मर्डर (2004 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मर्डर
चित्र:मर्डर.jpg
मर्डर का पोस्टर
निर्देशक अनुराग बसु
निर्माता मुकेश भट्ट
अभिनेता अस्मित पटेल,
मल्लिका शेरावत,
इमरान हाशमी,
कश्मीरा शाह
संगीतकार अनु मलिक
प्रदर्शन तिथि(याँ) 2004
देश भारत
भाषा हिन्दी
लागत अनुमानित भारतीय रुपया50 मिलियन (US$7,30,000)[1]
कुल कारोबार अनुमानित भारतीय रुपया247.5 मिलियन (US$3.61 मिलियन)[2]

मर्डर (अंग्रेज़ी;Murder / शब्दार्थ: हत्या) वर्ष २००४ की हिन्दी भाषा में बनी कामुक व अपराध-थ्रिलर आधारित फ़िल्म है जिसका निर्देशन अनुराग बसु एवं निर्माण मुकेश भट्ट ने किया@ था। फ़िल्म के मुख्य किरदारों में इमरान हाशमी, मल्लिका शेरावत एवं अश्मित पटेल ने अदायगी तथा कहानी के सेट को बैंगकाॅक, थाइलैण्ड में रखा गया है। यह वर्ष २००२ की हाॅलीवुड फ़िल्म अनफेथफुल का ही अनाधिकारिक रिमेक है।[3]

मर्डर को 2 अप्रैल २००४ को प्रदर्शित किया गया, हालाँकि समीक्षकों की मिश्रित प्रतिक्रिया बावजूद, इसने बाॅक्स ऑफिस में बड़ी सफलतापूर्वक व्यवसाय किया, भारतीय बाॅक्स ऑफिस द्वारा फ़िल्म को "सुपरहिट" दर्ज करार किया गया।[2] फ़िल्म के मुख्य कलाकारों को काफी तारीफ की गई, विशेषकर हाशमी और शेरावत की। भारतीय प्रमाणन बाॅर्ड ने फ़िल्म में मौजूद कामुक विषयों तथा दृश्यों जैसी वयस्क सामाग्रियों का हवाला देकर "ए" सर्टिफिकेट दिया गया। आगामी वर्षों में, इसी फ़िल्म के श्रृंखला पर दो सिक्विल और बनाए गए, जिनमें क्रमशः २०११ में मर्डर 2 (इमरान हाशमी, जैक़लीन फर्नांडीस व प्रशांत नारायण अभिनीत) तथा २०१३ में मर्डर 3 (रणदीप हुड्डा, अदिती राव हैदरी व सारा लियोन अभिनीत) को जारी किया गया।

सारांश[संपादित करें]

कहानी की शुरुआत सिमरन (मल्लिका शेरावत) से होती है, एक युवा औरत जिसकी शादी सुधीर (अस्मित पटेल) नाम के, एक बेहद कामकाजी और उसकी मृत बहन के पूर्व पति से होती है। सिमरन इस शर्त पर सुधीर से शादी को राजी होती है कि वह सुधीर और सोनिया (सिमरन की बहन) के बेटे की परवरिश कर सके। एकांकीपन और रसहीन विवाह के जीवन से तंग खाई सिमरन का प्रेम-प्रसंग उसके काॅलेज प्रेमी, सनी (इमरान हाशमी), से दुबारा शुरू होती है जब वह संयोग से उससे मिलती है। सनी बरसों बाद सिमरन की जिंदगी में आता है। इस तरह वह सुधीर से बहाने बनाने लगती है कि वह रोजाना सनी से मिल रही है। अपने इस प्रेम-प्रसंग में सिमरन इतनी तल्लीन होती है कि वह बीवी और माँ का फर्ज भूल जाती, उसे महसूस होता है कि उसने एक भारी गलती कर दी है। वह इस मसले को हमेशा के लिए खत्म करने का निश्चय करती है, पर उसे तब हैरानी होती है, जब सनी का किसी और राधिका नाम की औरत से चक्कर का पता होता है। सिमरन को अपन गलती का एहसास होता है कि क्यों वह सनी के साथ हमबिस्तर हुई, इसलिए कि वह अपनी वर्तमान शादी से नाखुश थी। खुद के साथ हुए इस विश्वासघात से उसे बेहद अफसोस में डाल देता है।

