श्रीपति मिश्रा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

श्रीपति मिश्रा (20 जनवरी 1924 - 07 दिसम्बर 2002) उत्तर प्रदेश के भूतपूर्व मुख्यमंत्री थे। वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक नेता थे। वे पूर्व में विधान सभा अध्यक्ष भी थे। उनके पिता प्रतिष्ठित राजकीय वैद्य पंडित राम प्रसाद मिश्र थे। उनका जन्म 20 जनवरी, 1924 को सुल्तानपुर में हुआ था। उन्होंने वाराणसी तथा लखनऊ विश्वविद्यालयों में पढ़ाई की व एम0ए0, एल-एल0बी0 की डिग्री प्राप्त की। उनका विवाह श्रीमती राजकुमारी मिश्र से 1941 में हुआ। उनके तीन पुत्र तथा एक पुत्री थीं। व्यवसायिक रूप से वे कृषि एवं वकालत करते थे। मार्च 1962 में वे पहली बार विधान सभा (तीसरी) के सदस्य के रूप में निर्वाचित हुए। मार्च 1967 में वे चौथी विधान सभा के सदस्‍य बने। 19 जून 1967 से 14 अप्रैल 1968 तक वे उत्तर प्रदेश विधान सभा के उपाध्यक्ष रहे।

1969 में वे लोक सभा के सदस्य बने। 18 फरवरी 1970 से 01 अक्टूबर 1970 तक वे चौधरी चरण सिंह की सरकार में मंत्री रहे व उनके पास खाद्य एवं रसद, राजस्‍व अभाव, समाज कल्‍याण, हरिजन सहायक, शिक्षा, खेलकूद, श्रम, सहायता एवं पुनर्वास का कार्यभार था। 18 अक्‍टूबर 1970 से 04 अप्रैल 1971 तक वे त्रिभुवन नारायण सिंह सरकार के मंत्रिमण्‍डल में शिक्षा एवं प्राविधिक शिक्षा मंत्री रहे। 1970 से 1976 तक वे विधान परिषद् के सदस्य रहे। 1976 में वे राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष बने। जून 1980 में वे आठवीं विधान सभा के सदस्‍य बने। 07 जुलाई 1980 से 18 जुलाई 1982 तक वे उत्तर प्रदेश विधान सभा के अध्यक्ष रहे। 19 जुलाई 1982 से 02 अगस्‍त 1984 तक वे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। 1985 में वे आठवीं लोक सभा के सदस्य बने। 07 दिसम्बर 2002 को उनका निधन हो गया।

विदेश यात्रा

26वीं कामनवेल्‍थ पार्लियामेंटरी एसोसिएशन कांफ्रेंस, लुसाका (जाम्बिया), सितम्‍बर- अक्‍टूबर, 1980,   27वीं कामनवेल्‍थ पार्लियामेंटरी एसोसिएशन कांफ्रेंस, सूवा (फिजी), अक्‍टूबर, 1981,  केन्‍या, मारीशस, सेशल्‍ज, श्रीलंका, सिंगापुर, आस्‍ट्रेलिया, फिलीपीन्‍स, जापान, हांगकांग, थाईलैण्‍ड तथा बहरीन आदि।

अन्‍य जानकारी
  • जुडिशियल मजिस्‍ट्रेट (1954- 1958)

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]