सांग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
Swang as duet

सांग हिंदी शब्द 'स्वाँग' का अपभ्रंश है। उत्तरी भारत में हरियाणा, उत्तर प्रदेशराजस्थान राज्यों में प्रचलित सांग एक प्रकार की संगीतमय नाटिका होती है, जिसमें लोककथाओं को लोकगीत, संगीत व नृत्य आदि से नाट्यबद्ध किया जाता है।[1]

इस विधा में पंडित लखमी चंद का नाम बड़े सम्मान से लिया जाता है। उन्होंने ६५ के लगभग सांग लिखे हैं, जिसके कारण उन्हें सांग-सम्राट तथा हरियाणा का सूर्यकवि कहा जाता है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "SWANG DANCE". www.indianfolkdances.com. अभिगमन तिथि 14 मई 2019.