इस दौरान, सुधीर को अपनी बीवी की अस्वभाविक बर्तावों पर संदेह होता है, और सिमरन की गतिविधियों पर निगाहबानी के लिए एक भेदिए को हायर करता है। उसकी शक की पुष्टि भी तब होती है जब वह भेदिया उन दोनों के बतौर सबूत तस्वीरें लाकर देता है। वह सनी से मिलकर समझ जाता है कि वह बहुत रसिक मिजाज का है, जिसने कई लड़कियों को इसी तरह फाँसा था। अगले दिन, सनी की गुमशुदगी की खबर मिलती है। पुलिसकर्मी (राज जुत्शी) उनके घर आते हैं और तहकीक़ात करते जिसकी मामले की केस उसके गर्लफ्रैंड ने दर्ज कराई थी।सिमरन को वह तस्वीरें उसकी और सनी की, सुधीर के पैंट में मिलती है, और समझ जाती है कि जरूर सुधीर ने कुछ ऐसा किया होगा जिससे सनी लापता हो गया। उसे यह बात भी मालूम हो जाती है कि सुधीर इस मामले को खत्म करने के इरादे से सनी के अपार्टमेंट गया था, उसने बुरी तरह उसे पीटा और उसके शव को भी दफना दिया, ताकि राज बना रहे। सिमरन अपनी गलती कबूलते हुए, सुधीर का साथ देती है, और सनी के कत्ल का आरोप अपने सर लेने की कोशिश करती है। अपने प्यार और विश्वास के प्रति वह और दृढ़ होती है। सनी की कत्ल पर, पुलिस उसे हिरासत में लेती है और इस अपराध की पैरवी करती है। वहीं दूसरी तरफ, सुधीर कबूल करता है कि उसी ने सनी की हत्या की है। पुलिस उलझन में पड़ जाती है। सिवाय इसके कि, मौका ए वारदात जगह से शव भी गायब रहती है।

कहानी तब मोड़ खाती है जब मालूम होता है कि उस जगह "मर्डर" या हत्या जैसा कुछ हुआ ही नहीं था; ये सारी साजिश सनी ने राधिका के साथ रचा था ताकि वह सिमरन और सुधीर को जुदा कर सकें, ताकि सिमरन के साथ उसका प्रेम संबंध कायम रह सके। सिर्फ सिमरन को इसका पता चलता है, और सनी के बिछाए जाल में फँसती है। सनी जंगल की ओर भागती सिमरन का पीछा करता है, जहाँ ऐन वक्त सुधीर जा पहुँचता है और सनी से भिड़ जाता है। वह उसे हरा भी डालता है, और सनी को छोड़ देता ताकि वह दोनों को मिलते जाने कि वे अबभी एक-दूसरे से प्यार करते हैं। मगर तभी, सनी फावड़ा लेकर सुधीर के पीछे वार करता कि मौके पर पहुँची पुलिस अफसर उसपे गोली दाग देते हैं। दंपति अपना प्यार फिर पा लेते हैं, जहाँ दोनों एक-दूसरे के सहयोग के परीक्षा पर ही रिश्तों की नींव मजबूत होती है और खुशनुमा वैवाहिक जीवन जीने को अग्रसर होते हैं।

चरित्र[संपादित करें]

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

दल[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

रोचक तथ्य[संपादित करें]

परिणाम[संपादित करें]

बौक्स ऑफिस[संपादित करें]

समीक्षाएँ[संपादित करें]

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

  1. Nag, Ashoke (27 February 2005). "'Murder' makes a killing at box office". दि इकॉनोमिक टाइम्स. अभिगमन तिथि 2016-04-12.
  2. "Box Office 2004". Box Office India. मूल से 31 December 2010 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2013-03-16.
  3. Sen, Sushmita (8 August 2014). "From 'Jai Ho' to 'Raaz': 21st Century Bollywood Remakes of Hollywood Films". International Business Times, भारत Edition. अभिगमन तिथि 2016-04-12.