महाअमेरिका

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
महाअमेरिका
Americas (orthographic projection).svg
क्षेत्रफल ४२,५४९,००० कि.मी
जनसंख्या ९१०,७२०,५८८ (जुलाई २००८ अनुमानित)
राष्ट्रीयता अमरीकी, पैन-अमेरिकन
देश ३५
अधीनस्थ क्षेत्र २१
महाअमेरिका में देशों और अन्य क्षेत्रों की सूची
भाषा (एँ) स्पेनी, अंग्रेज़ी, पुर्तगाली, फ़्रांसीसी, एवं कई अन्य
समय क्षेत्र यूटीसी -१० से यूटीसी

महाअमेरिका या अमेरिका उत्तर और दक्षिण अमेरिका संयुक रूप से कहा जाता है। महाअमेरिका में पृथ्वी के कुल भूभाग का २८.४ % (या कुल सतह का ८.३%) आता है और कुल जनसंख्या का १३.५% (या लगभग ९० करोड़)।

अमेरिका को नई दुनिया के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि १५ वीं सदी में ही इन महाद्वीपों की खोज यूरोपियनों द्वारा की गई थी। हालांकि इससे पहले यह क्षेत्र वाइकिंग और इनूइट लोगों और स्थानिय लोगों को ज्ञात था।

"अमेरिका" शब्द को हिन्दी और अन्य बहुत सी भाषाओं में अधिकांशतः संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए प्रयुक्त किया जाता है जो तकनीकी रूप से सही नहीं है क्योंकि अमेरिका शब्द यूरोप के लोगों द्वारा इस पूरी नई दुनिया के लिए प्रयुक्त किया गया था नाकि वर्तमान संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए।

इतिहास[संपादित करें]

सीआईए द्वारा अमेरिकाओं का राजनीतिक मानचित्र

भू-रचना[संपादित करें]

दक्षिण अमेरिका लगभग १३.५ करोड़ वर्ष पूर्व गोन्डावा के पश्चिमी भाग से टूट कर अलग हो गया और एक बिल्कुल अलग महाद्वीप बन गया। फिर १.५ करोड़ वर्ष पूर्व कैरिबियाई और प्रशान्त पट्टियों के बीच हुई उथल-पुथल के कारण यहाँ बहुत से ज्वालामुखी विस्फोट हुए और कई नए द्वीपों का जन्म हुआ और उस द्वीपसमूह का भी जहाँ पर आज मध्य अमेरिका के देश बसे हुए हैं। दोनों महाद्वीपों के बीच का अन्तर पत्थरों के कटाव और ज्वालामुखीय पदार्थ के कारण भर गया। आज से लगभग ३० लाख वर्ष पूर्व उत्तर और दक्षिण अमेरिका उस स्थान पर जुड़ गए जहाँ पर आज पनामा नहर स्थित है और इस प्रकार एक महाअमेरिकी महाद्वीप का जन्म हुआ।

मानव उपस्थिति के साक्ष्य[संपादित करें]

पुरातात्विक खोजें यह बताती हैं की लगभग १०,००० ईसा पूर्व में यहाँ क्लोविस नामक एक सभ्यता का विकास हुआ था। इस बात को लेकर मतभेद है की यह अमेरिका में प्रथम मानवीय उपस्थिति थी या नहीं, जबकि अन्य कई पुरातात्विक यह मानते हैं की महाअमेरिका में ४०,००० वर्ष पूर्व लोग बसना आरम्भ हो गए थे।

लगभग १००० ईस्वी में उत्तर अमेरिका के आर्कटिक क्षेत्र में इनूइट लोग एशिया से पहुँचना आरम्भ हो गए थे। लगभग इसी समय पर (९८२ ईस्वी) वाइकिंग लिग भी ग्रीनलैंड पहुँच गए थे।

उपनिवेशिकरण[संपादित करें]

यूरोपीयनों द्वारा बडे़ पैमाने पर महाअमेरिका का उपनिवेशिकरण क्रिस्टोफ़र कोलम्बस की यात्राओं के बाद आरम्भ हुआ, जिसने १४९२ में महाअमेरिका की खोज की थी। महाअमेरिका पहुँचने वाले सर्वप्रथम यूरोपीय स्पेनी और पुर्तगाली थे। यूरोपीय लोग इस नई दुनिया में अपने साथ नई बीमारियाँ भी लेकर आए और इस कारण बहुत से स्थानीय लोगों का समूल नाश हुआ और बड़ी संख्या में मूल लोगों की जनसंख्या में गिरावट आई जबकि यूरोपीय लोग अभी भी यहाँ की स्थानीय जनसंख्या के बहुत बडे़ भाग के साथ सीधे सम्पर्क में नहीं आए थे। स्थानीय और यूरोपीयनों के बीच बहुत से युद्ध भी हुए और इस कारण भी बहुत सी स्थानीय जनसंख्या का सफ़ाया हुआ। प्रथम यूरोपीय अप्रवासी उन शिष्ट मंडलों में यहाँ जो यूरोपीय देशों द्वारा "नई दुनिया" के उपनिवेशिकरण के लिए आयोजित किए गए थे। उसके बाद के दशकों और सदियों में यूरोपीय अप्रावसन बड़े पैमाने पर जारी रहा, विशेषकर उन लोगों के लिए जिन्हें देश निकाला दे दिया जाता या वे लोग जो यूरोप में धार्मिक उत्पीड़न से बचेने के लिए यहाँ आ बसे। बहुत से लोग बड़े पैमाने पर अफ़्रीका और एशिया से दासों और अपराधियों को भी लेकर आए।

