हम हैं राही प्यार के

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
हम हैं राही प्यार के
हम हैं राही प्यार के.jpg
हम हैं राही प्यार के का पोस्टर
निर्देशक महेश भट्ट
निर्माता ताहिर हुसैन
लेखक आमिर ख़ान
पटकथा रोबिन भट्ट
अभिनेता आमिर ख़ान,
जूही चावला
संगीतकार नदीम-श्रवण
छायाकार प्रवीण भट्ट
प्रदर्शन तिथि(याँ) 5 जुलाई, 1993
देश भारत
भाषा हिन्दी

हम हैं राही प्यार के 1993 की महेश भट्ट द्वारा निर्देशित और ताहिर हुसैन द्वारा निर्मित हिन्दी भाषा की हास्य प्रेमकहानी फिल्म है। इसमें प्रमुख भूमिकाओं में आमिर खान और जूही चावला है। रिलीज होने पर, फिल्म ने जूही चावला के लिये फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री पुरस्कार प्राप्त किया और फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म पुरस्कार भी पाया।

संक्षेप[संपादित करें]

राहुल मल्होत्रा ​​(आमिर खान) एक परिधान कंपनी का रखवाला है जिस पर श्री बिजलानी को एक लाख शर्ट का लंबित ऑडर है। राहुल अपनी मृत बहन के शरारती बच्चों का अभिभावक भी हैं। जिनके नाम है: सनी, मुन्नी और विकी। उसे बच्चों को संभालना मुश्किल लगता है। जब बच्चे ज्यादा परेशान करते हैं तो राहुल उन्हें उनके कमरे में बंद करके उन्हें दंडित करता है। हालांकि, बच्चे भाग जाते हैं और शहर में मेले के लिए चले जाते हैं।

वैजयंती (जूही चावला) एक दक्षिण भारतीय व्यापारी और संगीत प्रेमी की चुलबुली बेटी है। उसके पिता चाहते हैं कि वह नटराजन से शादी करें, जो संगीतज्ञ है और कुछ हद तक डरावना भी है। वैजयंती ने उससे शादी करने से इंकार कर दिया। इसलिये सजा के रूप में उसे भी कमरे में बंद कर दिया गया। वो भी भाग जाती है। वह मेले में तीन बच्चों से मिलती है और वे दोस्त बन जाते हैं। वैजयंती बताती है कि उसके पास कोई घर नहीं है इसलिए बच्चे उसे अपने साथ रहने के लिए आमंत्रित करते हैं।

राहुल से वैजयंती को छिपाने के लिए बच्चे बड़ी हद तक जाते हैं। उल्लसित अनुक्रमों की एक पंक्ति में, वे विजययंती की खोज से पहले राहुल से हमेशा एक कदम आगे रहते हैं। दो रात बाद हालांकि, वैजयंती का पर्दाफाश हो जाता है। राहुल देखता है कि बच्चे उससे प्यार करते हैं, इसलिए वह उन्हें बच्चों की दाई के रूप में नौकरी देता है। वैजयंती राहुल और बच्चों के साथ रहना शुरू कर देती है और धीरे-धीरे उससे प्यार करने लगती है।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

फ़िल्म का संगीत, संगीतकार जोड़ी नदीम-श्रवण द्वारा रचित है और गीत समीर द्वारा लिखे गए हैं।

क्र. शीर्षक गायक अवधि
1 "घूँघट की आड़ से दिलबर का" कुमार सानु, अलका याज्ञिक 06:17
2 "मुझसे मोहब्बत का इज़हार" कुमार सानु, अलका याज्ञिक 05:07
3 "यूँही कट जाएगा सफ़र साथ" कुमार सानु, अलका याज्ञिक 07:40
4 "वो मेरी नींद मेरा चैन मुझे लौटा दो" साधना सरगम 04:48
5 "बम्बई से गयी पूना" अलका याज्ञिक 04:23
6 "चिकनी सूरत तू कहाँ था" कुमार सानु 04:24

परिणाम[संपादित करें]

बौक्स ऑफिस[संपादित करें]

समीक्षाएँ[संपादित करें]

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार

विजेता

नामांकन

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]