चौरई

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
चौरई
Chourai
—  शहर  —
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य मध्य प्रदेश
नगरपालिका अध्यक्ष ओम अग्रवाल विधायक

सुजीत मेरसिंह चौधरी

जनसंख्या 20000 अनुमानित

निर्देशांक: 22°19′N 79°31′E / 22.32°N 79.51°E / 22.32; 79.51 चौरई भारत देश में मध्य प्रदेश राज्य के छिंदवाड़ा जिला की एक तहसील, विधानसभा क्षेत्र और नगरपालिका हैँ। चौरई से छिंदवाडा और सिवनी जिला की दूरी 35 किलोमीटर है चौरई विधान सभा क्षेत्र मे बिछुआ और चाँद तहसील शामिल हैँ। यहाँ के प्रमुख धार्मिक स्थलो में

  1. माँ बंजारी
  2. माता मंदिर
  3. शिवशक्ति मँदिर पेंच कॉलोनी
  4. चर्च
  5. जैनमंदिर
  6. गायत्री मँदिर
  7. दादा धूनिवाले मँदिर
  8. जोडा हनुमान मँदिर (पुलिस थाना के पीछे)
  9. बैल बाजार शंकर मंदिर
  10. हनुमान मंदिर ब्लाक कालोनी
  11. पँचमुखी हनुमान मंदिर तहसील परिसर
  12. काली मंदिर

प्रमुख हैँ।

तुलसी जयंती[संपादित करें]

सन् 1966 से चौरई में तुलसी जयंती प्रतिवर्ष बडे धूमधाम से मनायी जाती है 21 दिनो तक अंखड रामायण के पाठ के पश्चात तुलसी जंयती के दिन रामायण समापन के बाद माता मंदिर से गोस्वामी तुलसीदास जी की फोटो पालकी में रखकर पुरे नगर में घूमायी जाती है इनके पीछे झाकियाँ व शैला नृत्य करते हुए लोग आगे बढ़ते हैँ। नगर की तुलसी जयंती जिसकी ख्याति दूर दूर तक है इसमे शैला नृत्य,जस प्रतियोगिता और झाकियाँ आदि प्रमुख है जिसे देखने लोग दूर दूर से आते हैँ स्थानीय कलामंच में शैला नृत्य का आयोजन होता है जिसमे आस-पास क्षेत्रो से आये ग्रामीण बडे उत्साह से भाग लेते हैँ ओर जनप्रतिनिधियो के द्वारा पुरस्कार पाते है साथ ही चौरई में गणेश उत्सव और शारदीय नवरात्री भी बड़े धूमधाम से मनायी जाती हैं।

कमलनाथ स्टेडियम[संपादित करें]

यह एक प्रमुख खेल मैदान हैँ इस स्टेडियम मे मुख्य रूप से क्रिकेट और फूटवाँल ज्यादा खेला जाता है जिसमे हरसाल ट्राफी होती है साथ ही 15 अगस्त और 26 जनवरी को आयोजन इसी मैदान पर होता है जिसमे रेली और विभिन्न प्रकार के रंगारंग प्रस्तुति स्कूल के बच्चे देते हैँ।

प्रमुख शिक्षण संस्थान[संपादित करें]

केन्द्रीय विद्यालय शासकीय प्राथमिक शाला शासकीय माध्यमिक विद्यालय उत्कृष्ट विद्यालय डीपी मिश्रा स्कूल कन्या शाला स्कूल कला एंव वाणिज्य महाविद्यालय फर्स्ट स्टेप स्कूल रेडीयण्ट स्कूल यश मेमोरियल कान्वेंट स्कूल सरस्वती शिशु मंदिर स्कूल सरस्वती ज्ञान मंदिर स्कूल ITI कालेज महात्मा गांधी पब्लिक स्कूल

इत्यादी

बैल बाजार[संपादित करें]

यहा हर बुधवार को बैल बाजार लगती है जिसमे दूर दूर से लोग मवेशी खरीदने आते हैँ।

सप्ताहिक बाजार[संपादित करें]

हर रविवार यहाँ सप्ताहिक बाजार लगती है जिसमे दूर दूर से लोग बाजार करने आते हैँ। इस क्षेत्र में सब्जी उत्पादन ज्यादा होने के कारण प्रतिदिन ताजी सब्जीयाँ उपलब्ध रहती है और आसानी से खरीदी ली जाती हैँ।