खिरकिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
खिरकिया
Khirkiya
खिरकिया is located in मध्य प्रदेश
खिरकिया
खिरकिया
मध्य प्रदेश में स्थिति
निर्देशांक: 22°20′N 77°06′E / 22.33°N 77.10°E / 22.33; 77.10निर्देशांक: 22°20′N 77°06′E / 22.33°N 77.10°E / 22.33; 77.10
देश भारत
प्रान्तमध्य प्रदेश
ज़िलाहरदा ज़िला
जनसंख्या (2011)
 • कुल22,737
भाषाएँ
 • प्रचलितहिन्दी
समय मण्डलभारतीय मानक समय (यूटीसी+5:30)
पिनकोड461441
आई॰एस॰ओ॰ ३१६६ कोडIN-MP
वाहन पंजीकरणMP 47
लिंगानुपातस्त्री 937
पुरुष 1000
साक्षरता दर80.63%
वेबसाइटwww.harda.nic.in

खिरकिया (Khirkiya) भारत के मध्य प्रदेश राज्य के हरदा ज़िले में स्थित एक नगर है।[1][2]


विवरण[संपादित करें]

खिरकिया अनाज मंडी मढ़ई प्रधान की सबसे बड़ी अनाज मंडियों में से एक है और इसमें अनाज का रिकॉर्ड उत्पादन और बिक्री भी होती है। खिरकिया का नवरात्रि त्योहार पूरे देश में बहुत प्रसिद्ध है, इतने सारे सुंदर पंडाल (जिस स्थान पर दुर्गा प्रतिमा रखी गई है) को समिति (समुदाय) द्वारा बनाया गया है। दर्जनों स्थानों पर दुर्गा प्रतिमाएं स्थापित की जा रही हैं, जो पूरे शहर और दुर्गा की ख्वाहिश को बढ़ाती हैं। यहां की विसर्जन भी बहत प्रसिद्ध है।यहां कालेज रोड पर आलूबड़े ओर तंदूरी चाय (कुल्हड़)की प्रसिद्ध दुकान है जिसके संचालक मुन्ना बायवार(अनुरूप)है यहां दूर दूर से लोग नाश्ता ओर चाय की तलाश में आते है यहां के नीलकंठेश्वर महादेव मंदिर(मढ़ी) में नर्मदा परिक्रमा वासियो को विश्राम एवं भोजन की व्यवस्था की गई है खिरकिया नर्मदा परिक्रमा के पथ पर पड़ने वाला एक प्रमुख कस्बा है

जनसांख्यिकी[संपादित करें]

2011 की जनगणना के अनुसार, खिरकिया को 15 वार्डों में विभाजित किया गया है, जिसके लिए हर 5 साल में चुनाव होते हैं। खिरकिया नगर पंचायत की जनसंख्या 22,737 है जिसमें 11,740 पुरुष हैं जबकि 10,997 महिलाएँ हैं। 0-6 वर्ष की आयु के बच्चों की जनसंख्या 3,039 है जो खिरकिया (एनपी) की कुल जनसंख्या का 13.37% है। खिरकिया नगर पंचायत में, महिला लिंग अनुपात 931 के राज्य औसत के मुकाबले 937 है। इसके अलावा खिरकिया में बाल लिंग अनुपात 918 के मध्य प्रदेश राज्य औसत की तुलना में लगभग 994 है।

खिरकिया की साक्षरता दर राज्य के औसत 69.32% से 85.37% अधिक है। खिरकिया में पुरुष साक्षरता लगभग 91.76% है जबकि महिला साक्षरता दर 78.50% है। इसके कुल 4,472 घर हैं, जहां यह पानी और सीवरेज जैसी बुनियादी सुविधाओं की आपूर्ति करता है। यह नगर पंचायत की सीमा के भीतर सड़कों का निर्माण करने और इसके अधिकार क्षेत्र में आने वाली संपत्तियों पर कर लगाने के लिए भी अधिकृत है।

पर्यटन[संपादित करें]

  • गुप्तेश्वर शिव मंदिर शहर से सिर्फ 8 किलोमीटर दूर है।
  • इंद्र सागर बैकवाटर और सूर्यास्त बिंदु शहर से केवल 15 किलोमीटर दूर है।
  • बीवर की गुफा शिव मंदिर है गुफा के अंदर केवल शिवरात्रि में भी कस्बे के पास ही मंदिर खुलता है।
  • साईं बाबा का श्री साईं धाम मंदिर भी कस्बे में।
  • कुडवा का विठ्ठल मंदिर, जिसे शहर से महज 5 किलोमीटर की दूरी पर दूसरा पंधारपुर के नाम से भी जाना जाता है।
  • सांगवा माल का जागेश्वर शिव मंदिर भी प्रसिद्ध स्थान है, इसका इतिहास शहर से मात्र 5 किलोमीटर दूर सौ साल पुराना है।
  • शहर के गोमुख मंदिर में नर्मदा नदी के कुंड (पानी की टंकी) है।

इतिहास[संपादित करें]

खिरकिया का गठन 1987 में दो गांवों, खिरकिया और छीपाबाद के संलयन द्वारा किया गया था। खिरकिया को निमाड़ के प्रवेश द्वार के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि निमाड़ क्षेत्र इस शहर से शुरू होता है। इंद्र सागर का पानी शहर से केवल 10 किलोमीटर दूर है। इन्द्र सागर बांध के कारण हरसूद डूब जाने पर खिरकिया प्रमुख शहर बन गया।

परिवहन[संपादित करें]

रेल[संपादित करें]

खिरकिया में इटारसी - खंडवा लाइन पर एक ब्रॉड गेज रेलवे कनेक्टिविटी है और रेलवे के भोपाल डिवीजन के तहत पश्चिम मध्य रेलवे ज़ोन में पड़ता है।

रोड[संपादित करें]

  • खिरकिया होशंगाबाद खंडवा राज्य राजमार्ग द्वारा खंडवा और हरदा से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।
  • खिरकिया औलिया राज्य राजमार्ग भी खिरकिया शहर को छीपावाद से जोड़ता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]