ग्रामीण बैंक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
ग्रामीण बैंक
प्रकार कॉर्पोरेट बॉडी (बैंक कानून)[1]
उद्योग वित्तीय सेवाएँ
स्थापना अक्टूबर 1983 (1983-10)
संस्थापक मोहम्मद युनुस
मुख्यालय ढाका, बांग्लादेश
क्षेत्र बांग्लादेश
प्रमुख व्यक्ति अबुल खैर मो मोनिरुल हक (Acting managing director)[2]
उत्पाद माइक्रोफाइनेंस
राजस्व Green Arrow Up Darker.svg साँचा:BDTConvert(2010)[3]
प्रचालन आय Green Arrow Up Darker.svg साँचा:BDTConvert (2010)[3]
निवल आय Green Arrow Up Darker.svg साँचा:BDTConvert (2010)[3]
कुल संपत्ति साँचा:BDTConvert (2010)[4]
कर्मचारी 20,138 '(January 2018)[5]
वेबसाइट grameen.com


ग्रामीण बैंक मोहम्मद युनुस द्वारा स्थापित था। इन्हें २००० में भारत सरकार द्वारा गाँधी शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

ग्रामीण बैंक (बांग्ला: গ্রামীণ বাংক) बांग्लादेश में स्थापित एक माइक्रोफाइनेंस (छोटे ऋण) संगठन और सामुदायिक विकास बैंक है। यह गरीब लोगों को छोटे छोटे ऋण देता है बिना किसी समान के गिरवी रखे बिना। (जिसे माइक्रोक्रेडिट या "ग्रामीणक्रेडिट" के रूप में जाना जाता है) [6]

ग्रामीण बैंक की स्थापना 1976 में [[चटगाँव विश्वविद्यालय]] के प्रोफेसर मुहम्मद यूनुस के कार्यकाल में हुई, इन्होने ग्रामीण गरीबों को बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने के लिए "ऋण प्रदान प्रणाली" को कैसे डिजाइन किया जाए, इसका अध्ययन करने के लिए एक शोध परियोजना के अंतर्गत शुरू की। ग्रामीण बैंक को अक्टूबर 1983 में स्वतंत्र बैंक के रूप में संचालित करने के लिए एक राष्ट्रीय कानून द्वारा अधिकृत किया गया था।

2003 और 2007 के बीच इस बैंक ने काफी वृद्धि की। जनवरी 2011 तक, इस बैंक की उधर लेने वालों की कुल संख्या 84 लाख थी, और उनमें से 97% महिलाएं थी। [7] 1998 में बैंक के "लो-कॉस्ट हाउसिंग प्रोग्राम"(कम कीमतों पर घर का कार्यक्रम) ने वर्ल्ड हैबिटेट अवार्ड जीता। 2006 में, इस बैंक और इसके संस्थापक, मुहम्मद यूनुस को संयुक्त रूप से नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। [8]


इतिहास[संपादित करें]

1974 के बांग्लादेश अकाल के दौरान मुहम्मद यूनुस ने 42 परिवारों के एक समूह को 27 डॉलर का एक छोटा ऋण दिया जिससे वे अपना खुद का समान बनाकर बेच सके ताकि वे साहूकार के ऋण के तहत उच्च ब्याज के बोझ के बिना, अपना जीवन यापन कर सके। [9] यूनुस ऐसा समझते थे कि एक बड़ी आबादी को ऐसे ऋण उपलब्ध कराने से व्यवसायों को बढ़ावा मिलेगा और बांग्लादेश में व्यापक ग्रामीण गरीबी को रोजगार उपलब्ध होगा।

बैंक के संस्थापक नोबेल विजेता मोहम्मद युनुस

मुहम्मद यूनुस ने अपने शोध और अनुभवो से ग्रामीण बैंक के सिद्धांतों को विकसित किया। ग्रामीण बैंक का बंगाली में अर्थ है गांव का बैंक। [10] उन्होंने बांग्लादेश के चटगांव विश्वविद्यालय के रूरल इकोनॉमिक्स प्रोजेक्ट (ग्रामीण अर्थशास्त्र परियोजना) के साथ मिलकर एक रिसर्च प्रोजेक्ट के रूप में माइक्रोक्रिडिट (ऋण प्रदान प्रणाली) का विस्तार करना शुरू किया, ताकि ग्रामीण गरीबों को ऋण और बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने के लिए उनकी विधि का परीक्षण किया जा सके। 1976 में, चटगाँव विश्वविद्यालय के आस पास जोबरा गाँव और अन्य गाँव को ग्रामीण बैंक की सेवा पाने के योग्य पहले क्षेत्र बन गए। [11] इस बैंक परियोजना प्रयोग में सफल साबित होने के बाद, बांग्लादेश बैंक के समर्थन के साथ, 1979 में टंगैल जिले (राजधानी, ढाका के उत्तर में) तक बढ़ा दी गई थी। [11] इस तरह बैंक की सफलता जारी रही और इसकी सेवाओं को बांग्लादेश के अन्य जिलों तक पहुंचाया गया।

