रावुरी भारद्वाज

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
रावुरी भारद्वाज
चित्र:Ravuri Bharadhwaja.jpg
जन्म05 जुलाई 1927
मोगुलूरू, हैदराबाद स्टेट
मृत्यु18 अक्टूबर 2013(2013-10-18) (उम्र 86)[1]
हैदराबाद, भारत
व्यवसायलेखक
भाषातेलुगू
राष्ट्रीयताभारतीय
नागरिकताभारतीय
शिक्षा७वीं पास
उल्लेखनीय कार्यsपाकुडु राल्लु
उल्लेखनीय सम्मानज्ञानपीठ पुरस्कार
जीवनसाथीकान्थम
सन्तान5 (4 पुत्र और 1 पुत्री)

रावुरी भारद्वाज (1927 – 18 अक्टूबर 2013) ज्ञानपीठ पुरस्कार विजेता तेलुगू उपन्यासकार, लघु-कथा लेखक, कवि एवं समीक्षक थे।[2] उन्होंने 37 लघु कथाएँ, सत्रह उपन्यास, चार नाटक एवं पाँच रेडियो रूपान्तरण लिखे।

उन्हें २०१२ में ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मनित किया गया।[3] इनके द्वारा रचित एक रेखाचित्र जीवन समरम् के लिये उन्हें सन् 1983 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।[4]

रावुरी ने १८ अक्टूबर २०१३ को हैदराबाद के बंजारा हिल्स अस्पताल की देखरेख में अन्तिम साँसे ली।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. विशेष संवाददाता. "Jnanpith winner Ravuri no more". द हिन्दू. अभिगमन तिथि 2013-10-21.
  2. "Telugulō smr̥ti sāhityaṃ-Bharadvāja racanalu: siddhānta vyāsaṃ - Vai. E. Viśālākṣmi - Google Books". बूक्स डॉट गूगल डॉट कॉम. अभिगमन तिथि 2013-10-21.
  3. "तेलुगु लेखक रावुरी भारद्वाज को ज्ञानपीठ पुरस्कार". लाइव हिन्दुस्तान. 17 अप्रैल 2012. अभिगमन तिथि 21 अक्टूबर 2013.
  4. "अकादमी पुरस्कार". साहित्य अकादमी. अभिगमन तिथि 11 सितंबर 2016.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]