नैना लाल किदवई

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

नैनालाल किदवई पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं और एचएसबीसी बैंक की भारत में प्रमुख हैं। वे वर्तमान में फिक्की की अध्यक्ष भी हैं। वे कई बैंकों के अहम पदों पर रह चुकी हैं। वे पहली भारतीय महिला हैं जिन्होंने किसी विदेशी बैंक का भारत में संचालन किया।[1]

नैना ने शिमला, (हिमाचल प्रदेश) से स्कूली शिक्षा और दिल्ली विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में स्नातक करने के बाद हावर्ड बिजनेस स्कूल' से एमबीए किया। वर्ष 1982 में ‘स्टैंडर्ड चाटर्ड बैंक’ से करियर की शुरुआत करने के बाद उन्होंने कुछ दिन ‘मोर्गन स्टेनले बैंक’ में काम किया और फिर एचएसबीसी से जुड़ गईं। [2]

सम्मान[संपादित करें]

  • 2007 में इन्हें भारत सरकार द्वारा भारत के चौथे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्म श्री से सम्मानित किया गया।[3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. जागरण, इनसे मिलें, ये हैं देश के बड़े बैंकों की 'लेडी बॉस'
  2. "कामयाबी के शिखर पर भारतीय महिलाएं". बीबीसी हिन्दी. १७ जुलाई २०१२. अभिगमन तिथि ३० नवम्बर २०१३.
  3. "Padma Awards Directory (1954-2009)" (PDF). गृह मंत्रालय. अभिगमन तिथि 15 मार्च 2012.