2 अक्टूबर 1983 को बांग्लादेश सरकार के अध्यादेश के द्वारा, इस परियोजना को अधिकृत किया गया था और एक स्वतंत्र बैंक के रूप में इसे स्थापित किया गया था। [11] शिकागो के एक सामुदायिक विकास बैंक शोरबैंक के बैंकर्स रॉन ग्रेज़ीविंस्की और मैरी हॉटन ने फोर्ड फाउंडेशन के अनुदान के तहत यूनुस को बैंक के आधिकारिक निगमन के साथ मदद की। [12] बांग्लादेश में आए 1998 की बाढ़ के बाद बैंक की पुनर्भुगतान दर आर्थिक व्यवधान से ग्रस्त थी, लेकिन बाद के वर्षों में यह फिर ठीक हो गई। 2005 की शुरुआत तक, बैंक ने 4.7 बिलियन अमेरिकी डॉलर [13] और 2008 के अंत तक, 7.6 बिलियन अमेरिकी डॉलर गरीबों को दिया था। [14]

2011 में, बांग्लादेश सरकार ने यूनुस को ग्रामीण बैंक से इस्तीफा देने के लिए मजबूर किया, यह कहते हुए कि 72 साल की उम्र में, वह इस पद के लिए कानूनी सीमा से परे था। [15]

2017 तक, बैंक की लगभग 2,600 शाखाएँ और 90 लाख उधारकर्ता थे, जिनकी पुनर्भुगतान दर 99.6% थी। कर्ज लेने वाली 97% महिलाएं थीं। बैंक बांग्लादेश के 97% गांवों में सक्रिय है। [16][17] इसकी सफलता ने दुनिया भर के 64 से अधिक देशों में इसी तरह की परियोजनाओं को प्रेरित किया है, जिसमें ग्रामीण प्रकार की योजनाओं को वित्त करने के लिए विश्व बैंक की पहल भी शामिल है। [18]

ग्रामीण बैंक अब अमीर देशों में भी विस्तार कर रहा है। 2017 के रूप में, ग्रामीण अमेरिका की ग्यारह अमेरिकी शहरों में इसकी 19 शाखाएँ थीं। इसके लगभग 100,000 उधारकर्ता जो की सभी महिलाएं थीं। [16]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Grameen Bank Act 2013". The Daily Star. Archived from the original on 30 दिसंबर 2013. Retrieved 30 December 2013. Check date values in: |archive-date= (help)
  2. "Short Biography of Mr. Abul Khair Md. Monirul Hoque (Acting Managing Director)". Archived from the original on 3 अक्तूबर 2019. Retrieved 29 दिसंबर 2019. Check date values in: |access-date=, |archive-date= (help)
  3. "Profit and Loss Account". Grameen Bank. Archived from the original on 31 मार्च 2012. Retrieved 10 September 2011. Check date values in: |archive-date= (help)
  4. "Balance Sheet (1983–2010) in BDT". Grameen Bank. Archived from the original on 27 सितंबर 2011. Retrieved 10 September 2011. Check date values in: |archive-date= (help)
  5. "Grameen Bank on Track to Log Its Highest Profit". Grameen Bank. Archived from the original on 15 अगस्त 2018. Retrieved 14 August 2018. Check date values in: |archive-date= (help)
  6. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; What is Microcredit नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  7. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; grag नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  8. "The Nobel Peace Prize for 2006". The Nobel Peace Prize for 2006. 13 October 2006. Archived from the original on 19 अक्तूबर 2006. Retrieved 13 October 2006. Check date values in: |archive-date= (help)
  9. Anand Giridharas; Keith Bradsher (13 October 2006). "Microloan Pioneer and His Bank Win Nobel Peace Prize". New York Times. Archived from the original on 24 अप्रैल 2009. Retrieved 13 October 2006. Check date values in: |archive-date= (help)
  10. "History". Grameen Bank. Archived from the original on 11 मार्च 2015. Retrieved 25 December 2011. Check date values in: |archive-date= (help)
  11. Rahman, Aminur (2001). Women and Microcredit in Rural Bangladesh: Anthropological Study of Grameen Bank Lending. Boulder, Colorado: Westview Press. p. 4. ISBN 978-0-8133-3930-6.
  12. Brandon Glenn (16 October 2006). "ShoreBank leaders had hand in Nobel prize". Chicago Business News. Retrieved 15 May 2007.
  13. Papa, Michael J.; Arvind Singhal; Wendy H. Papa (2006). Organizing for Social Change: A Dialectic Journey of Theory and Praxis. Sage Publications. p. 72. ISBN 978-0-7619-3435-6.
  14. Grameen Bank Historical Data Archived 23 अगस्त 2013 at the वेबैक मशीन.. Retrieved 22 June 2009.
  15. Polgreen, Lydia; Bajaj (2 March 2011). "Microcredit Pioneer Ousted, Head of Bangladeshi Bank Says". The New York Times. Archived from the original on 19 अक्तूबर 2012. Retrieved 9 October 2012. Check date values in: |archive-date= (help)
  16. Cosic, Miriam (2017-03-29). "'We are all entrepreneurs': Muhammad Yunus on changing the world, one microloan at a time". Guardian. Archived from the original on 9 अगस्त 2017. Retrieved 9 August 2017. Check date values in: |archive-date= (help)
  17. "About us". Grameem Bank. Archived from the original on 2 अगस्त 2017. Retrieved 9 August 2017. Check date values in: |archive-date= (help)
  18. Khandker, Shahidur R.; Baqui, M. A.; Khan Z. H. (1995). Grameen Bank: Performance and Sustainability. World Bank Publications. p. vi. ISBN 978-0-8213-3463-8.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]