दमोह

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
दमोह
—  शहर  —
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य मध्य प्रदेश
ज़िला दमोह
महापौर
जनसंख्या १०८३९४९ (२००१ के अनुसार )
आधिकारिक जालस्थल: damoh.nic.in

Erioll world.svgनिर्देशांक: 23°53′N 79°27′E / 23.88°N 79.45°E / 23.88; 79.45 दमोह भारत के मध्य प्रदेश प्रान्त का एक शहर है। यह सागर संभाग का एक जिला और बुंदेलखंड अंचल का शहर है। हिन्दू पौराणिक कथाओं के राजा नल की पत्नी दमयंती के नाम पर ही इसका नाम दमोह पड़ा। अकबर के साम्राज्य में यह मालवा सूबे का हिस्सा था। दमोह के अधिकतर प्राचीन मंदिरों को मुग़लों ने नष्ट कर दिया तथा इनकी सामग्री एक क़िले के निर्माण में प्रयुक्त की गई। इस नगर में शिव, पार्वती एवं विष्णु की मूर्तियों सहित कई प्राचीन प्रतिमाएँ हैं। दमोह में दो पुरानी मस्जिदें, कई घाट और जलाशय हैं। दमोह का 14 वीं सदी में मुसलमानों के प्रभाव से महत्त्व बढ़ा और यह मराठा प्रशासकों का केन्द्र भी रहा। ऐतिहासिक नगर दमोह के आस-पास का इलाका पुरातत्त्व की दृष्टि से समृद्ध है, जहाँ छित्ता एवं रोंड जैसे प्राचीन स्थल हैं।

शिक्षा[संपादित करें]

विद्यालय[संपादित करें]

  • केन्द्रीय विद्यालय
  • महाऋषि विद्या मन्दिर

महाविद्यालय[संपादित करें]

  • सरकारी पीजी महाविद्यालय

देखने योग्य[संपादित करें]

  • गिरि दर्शन
  • बंदकपुर शिव मन्दिर
  • पुरातत्व संग्रहालय

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]