बिंदु

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

बिंदु (Point in geometry)यह समतल में एक स्थिति को बताने के लिए एक सूक्ष्म चिन्ह है। इसमें न लम्बाई होती है और न ही चैड़ाई।

कलम या पेंसिल की नोक को कागज पर दबाने से जो निशान प्राप्त होता है उसे बिंदु कहते हैं

जीरो त्रिज्या वाले वृत्त को बिंदु कहते हैं

"बिंदु"- बिना आकृति व आकार वाले गणित संकेतिक चिन्ह को बिंदु कहते है। यह समतल में एक स्थिति को बताने के लिए एक सूक्ष्म चिन्ह है।

बिंदु की विशेषताएँ[संपादित करें]

  • बिंदु की लम्बाई शून्य होती है।
  • बिंदु की चौड़ाई शून्य होती है।
  • बिन्दु का क्षेत्रफल शून्य होता है।
  • बिंदु का आयतन शून्य होता है।

बिंदु की विमायें[संपादित करें]

बिंदु की विमायें शून्य होती हैं (zero dimensions)

युक्लीडियन ज्यामिति में[संपादित करें]

युक्लीडियन ज्यामिति में किसी बिंदु का निर्धारण (x,y) के रूप में हो सकता है जहाँ x और y अक्षों को प्रकट करते है। इसी प्रकार अंतरिक्ष (space) में किसी बिंदु को (x,y,z ) के रूप में प्रकट करते हैं जहाँ x ,y और z कृमशः x-अक्ष ,y-अक्ष और कz-अक्ष को प्रकट करते हैं।

ज्यामिति में बिंदु का महत्व[संपादित करें]

यद्यपि बिंदु विमाओं रहित होता है लेकिन बिंदु के बिना ज्यामिति की कल्पना करना असंभव है। अतः ज्यामिति में बिंदु का महत्त्व सर्वाधिक है या यों कहें कि ज्यामिति का प्रारम्भ ही बिंदु से होता है