाल
रायपुर
रायपुर
ऋषिकेश
ऋषिकेश
मंगलगिरि
मंगलगिरि
कल्याणी
कल्याणी
नागपुर
नागपुर
गोरखपुर
गोरखपुर
भटिण्डा
भटिण्डा
सहरसा
सहरसा
बिलासपुर
बिलासपुर
रायबरेली
रायबरेली
मदुरै
मदुरै
सम्पूर्ण भारत में एम्स संस्थानों की स्थिति को दर्शाता मानचित्र - 7 कार्यशील (हरे) तथा 10 प्रस्तावित। एम्स संस्थान का नाम (नगर/कस्बा, यदि नाम से भिन्न है)

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान या एम्स (AIIMS) सार्वजनिक आयुर्विज्ञान महाविद्यालय का समूह है। इस समूह में नई दिल्ली स्थित भारत का सबसे पुराना उत्कृष्ट एम्स संस्थान है। इसकी आधारशिला 1952 में रखी गयी और इसका सृजन 1956 में संसद के एक अधिनियम के माध्‍यम से एक स्‍वायत्त संस्‍थान के रूप में स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल के सभी पक्षों में उत्कृष्‍टता को पोषण देने के केन्‍द्र के रूप में कार्य करने हेतु किया गया। एम्स चौक दिल्ली के रिंग रोड पर पड़ने वाला चौराहा है, इसे अरविन्द मार्ग काटता है।

सन् 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसी श्रंखला में 6 अन्य एम्स संस्थान पूरे भारत में स्थापित किये गये। ताकि दूर दराज के लोगों को बेहतर इलाज की सुविधायें पाई जा सके! 2022 तक हर राज्य में एक AIIMS खोलने का विचार है। [1]

संस्थान[संपादित करें]

एम्स संस्थानों की स्थिति 
नम्बर नाम लघु नाम स्थापना शहर प्रदेश/UT
1 एम्स दिल्ली एम्स 1956 नई दिल्ली दिल्ली
2 एम्स भोपाल एम्स 2012 भोपाल मध्य प्रदेश
3 एम्स भुवनेश्वर एम्स 2012 भुवनेश्वर ओडिशा
4 एम्स जोधपुर एम्स 2012 जोधपुर राजस्थान
5 एम्स पटना जे पी एन-एम्स 2012 पटना बिहार
6 एम्स रायपुर एम्स 2012 रायपुर छत्तीसगढ़
7 एम्स ऋषिकेश एम्स 2012 ऋषिकेश उत्तराखंड
एम्स का केन्द्रीय लान (lawn)

भविष्य के एम्स[संपादित करें]

भविष्य के एम्स और स्थान, क्रमबद्ध (केंद्र सरकार अनुमोदित)
नम्बर नाम शहर प्रदेश/UT
1 एम्स गोरखपुर गोरखपुर उत्तर प्रदेश
2 एम्स Mangalgiri Mangalgiri Andhra Pradesh
3 एम्स Nagpur नागपुर महाराष्ट्र
4 एम्स Kalyani Kalyani West Bengal
5 एम्स Bihar Saharsa Bihar
6 एम्स भटिंडा भटिंडा पंजाब
7 एम्स Madurai Madurai Tamilnadu
8 एम्स Bilaspur Bilaspur Himachal Pradesh
9 एम्स Deoghar Deoghar Jharkhand
10 एम्स Kamrup Changsari Assam
11 एम्स Gujarat Gujarat Gujarat
12 एम्स Jammu Vijay Pur Jammu and Kashmir
13 एम्स Kashmir Awantipora Jammu and Kashmir

उद्देश्य[संपादित करें]

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान की स्‍थापना सभी शाखाओं में स्‍नातक और स्‍नातकोत्तर चिकित्‍सा शिक्षा में अध्‍यापन के पैटर्न विकसित करने के उद्देश्‍य से राष्‍ट्रीय महत्‍व के एक संस्‍थान के रूप में की गई थी, ताकि भारत में चिकित्‍सा शिक्षा के उच्‍च मानक प्रदर्शित किए जा सकें तथा स्‍वास्‍थ्‍य गतिविधि की सभी महत्‍वपूर्ण शाखाओं में कार्मिकों के प्रशिक्षण हेतु उच्‍चतम स्‍तर की शैक्षिक सुविधाएं एक ही स्‍थान पर लाने और स्‍नातकोत्तर चिकित्‍सा शिक्षा में आत्‍मनिर्भरता पाई जा सके।

अध्यापन[संपादित करें]

संस्‍थान में अध्‍यापन, अनुसंधान और रोगियों की देखभाल के लिए व्‍यापक सुविधाएं हैं। एम्‍स द्वारा स्‍नातक और स्‍नातकोत्तर दोनों ही स्‍तरों पर चिकित्‍सा तथा पैरामेडिकल पाठ्यक्रमों में अध्‍यापन कार्यक्रम चलाए जाते हैं और यह छात्रों को अपनी ही डिग्री देता है। यहां 42 विषयों में अध्‍यापन और अनुसंधान आयोजित किए जाते हैं। एम्‍स में एक नर्सिंग महाविद्यालय भी चलाया जाता है और यहां बी. एससी. (ऑन) नर्सिंग पोस्‍ट प्रमाण पत्र डिग्री के लिए छात्रों को प्रशिक्षण भी दिया जाता है।

एम्‍स द्वारा हरियाणा के वल्‍लभ गढ़ में व्‍यापक ग्रामीण स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल केन्‍द्र में 60 बिस्‍तरों वाले अस्‍पताल का भी प्रबंधन किया जा रहा है और यहां सामुदायिक उपचार के लिए केन्‍द्र के माध्‍यम से लगभग 2.5 लाख आबादी को स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं दी जाती हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

  1. "पड़ताल: ये तो केवल नाम के AIIMS हैं, मरीजों के साथ धोखा है सरकार!". https://aajtak.intoday.in/story/reality-check-patna-raipur-bhopal-aiims-hospital-not-proper-operational-doctors-positions-vacant-1-998562.html.