अन्ना चांडी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अन्ना चांडी
Anna Chandy
Anna chandy judge.jpg
न्यायमूर्ति श्रीमती अन्ना चांडी
जन्म अन्ना
4 मई 1905
त्रावणकोर
मृत्यु जुलाई 20, 1996(1996-07-20) (उम्र 91)
केरल
राष्ट्रीयता भारतीय
व्यवसाय न्यायाधीश
नियोक्ता केरल उच्च न्यायालय
पदवी माननीय न्यायमूर्ति
प्रसिद्धि कारण भारत की पहली न्यायाधीश
अवधि 9 फ़रवरी 1959 से 5 अप्रैल 1967 तक
धार्मिक मान्यता ईसाई[1]

न्यायमूर्ति अन्ना चांडी (4 मई 1905 – 20 जुलाई 1966) भारत की पहली महिला न्यायाधीश थीं।[2][3][4] वे 1937 में एक जिला अदालत में भारत में पहली महिला न्यायाधीश बनीं। वे भारत में पहली महिला न्यायाधीश तो थी ही, शायद दुनिया में उच्च न्यायालय के न्यायधीश के पद (1959) तक पहुँचने वाली वे दूसरी महिला थीं।[3]

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

न्यायमूर्ति चांडी का जन्म 4 मई 1905 को भारत के तत्कालीन त्रावणकोर राज्य (अब केरल) में एक मलयाली सीरियाई ईसाई माता पिता के यहाँ हुआ था।[5]

करियर[संपादित करें]

वे 1928 में न्यायालयी सेवा में आयीं और उन्हें सर सी.पी.रामास्वामी द्वारा जो त्रावणकोर के तत्कालीन दीवान थे, जिला न्यायाधीश (मुंसिफ) के रूप में नियुक्त किया गया।[6] वे केरल उच्च न्यायालय में 9 फ़रवरी 1959 से 5 अप्रैल 1967 तक न्यायाधीश के पद पर कार्यरत रहीं। अपने कार्यकाल के दौरान उन्होने भारत के कानूनी क्षेत्र में महिलाओं के कैरियर रूपी आशाओं को जन्म दिया।

निधन[संपादित करें]

20 जुलाई 1996 को उनका निधन हो गया।[7]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Devika J. (2005). Herself. Popular Prakashan. पृ॰ XXIV.
  2. "Former Judges of High Court of Kerala". अभिगमन तिथि 2013-11-29.
  3. "Women of Achievement". मूल से 16 जून 2008 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2013-11-29.
  4. "supremecourtofindia.nic.in Page 3/5" (PDF). अभिगमन तिथि 2013-11-29.
  5. "First woman judicial officer: Anna Chandy, who was appointed munsif in the Travancore state in 1937". अभिगमन तिथि 2013-11-29.
  6. "First to appoint a lady advocate – Mrs. Anna Chandy — as District Judge". मूल से 5 जुलाई 2008 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2013-11-29.
  7. "Malayalam Sarva Vijnjana kOsham - Article on Anna Chandy". अभिगमन तिथि 2013-11-29.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]