भारतीय संख्या प्रणाली

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

भारतीय संख्या प्रणाली भारतीय उपमहाद्वीप की परम्परागत गिनने की प्रणाली है जो भारत, पाकिस्तान, बंगलादेश और नेपाल में आम इस्तेमाल होती है। जहाँ पश्चिमी प्रणाली में दशमलव के तीन स्थानों पर समूह बनते हैं वहाँ भारतीय प्रणाली में दो स्थानों पर बनते हैं।

भारतीय अंकप्रणाली का उद्भव और विकास[संपादित करें]

भारतीय अंकप्रणाली का उद्भव और विकास (ब्राह्मी, ग्वालियर, संस्कृत-देवनागरी तथा अरबी) (दत्त और सिंह 1935).

देवनागरी अंक तथा उनके संस्कृत नाम[संपादित करें]

देवनागरी अंक अन्तरराष्ट्रीय अंक संस्कृत नाम
0 शून्य
1 एक
2 द्वि
3 त्रि
4 चतुर्
5 पञ्च
6 षट्
7 सप्त
8 अष्ट
9 नव

भारत की लिपियों में भारतीय अंक[संपादित करें]

Valeur 0 1 2 3 4 5 6 7 8 9
गुजराती
गुरुमुखी
देवनागरी
ओडिया
कन्नड
बंगाली
मलयालम
लिम्बू
तमिल
तेलुगु
तिब्बती

संख्याओं के नाम[संपादित करें]

हिंदी संख्या गणितीय संख्या पश्चिमी प्रणाली में
एक 1 100 एक
दस 10 101 दस
सौ 100 102 सौ
हज़ार 1,000 103 हज़ार
लाख 1,00,000 105 एक सौ हज़ार या मिलयन का दसवा हिस्सा
करोड़ 1,00,00,000 107 दस मिलयन
अरब 1,00,00,00,000 109 एक बिलयन
खरब 1,00,00,00,00,000 1011 सौ बिलयन या ट्रिलयन का दसवा हिस्सा
नील 1,00,00,00,00,00,000 1013 दस ट्रिलयन
पद्म 1,00,00,00,00,00,00,000 1015 एक क्वॉड्रिलयन
शंख 1,00,00,00,00,00,00,00,000 1017 सौ क्वॉड्रिलयन या क्विंटिलयन का दसवा हिस्सा
महाशंख या अल्द या उपाध 1,00,00,00,00,00,00,00,00,000 1019 दस क्विंटिलयन
अंक या महाउपाध 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000 1021 एक सॅक्सटिल्यन
जल्द 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000 1023 सौ सॅक्सटिल्यन
माध 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000 1025 दस सॅप्टिलयन
परार्ध 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000 1027 एक ऑक्टिलयन
अंत 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000 1029 सौ ऑक्टिलयन
महा अंत 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000 1031 दस नॉनिलयन
शिष्ट 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000 1033 एक डॅसिलयन
सिंघर 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000 1035 सौ डॅसिलयन
महा सिंघर 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000 1037 दस अनडॅसिलयन
अदंत सिंघर 100,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000 1041 सौ डुओडॅसिलयन

वैदिक संख्या पद्धति[संपादित करें]

प्राचीन वैदिक साहित्य में कई तरह की संख्या पद्धतियाँ मिलती हैं। निम्नांकित सारणी में जिस प्रणाली का विवरण दिया गया है वह वाल्मीकि रामायण में वर्णित प्रणाली है।[1]

संस्कृत (transliteration) भारतीय संख्या घातांक
निरूपण
Short scale Arabic
एक (eka) 0,00,001 100 one
दश (dasha) 0,00,010 101 ten
शत (shata) 0,00,100 102 hundred
सहस्र (sahasra) 0,01,000 103 one thousand
अयुत (ayuta) 0,10,000 104 ten thousand
लक्ष (lakṣa) one lakh 1,00,000 105 one hundred thousand
कोटि (koṭi) one crore 1,00,000 śata 107 ten million
शङ्कु (śaṅku) 1,00,000 koṭi 1012 one trillion
महाशङ्कु (mahā-śaṅku) 1,00,000 śaṅku 1017 one hundred quadrillion
वृन्द (vṛnda) 1,00,000 mahā-śaṅku 1022 ten sextillion
महावृन्द (mahā-vṛnda) 1,00,000 vṛnda 1027 one octillion
पद्म (padma) 1,00,000 mahā-vṛnda 1032 one hundred nonillion
महापद्म (mahā-padma) 1,00,000 padma 1037 ten undecillion
खर्व (kharva) 1,00,000 mahā-padma 1042 one tredecillion
महाखर्व (mahā-kharva) 1,00,000 kharva 1047 one hundred quattuordecillion
समुद्र (samudra) 1,00,000 mahā-kharva 1052 ten sexdecillion
ओघ (ogha) 1,00,000 samudra 1057 one octodecillion
महौघ (mahaugha/mahā-ogha) 1,00,000 ogha 1062 one hundred novemdecillion

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]