समान्तर चतुर्भुज

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
समान्तर चतुर्भुज

समान्तर चतुर्भुज (Parallelogram) ज्यामिति की एक आकृति है। Area of parallelogram=1/2any one side×perpendicular distance between them

                                     =1/2×a×h(where a is any side of parallelogram and h is perpendicular distance between them.)

Perimeter =sum of all opposite side

                 =2(a+b)

परिभाषा[संपादित करें]

ज्यामिति की ऐसी आकृति जिसकी आमने सामने की भुजाएं समान्तर हों। उसे समान्तर चतुर्भुज कहते हैं।

समान्तर चतुर्भुज की विशेषताएं[संपादित करें]

  • आमने सामने की भुजाएं बराबर और समान्तर होती हैं।
  • विकर्ण एक दूसरे को समद्विभाजित करते हैं।
  • आमने सामने के कोण बराबर होते हैं।
  • विकर्ण आमने सामने के कोण को समद्विभाजित करते हैं।

विशेष[संपादित करें]

  • प्रत्येक वर्ग समान्तर चतुर्भुज होता है।
  • प्रत्येक आयत समान्तर चतुर्भुज होता है।
  • प्रत्येक सम चतुभज समान्तर चतुर्भुज होता है।
  • आयत व वर्ग को छोड़कर प्रत्येक समांतर चतुर्भुज के विकर्ण आपस में बराबर नहीं होते है।(आयत व वर्ग के विकर्ण सदैव बराबर होते हैं।)