जिस्म २

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
जिस्म २
निर्देशक पूजा भट्ट
निर्माता पूजा भट्ट
डीनो मोरेय
लेखक महेश भट्ट
(कहानी)
शगुफ्ता रफ़ीक़
(संवाद)
अभिनेता सन्नी लियोन
रणदीप हूडा
अरुणोदय सिंह
संगीतकार मिथुन[1]
अर्को प्रावो मुखर्जी
अब्दुल बसित सईद
रुष्क
छायाकार निगम बोमजन
संपादक देवेंद्र मुरदेशवर
स्टूडियो क्लॉकवर्क फिल्म्स प्राइवेट लिमिटेड
वितरक फिश आइ नेटवर्क प्राइवेट लिमिटेड
विशेष फिल्म्स
प्रदर्शन तिथि(याँ)
  • 3 अगस्त 2012 (2012-08-03)[2][3]
देश भारत
भाषा हिन्दी
लागत 70 मिलियन (US$1.02 मिलियन)[4]
कुल कारोबार 349.7 मिलियन (US$5.11 मिलियन)

जिस्म २ एक बॉलीवुड फिल्म है, जिसका निर्देशन पूजा भट्ट ने किया। इनके साथ डीनो मोरेय इस फिल्म के निर्माता है। यह ३ अगस्त २०१२ को सिनेमा घरों में प्रदर्शित हुई।

कहानी[संपादित करें]

इस फिल्म के शुरुआत में दिखाया जाता है कि इजना (सन्नी लियोन) घास में मरते हुए गिरती है और कहती है कि उसे माफ करने। इसके बाद कहानी ६ महीने पीछे चले जाती है। इसमे एक खतरनाक हत्यारा से महत्वपूर्ण जानकारी को पुन: प्राप्त करने के लिए एक खुफिया अधिकारी आयन ठाकुर (अरुणोदय सिंह) और सुरक्षा प्रमुख गुरु सलदनाह (आरिफ जकारिया) द्वारा इजना को काम पर रखा जाता है।

इस मिशन के दौरान, आयन को कबीर और इजना के पिछले संबंधों के बारे में पता चलता है। एक मिशन के दौरान कबीर नशीली दवाओं के विक्रेताओं को गिरफ्तार कर रहा था। तभी वहाँ इजना भी मिलती है। तभी उसे पता चलता है कि उसे इस कार्य में इस्तेमाल किया जा रहा है। कबीर उसके पास से एक सिक्का लेता है और उसे गिरफ्तार न करने का फैसला करता है। इसके बाद इजना उससे प्यार करना शुरू कर देती है और खून से लिखा पत्र उसको देने के लिए उसके घर तक पीछा करती है। इसके बाद दोनों एक दूसरे से प्यार करना शुरू कर देते हैं, परंतु एक दिन कबीर बिना कुछ कहे ही गायब हो जाता है। छह वर्ष बीत जाने के बाद भी उसका कोई पता नहीं चलता।

एक मिशन के लिए इजना को श्रीलंका में एक आवासीय कॉलोनी में जाना था। यहाँ पर कबीर भी एक संगीतकार की एक पहचान के साथ रह रहा था। यहाँ इजना और आयन मंगेतर के रूप में कार्य करने के लिए आते हैं। इजना पड़ोस के घर जाती है एक नई पड़ोसी के रूप में आती है। तब वह कबीर को देखती है। परंतु कबीर कहता है कि वह उसे नहीं पहचानता। इसके बाद अगले दिन उसके घर के खिड़की पर रक्त से "क्षमा" लिखा होता है। और तभी एक कॉल आता है और कबीर वहाँ से चला जाता है। इसके बाद कबीर गुरु सलदनाह की टीम पर हमला करता है, लेकिन वह भाग जाता है। तभी आयन कबीर के घर से डाटा चुराने का सोचता है और उसी समय इजना कबीर को इजना का पत्र मिलता है जिसमें इजना उससे मिलना चाहती है। कबीर घर से बाहर उससे मिलने को जाता है। आयन तभी उसके लैपटाप से जानकारी लेता है, परंतु कबीर के मोबाइल में एक चेतावनी आती है कि कोई उसके लैपटाप से जानकारी चुरा रहा है। तभी कबीर उसके घर में जाता है। तब तक आयन पूरी जानकारी को चुरा कर भाग जाये रहता है। जानकारी देखने के बाद आयन को पता चलता है कि सारी जानकारी गलत है।

