प्रतिभा राय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Nuvola apps ksig.png
प्रतिभा राय
जन्म 21 जनवरी 1943 (1943-01-21) (आयु 74)
अलाबोल, जगतसिंहपुर जिला, ओडिशा
भाषा ओड़िया
राष्ट्रीयता भारतीय
जातीयता Oriya
शिक्षा स्नातकोत्तर (शिक्षा),
डाक्टरेट (शैक्षिक मनोविज्ञान)[1]
शिक्षण स्थान रावेनशा कालेज
प्रमुख कार्य याज्ञसेनी, शिलापद्म
प्रमुख पुरस्कार ज्ञानपीठ पुरस्कार
मूर्तिदेवी पुरस्कार
जीवन संगी अक्षय चन्द्र राय
संतान आद्याशा, अन्वेष, ऐसकान्त

pratibharay.org

प्रतिभा राय (जन्म 21 जनवरी 1943) ओड़िया भाषा की लेखिका हैं जिन्हें वर्ष 2011 के लिए 47वें ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। प्रतिभा राय के अब तक 20 उपन्यास, 24 लघुकथा संग्रह, 10 यात्रा वृत्तांत, दो कविता संग्रह और कई निबंध प्रकाशित हो चुके हैं। उनकी प्रमुख रचनाओं का देश की प्रमुख भारतीय भाषाओं व अंग्रेजी समेत दूसरी विदेशी भाषाओं में अनुवाद हुआ है। उनके प्रसिद्द उपन्यास शिलापद्म का हिन्दी में कोणार्क के नाम से और याज्ञसेनी का द्रौपदी के नाम से अनुवाद हुआ है जो हिन्दी में काफ़ी पढ़े जाने वाले उपन्यासों में से हैं।

जीवन[संपादित करें]

प्रतिभा राय का जन्म 21 जनवरी 1941 में जगतसिंहपुर जिले के बालीकुडा क्षेत्र के एक गाँव में हुआ।

रचनाएँ[संपादित करें]

उपन्यास[संपादित करें]

  • बर्षा बसन्त बैशाख, १९७४
  • अरण्य़, १९७७
  • निषिद्ध पृथिबी, १९७८
  • परिचय़, १९७९
  • अपरिचिता, १९७९
  • पूण्य़तोय़ा, १९७९
  • मेघमेदुर, १९८०
  • आशाबरी, १९८०
  • अय़मारम्भ, १९८१
  • नीलतृष्णा, १९८१
  • समुद्रर स्वर, १९८२
  • शिलापदम्
  • याज्ञसेनी, १९८४
  • देहातीत, १९८६
  • उत्तरमार्ग, १९८८
  • आदिभूमि
  • महामोह, १९९८
  • मग्नमाटि, २००४

लघु कहानी संग्रह[संपादित करें]

  • सामान्य़ कथन, १९७८
  • गंग शिवली, १९७९
  • असमाप्त, १९८०
  • ऐकतान, १९८१
  • अनाबना, १९८३
  • हातबाक्स, १९८३
  • घास ओ आकाश
  • चन्द्रभागा ओ चन्द्रकला, १९८४
  • श्रेष्ठ गलप, १९८४
  • अब्य़क्त, १९८६
  • इतिबृति, १९८७
  • हरितपत्र, १९८९
  • पृथक इश्वर, १९९१
  • भगबानर देश, १९९१
  • मनुष्य़ स्वर, १९९२
  • स्वनिर्बाचित श्रेष्ठ गलप, १९९४
  • षष्ठसती, १९९६
  • मोक्ष, १९९६
  • उल्लंघन, १९९८
  • निबेदनमिदम, २०००
  • गान्धी, २००२
  • झोटि पका कान्त, २००६

पुरस्कार[संपादित करें]

  • ओडीशा साहित्य अकादमी पुरस्कार (1985)
  • झंकार पुरस्कार (1988)
  • ओडिशा साहित्य का सर्वोच्च सारला दास पुरस्कार (1990)
  • भारतीय ज्ञानपीठ ट्रस्ट का मूर्तिदेवी पुरस्कार (1991)
  • केरल स्थित अमृता कृति पुरस्कार, (2006)
  • भारत सरकार का पदम् श्री (2007)
  • ज्ञानपीठ पुरस्कार (2011)

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Gulati, Varun (2009). "Language in India". languageinindia.com. http://www.languageinindia.com/july2009/pratibhashortstory.html. अभिगमन तिथि: 28 दिसम्बर 2012. "an M.A. in Education and Ph.D. in Educational Psychology"