नजमा हेपतुल्ला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
नजमा हेपतुल्ला

राज्यपाल, मणिपुर
पदस्थ
कार्यालय ग्रहण 
26 मई 2014
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

राज्यसभा की उपसभापति
कार्यकाल
1985-1986, 1988 - 2004

राज्यसभा के सदस्य
कार्यकाल
2004-2010, 2012-वर्तमान

जन्म 13 अप्रैल 1940 (1940-04-13) (आयु 77)
भोपाल,मध्यप्रदेश, भारत
राजनीतिक दल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी(वर्तमान)
जीवन संगी अकबर अली ए. हेपतुल्ला (1966-2007) (मृत्यु)
बच्चे तीन बेटियाँ
निवास नई दिल्ली, भारत
व्यवसाय लेखिका और राजनीतिज्ञ
पेशा साहित्य और राजनीति

डॉ॰ नजमा हेपतुल्ला (अंग्रेज़ी: Najma Heptulla, उर्दू: نجمہ ہیپت اللہ) एक राजनीतिज्ञ, लेखिका और नरेन्द्र मोदी सरकार के अंतर्गत अल्पसंख्यक मामलों की मंत्री थी। वह फिलहाल मणिपुर राज्य की राज्यपाल है।वे मुंबई कांग्रेस कमेटी की महासचिव और उपाध्यक्ष रह चुकी हैं। वे 1985 से 1986 तथा 1988 से जुलाई 2007 तक भारतीय लोकतंत्र की उपरी प्रतिनिधि सभा राज्यसभा की पूर्व उपसभापति रही हैं। 1980 से राज्यसभा की सदस्य हैं। और अभी उनका दिल्ली के जमियामालिया युनिव्हर्सिटी मी कुलगुरू किया हैं।[1][2]

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

13 अप्रैल 1940 को मध्यप्रदेश के भोपाल में जन्मी डॉ॰ हेपतुल्ला को राजनीति विरासत में मिली है। रिश्ते में मौलाना अबुल कलाम आजाद की नातिन हेपतुल्ला ने एमएससी करने के बाद हृदय रोग विज्ञान में पीएचडी प्राप्त की पर राजनीति में दिलचस्पी के कारण वह राजनीति में आई।

व्यक्तिगत जीवन[संपादित करें]

हेपतुल्ला के पति और प्रसिद्घ मानव संसाधन सलाहकार अकबर अली ए. हेपतुल्ला का निधन हो चुका है। उनकी 3 बेटियां हैं जो अमेरिका में काम करती हैं।[3]

राजनीतिक जीवन[संपादित करें]

हेपतुल्ला ने मुंबई प्रदेश कांग्रेस कमेटी की महासचिव से अपना राजनीतिक जीवन शुरू किया, तत्पश्चात उन्होंने उपाध्यक्ष का उत्तरदायित्व भी निभाया। वे 1980 से राज्यसभा की सदस्य हैं। 1985 से 1986 तथा 1988 से जुलाई 2007 तक वे राज्यसभा की उपसभापति रहीं। इस दौरान उन्होंने सदन की कार्यवाही का कुशल संचालन किया और सत्तापक्ष तथा विपक्ष में भी लोकप्रिय बनी रहीं। लेकिन श्रीमती सोनिया गाँधी से उनके रिश्तों में आई खटास के बाद वह भाजपा में शामिल हो गई। डॉ॰ हेपतुल्ला भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद की अध्यक्ष भी रहीं हैं।[4] सन 2004 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने भाजपा का दामन पकड़ लिया।[5][6] वे जुलाई 2004 में दोबारा राज्यसभा के लिए भाजपा के टिकट पर चुनी गईं। वे भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सदस्य भी बनाई गईं। वर्ष 2007 में वह उपराष्ट्रपति के चुनाव में हामिद अंसारी से 233 वोटों से हार गई थीं।[7]

उन्होंने 26 मई 2014 को नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल में केंद्रीय मंत्री के रूप में शपथ ली।[8]

साहित्यिक जीवन[संपादित करें]

नजमा हेपतुल्ला के अपने 25 वर्षों के सार्वजनिक जीवन के दौरान लिखी कविताओं का संग्रह इम्प्रेशन्स 2011 में प्रकाशित हुआ।[9]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]