कामड़

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कामड़ राजस्थान का परिद्ध लोक नृत्य है। नाथ सम्प्रदाय के कपिलानि पन्थ से कामड् जाति बनी है ये हिन्ग्लाज माता के पुजारी या छ्डीदार होते है। परम्प्रा से हिन्ग्लाज माता की पूजा के लिये तेरह्ताली नृत्या किया करते है। शिव के तान्ड्व व पार्वती के ताल से ताल शब्द बना है। अतः यह शिव शक्ती की उपासना के लिये निर्त्य व पूजा पद्दती है। राजस्थान, महाराष्ट्र, हरियाणा, गुजरात में कामड् पाये जाते हैं। कामड़ राजस्थान में राम देव ( पानपानपान

{{Navbox |name = भारत के लोक नृत्य |state = autocollapse |title = भारत के लोक नृत्य |image = Nandini Ghosal.jpg

|group1 = उत्तर भारत

|list1 =

|group2 = दक्षिण भारत

|list2 =

|group3 = पूर्वी भारत

|list3 =

|group4 = पश्चिम भारत

|list4 =

|group5 = मध्य भारत

|list5 =

|group6 = पूर्वोत्तर भारत

|list6 =

|group7 = द्वीप

|list7 =
पांच पीरों में से एक लोक देवता ) के भी वैनज मैनमैन ये हिंगलाज माता के गण माने जाते हैं यह भंगवा वस्त्र धारण करते हैं तथा कर्मकांड करते हैं लोगों को उपदेश देकर सत्य मार्ग बताते हैं,