मुदुमलै वन्यजीव अभयारण्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
मुदुमलाई वन्यजीव अभयारण्य
मुदुमलाई वन्यजीव अभयारण्य is located in तमिल नाडु
मुदुमलाई वन्यजीव अभयारण्य
मुदुमलाई वन्यजीव अभयारण्य
मुदुमलाई वन्यजीव अभयारण्य (तमिल नाडु)
IUCN श्रेणी ४(आवास/प्रजाति प्रबंधन क्षेत्र)
मुदुमलाई वन्यजीव अभयारण्य मुदुमलाई वन्यजीव अभयारण्यमुदुमलाई वन्यजीव अभयारण्य (तमिल नाडु)
मुधुमलई वन्य जीव अभयारण्य का प्रवेशद्वार
मुधुमलई वन्य जीव अभयारण्य का प्रवेशद्वार
स्थिति नीलगिरी पर्वत, भारत
निकटतम शहर कोयंबतूर
निर्देशांक 11°30′0″N 76°30′0″E / 11.50000°N 76.50000°E / 11.50000; 76.50000निर्देशांक: 11°30′0″N 76°30′0″E / 11.50000°N 76.50000°E / 11.50000; 76.50000
क्षेत्रफ़ल 321 km²
स्थापित 1940

दक्षिण भारत में अपनी तरह का पहला मुदुमलाई वन्यजीव अभयारण्य केरल-कर्नाटक सीमा पर स्थित है। 321 वर्ग किलोमीटर में फैले इस अभयारण्य के पास ही बांदीपुर राष्ट्रीय उद्यान है। इन दोनों उद्यानों को मोयार नदी अलग करती है। मैसूर और ऊटी को जोड़ने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग इस उद्यान से होकर गुजरता है।

मुदुमलाई में वन्यजीवों की अनेक प्रजातियां देखने को मिलती हैं जैसे लंगूर, बाघ, हाथी, गौर और उड़ने वाली गिलहरियां। इसके अलावा यहां अनेक प्रकार के पक्षी भी देखे जा सकते हैं जैसे मालाबार ट्रॉगन, ग्रे हॉर्नबिल, क्रेस्टिड हॉक ईगल, क्रेस्टिड सरपेंट ईगल आदि। फरवरी से जून के बीच का समय यहां आने के लिए सबसे अधिक उपयुक्त है। यहां पर वनस्पति और जन्तुओं की कुछ दुर्लभ प्रजातियां पाई जाती हैं और कई लुप्तप्राय:जानवरों भी यहां पाए जाते है। हाथी, सांभर, चीतल, हिरन आसानी से देखे जा सकते हैं। जानवरों के अलावा यहां रंगबिरंगे पक्षी भी उड़ते हुए दिखाई देते हैं। अभयारण्य में ही बना थेप्पाक्कडु हाथी कैंप बच्चों को बहुत लुभाता है।

चित्र दीर्घा[संपादित करें]

टिप्पणी[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  • Israel, S. and Sinclair, T. (Eds) (1987). Indian Wildlife, Sri Lanka, Nepal. APA Productions, Hong Kong. 363 pp.
  • Sestiadti, B. (1986). Mudumalai Sanctuary. India's wildlife and wildlife reserves. Sterling Publishers, New Delhi.
  • Sharma, B.D., Shetty, B.V., Virekananthan, K. and Rathakrishnan, N.C. (1978). Flora of Mudumalai Wildlife Sanctuary, Tamil Nadu. Journal of the Bombay Natural History Society 75: 13-42.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]