भूगोल[संपादित करें]

विस्तार[संपादित करें]

महाअमेरिका का सब्से उत्तरी बिन्दू काफेक्लोम्पन द्वीप पर है, जो पृथ्वी का सबसे उत्तरी छोर भी है। सबसे दक्षिणी बिन्दू है दक्षिणी थूले द्वीप समूह, जिसे कभी-कभी अंटार्कटिका का भाग भी माना जाता है। सबसे पूर्वी छोर है "उत्तरपूर्वी अक्रोतिरि" जो ग्रीनलैंड में है, जबकि सब्से पश्चिमी छोर है अटोउ द्वीप जो प्रशांत महासागर में स्थित है।

स्थलाकृति[संपादित करें]

महाद्वीप का पश्विमी भाग अमेरिकी कोर्डिलेरा द्वारा प्रधानवित है। यह एक पर्वत श्रृंखला है जो लगभग पूरे पश्चिमी तट को घेरे हुए है, दक्षिण अमेरिका में एंडीज़ पर्वत[1] और उत्तर अमेरिका मे रॉकी पर्वत[2] पश्चिमी तट में फैले हुए हैं। अप्पालचियन पर्वत, जो २,३०० किमी में फैले हुए हैं, उत्तर अमेरिका के पूर्वी तट में अलाबामा से नीचे की ओर फैले हुए हैं। उत्तर में आर्कटिक कोर्डिलेरा कनाडा के पूर्वी भाग को घेरे हुए हैं।

जनसांख्यिकी[संपादित करें]

जनसंख्या[संपादित करें]

महामेरिका की कुल जनसंख्या है लगभग ८५,८०,००,००० (संयुक्त राष्ट्र के आँकड़ों के अनुसार) जो इस प्रकार विभाजित है:

  • उत्तर अमेरिका में वर्ष २००२ में ५०.१ करोड़ (२००१ में ४९.५ करोड़), हवाई औए मध्य अमेरिका को मिलाकर।
  • दक्षिण अमेरिका में वर्ष २००२ में ३५.७ करोड़ (२००१ में ३५.२ करोड़)

नस्लीयता[संपादित करें]

महाअमेरिका की जनसंख्या में आठ नस्लीय समूहों या उनके संसर्ग से बनें लोग हैं:

  • अमेरिका के मूल निवासी, जिन्हें आमतौर पर "इन्डियन" कहा जाता है।
  • यूरोपीय मूल के लोग, मुख्यतः स्पेनी, अंग्रेज़, आयरिश, इतालवी, पुर्तगाली, फ़्रांसीसी, जर्मन, और डच।
  • मेस्तिजो, क्रियोल जो स्थानीय लोगों और यूरोपीय लोगों के संसर्ग से बने हैं।
  • अफ़्रीकी।
  • मोउलातो, क्रियोल अफ़्रीकी और यूरोपीय संसर्ग से बने।
  • मुलात्तो काफुसो, अफ़्रीकी और समिश्रित समूह।
  • एशियाई
  • लिवेन्टाइन

इस संदर्भ में महाअमेरिका एक विजातीय महाद्वीप है जहां पर विश्व के लगभग सभी नस्लों के लोग रहते हैं।

भाषाएँ[संपादित करें]

लातिन अमेरिका की अधिकांश जनसंख्या, स्पेनी और पुर्तगाली बोलती है, जो लैटिन से निकली हुई भाषाएँ हैं। इसके विपरीत उत्तर अमेरिका में मुख्यतः संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा में अंग्रेज़ी प्रमुखता से बोली जाती है। कनाडा मे फ़्रांसीसी भाषा भी बहुत लोगों द्वारा बोली जाती है और उत्तर अमेरिका के अधिक्तर देशों में स्पेनी भाषा प्रमुख है और यह भाषा संयुक्त राज्य अमेरिका में भी बोली जाती है।

धर्म[संपादित करें]

महाअमेरिका में ईसाई धर्म प्रधान है, लेकिन दोनों महाद्वीपों में फैले ईसाई धर्म में बहुत अन्तर पाया जाता है। उत्तर अमेरिका में (मुख्यतः संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा में) प्रोटेस्टेन्ट ईसाईयत का प्रभुत्व है तो दक्षिण अमेरिका और उत्तर अमेरिका के स्पेनी भाषी देशों में रोमन कैथोलिक ईसाईयत का प्रभुत्व है। इसके अतिरिक्त यहाँ यहूदी, बौद्ध, मुसलमान, हिन्दू, सिख और अन्य धर्मों के लोग भी रहते हैं जो मुख्यतः संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा में बसे हुए हैं।

यह भी देखें[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. एंडीज़ पर्वत श्रृंखला
  2. रॉकी पर्वत माला

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]