कैलाश सत्यार्थी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
कैलाश सत्यार्थी
Kailash Satyarthi.jpg
कैलाश सत्यार्थी
जन्म 11 जनवरी 1954 (1954-01-11) (आयु 64)
विदिशा, मध्य प्रदेश, भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
शिक्षा सम्राट अशोक प्रौद्योगिकी संस्थान, विदिशा[1]
व्यवसाय बाल अधिकार कार्यकर्ता, प्रारंभिक बाल शिक्षा कार्यकर्ता[1]
धार्मिक मान्यता हिन्दू
पुरस्कार दी अचेनर अंतर्राष्ट्रीय शान्ति पुरस्कार, जर्मनी (१९९४)
रोबर्ट एफ॰ कैनेडी मानवाधिकार पुरस्कार (१९९५)
इतालवी सीनेट का पदक (२००७)
अल्फोंसो कोमिन अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार (२००८)
लोकतंत्र के रक्षक पुरस्कार (२००९)
नोबेल शान्ति पुरस्कार (२०१४)[2]
वेबसाइट
kailashsatyarthi.net

कैलाश सत्यार्थी (जन्म: 11 जनवरी 1954) एक भारतीय बाल अधिकार कार्यकर्ता और बाल-श्रम के विरुद्ध पक्षधर हैं। उन्होंने १९८० में बचपन बचाओ आन्दोलन की स्थापना की जिसके बाद से वे विश्व भर के १४४ देशों के ८३,००० से अधिक बच्चों के अधिकारों की रक्षा के लिए कार्य कर चुके हैं। सत्यार्थी के कार्यों के कारण ही वर्ष १९९९ में अंतरराष्ट्रीय श्रम संघ द्वारा बाल श्रम की निकृष्टतम श्रेणियों पर संधि सं॰ १८२ को अंगीकृत किया गया, जो अब दुनियाभर की सरकारों के लिए इस क्षेत्र में एक प्रमुख मार्गनिर्देशक है।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

उनके कार्यों को विभिन्न राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सम्मानों व पुरस्कारों द्वारा सम्मानित किया गया है। इन पुरस्कारों में वर्ष २०१४ का नोबेल शान्ति पुरस्कार भी शामिल है जो उन्हें पाकिस्तान की नारी शिक्षा कार्यकर्ता मलाला युसुफ़ज़ई के साथ सम्मिलित रूप से प्रदान किया गया है।[3]

परिचय[संपादित करें]

भारत के मध्य प्रदेश के विदिशा में जन्मे कैलाश सत्यार्थी 'बचपन बचाओ आंदोलन' चलाते हैं। वे पेशे से वैद्युत इंजीनियर हैं किन्तु उन्होने 26 वर्ष की उम्र में ही करियर छोड़कर बच्चों के लिए काम करना शुरू कर दिया था। इस समय वे 'ग्लोबल मार्च अगेंस्ट चाइल्ड लेबर' (बाल श्रम के ख़िलाफ़ वैश्विक अभियान) के अध्यक्ष भी हैं।[3]

वर्तमान समय (अक्टूबर २०१४) में सत्यार्थी नई दिल्ली में रहते हैं। उनके परिवार में उनकी पत्नी सुमेधा, पुत्र, पुत्रवधू तथा पुत्री हैं। सामाजिक कार्यों के अतिरिक्त वे एक अच्छे पाकशास्त्री (कुक) भी हैं।

पुरस्कार एवं सम्मान[संपादित करें]

  • 2015 :हार्वर्ड विश्वविद्यालय के प्रतिष्ठित पुरस्कार "ह्युमेनीटेरियन पुरस्कार " से सम्मानित। यह पुरस्कार सबसे पहले भारत में सत्यार्थी को प्राप्त हुआ है। [4]
  • 2014: नोबेल शांति पुरस्कार
  • 2009: डिफेण्डर्स ऑफ डेमोक्रैसी पुरस्कार (अमेरिका)
  • 2008: अल्फांसो कोमिन अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार (स्पेन)
  • 2007: इटली के सिनेट का स्वर्ण पदक
  • 2007: अमेरिका के स्टेट विभाग द्वारा 'आधुनिक दासता को समाप्त करने के लिये कार्यरत नायक' का सम्मान
  • 2006: फ्रीडम पुरस्कार (US)
  • 2002: वालेनबर्ग मेडल (मिशिगन विश्वविद्यालय द्वारा प्रदत्त)
  • 1998: गोल्डेन फ्लैग पुरस्कार (नीदरलैण्ड्स)
  • 1995: रॉबर्ट एफ केनेडी मानव अधिकार पुरस्कार (अमेरिका)
  • 1995: ट्रम्पेटर पुरस्कार (अमेरिका)
  • 1993: अशोक फेलो चुने गये। (अमेरिका)

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. TNN (2014-10-10). "'Who is Kailash Satyarthi?'". द टाइम्स ऑफ़ इण्डिया. अभिगमन तिथि 2014-10-10.
  2. kailashsatyarthi.net (2014-10-10). "'Brief Profile - Kailash Satyarthi'". अभिगमन तिथि 2014-10-10.
  3. जानिए शांति का नोबेल जीतने वाले कैलाश सत्यार्थी को
  4. http://www.jagran.com/news/world-nobel-laureate-kailash-satyarthi-gets-prestigious-harvard-prize-13043103.html

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]