कबीर, जो अब तक इजना पर भरोसा करता है; वह अपने मित्र सुमित से मिलता है। इसके बाद वह इजना से मिलता है और उससे शादी करने का प्रस्ताव देता है और आयन का घर छोड़ने के लिए भी कहता है। इजना इसके लिए सहमत हो जाती है। कबीर सुमित से शादी की तैयारी करने को कहता है। यह बात जब आयन को पता चलता है तो वह नाराज हो जाता है। सुमित गलती से आयन का संदेश इजमा के मोबाइल में पढ़ लेता है और उसे पता चल जाता है कि वह एक जासूस है। सुमित को कुछ बंदूकधारी लोग मार देते हैं। पर आयन इजना को फोन कर यह कहता है कि एक जरूरी बात है। जब इजना आयन से मिलती है तो वह कहता है कि कबीर ने सुमित को मार डाला और तुम्हें भी मार डालेगा। और वह उसे जहर देता है जिसे वह कबीर के पेय में मिला दे।

जब इजना घर पर नहीं थी, यह देख कर कबीर आयन के घर चला जाता है और तभी उसे सुमित का ब्लुटूथ का पता चलता है। सुमित के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए कबीर उसके घर को पूरी तरह से जाँचता है। तभी उसे इजना के बैग के अंदर एक किताब मिलती है। इसमें वही कहानी थी जैसा की इजना ने आयन से मिलने का उसे बताया था। इसके बाद वह घर पर रुकता है। जब इजना आती है तो इजना आयन का दिया हुआ जहर कबीर के कॉफी में मिला कर उसे देती है। कबीर उसे बताता है कि कई वर्ष पहले देश के स्वयं के कई अधिकारियों, सुरक्षा बलों और राजनेता भ्रष्ट होने के कारण एक स्टिंग ऑपरेशन के लिए उसने इजना को छोड़ दिया था। इसलिए, वह उन्हें चुनता था और उसके बाद वह उन्हें मार डाला करता था। कबीर के अनुसार, वह एक देशभक्त था, आतंकवादी नहीं।

वह जहर वाला कॉफी को बाहर फेक देता और कहता है कि गुरु सलदनाह एक धोकेबाज़ है। वह मूल जानकारी लेकर तुम्हें मार डालेगा। वह इजना से कहता है कि वह स्विस बैंक से असीमित पैसे निकाल सकती है। इसके अलावा वह उसे एक नया पासपोर्ट, टिकट, और प्रदान कर सकता है। परंतु इजना इन सभी बातों को नहीं मानती और कबीर के गले मिल कर चुंबन देती है और जाने से पहले उसके पेट में गोली मार देती है। कबीर तुरंत मर जाता है।

जब इजना गुरु सलदनाह के पास जानकारी लेकर जाती है तो उसे पता चलता है कि कबीर की बात सच थी और वह एक धोकेबाज़ है। उसने कार्य समाप्त होने के बाद आयन को इजना को मारने का कार्य शौपा था। परंतु बाद में आयन का मन बदल गया और वह गुरु सलदनाह को ही मार देता है। क्योंकि वह इजना से प्यार करता है।

इजना उसके धोखाधड़ी वाले मिशन में साथ थी और आँख बंद करके उस पर भरोसा किया। उसके कारण उसके जीवन का प्यार एक निर्दोष व्यक्ति को मार डाला। आयन इजना को कहता है कि यदि उसने घर छोड़ा तो वह उसे मार देगा। तभी इजना कहती है कि उसके साथ रहने से अच्छा कबीर के साथ मारना पसंद है और इजना घर छोड़ देती है। इजना के जाते समय आयन उस पर पीछे से गोली चलता है। जैसे ही इजना को गोली लगती है वह मुड़कर आयन को कई बार गोली मारती है और आयन के साथ-साथ वह भी मर जाती है और कहानी समाप्त हो जाती है।

कलाकार[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Arko to compose music for 'Jism 2'". द टाइम्स ऑफ़ इण्डिया. 17 April 2012. अभिगमन तिथि 22 April 2012.
  2. "Sunny Leone, Poonam Pandey won't clash". "India today". अभिगमन तिथि 28 May 2012.
  3. Social Post (4 June 2012). "Confirmed: Jism 2 release date preponed | News – Oneindia Entertainment". Entertainment.oneindia.in. अभिगमन तिथि 2012-09-25.
  4. "Jism 2 made 21 crore in opening weekend". "India today". अभिगमन तिथि 6 August 2012.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]