शंकरिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

शंकरिया राजस्थान का प्रसिद्ध लोक नृत्य है।

{{Navbox |name = भारत के लोक नृत्य |state = autocollapse |title = भारत के लोक नृत्य |image = Nandini Ghosal.jpg

|group1 = उत्तर भारत

|list1 =

|group2 = दक्षिण भारत

|list2 =

|group3 = पूर्वी भारत

|list3 =

|group4 = पश्चिम भारत

|list4 =

|group5 = मध्य भारत

|list5 =

|group6 = पूर्वोत्तर भारत

|list6 =

|group7 = द्वीप

|list7 =

शंकरिया नृत्य राजस्थान की लोक संस्कृति से जुड़ा एक लोक नृत्य है। यह कालबेलियों का युगल नृत्य है।

यह प्रेम कथाओं के आधार पर किया जाने वाला नृत्य है। शंकरिया नृत्य के दौरान सुन्दर अंग संचालन दर्शनीय होता है। नृत्य में कालबेलिया जाति के सपेरे भाग लेते हैं। प्रेम कहानी पर आधारित होने के कारण शंकरिया नृत्य स्त्री-पुरुष दोनों के द्वारा प्रस्तुत किया जाता है इस नृत्य में अंगों का संचालन महत्वपूर्ण है इस नृत्य की प्रमुख नृत्यांगना कमली कंचन गुलाबो है गुलाबो पुष्कर निवासी।

यह राजस्थान का एकमात्र लोक नृत्य है जिसने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाएं 2010 में यूनेस्को ने इस नृत्य को विश्व धरोहर की श्रेणी में शामिल किया