सेल्यूलर जेल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
सेलुलर जेल
300px
सेलुलर जेल्, अंदमान
निर्माण सूचना
नाम सेलुलर जेल
स्थिति पोर्ट ब्लेयर, अंडमान
देश भारत
निर्देशांक 11°40′30″N 92°44′53″E / 11.675, 92.748
वास्तुकार
उपभोक्ता ब्रिटिश सरकार
निर्माण आरंभ 1896
पूर्ण 1906
लागत रु. 517,352[1]
शैली कोशिकीय, Pronged

यह जेल अंडमान निकोबार द्वीप की राजधानी पोर्ट ब्लेयर में बनी हुई है। यह अंग्रेजों द्वारा भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के सेनानियों को कैद रखने के लिए बनाई गई थी, जो कि मुख्य भारत भूमि से हजारों किलोमीटर दूर स्थित थी, व सागर से भी हजार किलोमीटर दुर्गम मार्ग पडता था। यह काला पानी के नाम से कुख्यात थी।

इतिहास[संपादित करें]

यह जेल अंडमान निकोबार द्वीप की राजधानी पोर्ट ब्लेयर में बनी हुई है। यह अंग्रेजों द्वारा भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के सेनानियों को कैद रखने के लिए बनाई गई थी, जो कि मुख्य भारत भूमि से हजारों किलोमीटर दूर स्थित थी, व सागर से भी हजार किलोमीटर दुर्गम मार्ग पडता था। यह काला पानी के नाम से कुख्यात थी।

अंग्रेजी सरकार द्वारा भारत के स्वतंत्रता सैनानियों पर किए गए अत्याचारों की मूक गवाह इस जेल की नींव 1897 में रखी गई थी। इस जेल के अंदर 694 कोठरियां हैं। इन कोठरियों को बनाने का उद्देश्य बंदियों के आपसी मेल जोल को रोकना था। आक्टोपस की तरह सात शाखाओं में फैली इस विशाल कारागार के अब केवल तीन अंश बचे हैं। कारागार की दीवारों पर वीर शहीदों के नाम लिखे हैं। यहां एक संग्रहालय भी है जहां उन अस्त्रों को देखा जा सकता है जिनसे स्वतंत्रता सैनानियों पर अत्याचार किए जाते थे।

चित्र दीर्घा[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Article on Hinduonnet.com". http://www.hinduonnet.com/thehindu/features/andaman/stories/2004081500160200.htm. अभिगमन तिथि: 2006. 

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]