हेमवती नंदन बहुगुणा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

हेमवती नंदन बहुगुणा एक भारतीय राजनेता है और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके है।[1]

राजनीति[संपादित करें]

  • वर्ष 1952 में सर्वप्रथम विधान सभा सदस्य निर्वाचित। पुनः वर्ष 1957 से लगातार 1969 तक और 1974 से 1977 तक उत्तर प्रदेश विधान सभा सदस्य।
  • वर्ष 1952 में उत्तर प्रदेश कांग्रेस समिति तथा वर्ष 1957 से अखिल भारतीय कांग्रेस समिति सदस्य।
  • अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के महासचिव।
  • वर्ष 1957 में डा0 सम्पूर्णानन्द जी के मंत्रिमण्डल में सभासचिव।
  • डा0 सम्पूर्णानन्द मंत्रिमण्डल में श्रम तथा समाज कल्याण विभाग के पार्लियामेन्टरी सेक्रेटरी।
  • वर्ष 1958 में उद्योग विभाग के उपमंत्री।
  • वर्ष 1962 में श्रम विभाग के उपमंत्री।
  • वर्ष 1967 में वित्त तथा परिवहन मंत्री।
  • वर्ष 1971,1977 तथा 1980 में लोक सभा सदस्य निर्वाचित।
  • दिनांक 2 मई,1971 को केन्द्रीय मंत्रिमण्डल में संचार राज्य मंत्री।
  • पहली बार 8 नवम्बर, 1973 से 4 मार्च, 1974 तथा दूसरी बार 5 मार्च, 1974 से 29 नवम्बर, 1975 तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे।
  • वर्ष 1977 में केन्द्रीय मंत्रिमण्डल में पेट्रोलियम,रसायन तथा उर्वरक मंत्री।
  • वर्ष 1979 में केन्द्रीय वित्त मंत्री।[2]

विदेश यात्रा[संपादित करें]

इंग्लैण्ड़, जर्मनी, इटली, मिश्र आदि देशों की यात्राएं की।

निधन[संपादित करें]

दिनांक 17 मार्च, 1989 को निधन हो गया।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "विवेचनाः मुसलमान क्यों पागल थे हेमवती नंदन बहुगुणा के लिए?". www.bbc.com. अभिगमन तिथि 12-09-2018. |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  2. "यूपी का वो मुख्यमंत्री, जिसका करियर अमिताभ बच्चन ने खत्म कर दिया". अभिगमन तिथि 12-09-2018. पाठ "thelallantop" की उपेक्षा की गयी (मदद); |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)