आलू के चिप्स

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

आलू के चिप्स यहां पुनर्निर्देशित है. एकवचन उपयोग के लिए, आलू के चिप देखें

Potato chips
Potato-Chips.jpg
Potato chips
उद्भव
संबंधित देश Saratoga Springs, New York, United States
व्यंजन का ब्यौरा
भोजन Snack, side dish
परोसने का तापमान Room temperature

आलू के चिप्स (जिन्हें अमेरिकन, ऑस्ट्रेलियन, कनाडियन, सिंगापुर, दक्षिणी अफ्रीका, हवाई इंग्लिश, भारतीय इंग्लिश तथा जमैका की इंग्लिश के साथ साथ अधिकांश यूरोपीय भाषाओं में चिप्स के नाम से; ब्रिटिश तथा आयरिश इंग्लिश में क्रिस्प्स , तथा न्यू ज़ीलैंड में चिपीस के नाम से जाना जाता है) दरसल आलू की पतली फांक हैं जिन्हें तला जाता है. आलू के चिप्स को सामान्यरूप से एक क्षुधावर्धक, अतिरिक्त व्यंजन, या नाश्ते के रूप में परोसा जाता है. बुनियादी चिप्स पके हुए तथा नमक मिलाये गए होते हैं; अतिरिक्त विविधताओं को बनाने के लिए अनेक स्वादों तथा सामग्रियों का प्रयोग किया जाता है जिनमें सीजनिंग, जड़ी-बूटियां, मसाले, चीज़ तथा कृत्रिम योज्य शामिल होते हैं. क्रिस्प्स, तथापि, ब्रिटेन तथा आयरलैंड में नाश्ते के लिए बनाये गए अनेक उत्पादों को कहा जाता है, इनमें से कुछ आलू से बनते हैं, परन्तु ये मक्का, मैदा तथा कसावा से भी बनाये जाते हैं. इस प्रकार के क्रिस्प्स का एक उदाहरण मॉन्स्टर मंच है.[1] क्रिस्प्स का प्रयोग उत्तरी अमेरिका में भी होता है जहां इन्हें आलू से बने नाश्ते के रूप में जाना जाता है जिनका सुखाये हुए आलू के फ्लेक व अन्य पूरक वस्तुओं से पुनर्निर्माण किया जाता है, उदाहरण के लिए "बेकद ले'स" व प्रिंगल्स, हालांकि तकनीकी रूप से प्रिंगल तेल में "क्विक फ्राई" किये जाते हैं.

आलू के चिप्स अंग्रेजी भाषी देशों में तथा कई अन्य पश्चिमी देशों के स्नैक खाद्य बाजार का एक प्रमुख भाग हैं. 2005 में वैश्विक आलू चिप बाजार का कुल राजस्व 16.4 बिलियन डॉलर था. यह उस वर्ष के नमकीन नाश्तों के कुल बाज़ार का 35.5% था (46.1 बिलियन डॉलर).[2]

इतिहास[संपादित करें]

एक पारंपरिक कहानी के अनुसार मूल आलू के चिप की उत्पत्ति सैरेटोगा स्प्रिंग्स, न्यू यॉर्क में अगस्त 24, 1853 को हुई थी. एक ग्राहक द्वारा तले हुए आलुओं को इस शिकायत के साथ वापस भेजे जाने पर, कि वे बहुत मोटे तथा लिजलिजे हैं, उस रिसौर्ट होटल के शेफ जॉर्ज क्रम उत्तेजित हो गए तथा उन्होंने आलुओं की बहुत पतली फांकें काटने का निर्णय लिया. क्रम की उम्मीद के विपरीत उस ग्राहक (जिन्हें कभी कभी कॉर्नेलियस वांडरबिल्ट के नाम से भी पहचाना जाता है) को ये नए चिप्स बहुत पसंद आये[3] तथा जल्दी ही उस होटल के मेनू में यह एक नियमित प्रविष्टि बन गयी जिसका नाम "सैरेटोगा चिप्स" था.[4]

हालांकि, आलू चिप की उत्पत्ति इतनी स्पष्ट नहीं है. 1893 व 1885 में, न्यू यॉर्क टाइम्स के भिन्न लेखों के अनुसार आलू के चिप का श्रेय श्रीमती मून को जाता है, जो कि सैरेटोगा स्प्रिंग्स स्थित मून्स लेक हाउस के मालिक की पत्नी थीं.[5][6] इसके अतिरिक्त, 1824 की एक रसोई की किताब "फांकों अथवा छीलन में तले गए आलू" की व्यंजन विधि देती है. इस व्यंजन विधि में उन्हें तब तक तलने को कहा गया है जब तक कि वे कुरकुरे न हो जायें तथा फिर नमक डाला जाये.[7]

20 वीं सदी में, आलू के चिप्स का दायरा सिर्फ शेफ द्वारा पकाए जाने व रेस्तरां में उपलभ होने से बढ़ गया तथा इन्हें घरेलू उपयोग के लिए बड़ी मात्रा में बनाया जाने लगा. डेटन, ओहियो स्थित माइक-सेल की आलू चिप कंपनी की स्थापना 1910 में हुई थी, तथा वे स्वयं को "संयुक्त राज्य अमेरिका की सबसे पुरानी आलू चिप कंपनी" कहते हैं.[8] न्यू इंग्लैंड स्थित ट्राई-सम आलू के चिप्स, मूलरूप से 1908 में लियोमिन्स्टर, मैसाचुसेट्स में स्थापित लियोमिन्स्टर पोटेटो चिप कंपनी, का दावा है कि वे अमेरिका की पहली आलू के चिप बनाने वाली कंपनी हैं.[9] बाज़ारों में बिकने वाले चिप्स आमतौर पर टिनों में अथवा स्टोर में रखे जाने वाली कांच के मर्तबानों में रख कर घोडा-गाड़ी से पहुंचाए जाते थे. शुरूआती आलू चिप के बैग मोमिया कागज (वैक्स पेपर) के दोनों सिरों को आयरन से प्रेस करके या स्टेपल करके बनाये जाते थे. प्रारंभ में आलू के चिप्स पीपों अथवा टिनों में भर कर रखे जाते थे जिसके कारण नीचे के चिप्स बासी एवं टूट जाते थे. लौरा स्कड्डर,[10] जो कि मौन्टेरे पार्क, कैलिफोर्निया की एक उद्यमी थीं, ने अपने कर्मचारियों को मोमिया कागज़ की शीटें घर ले जाकर उन्हें लिफाफों के रूप में अगले दिन लेकर आने को कहना प्रारंभ किया जिसे उनकी फैक्ट्री में चिप्स से भर दिया जाता था. इस अग्रणी विधि से चिप्स का चूर हो जाना कम हो गया तथा वे अधिक समय तक ताज़े व कुरकुरे रहने लगे. इस नवीन प्रणाली तथा सेलफोन के अविष्कार ने आलू के चिप्स को बड़े पैमाने पर बिक्री की सामग्री तथा लौरा स्कड्डर को घर-घर में जाना पहचाना नाम बना दिया. आजकल चिप्स प्लास्टिक के थैलों में पेक किये जाते हैं जिनमें पेकिंग के समय नाइट्रोजन गैस भरी जाती है जिससे कि वे अधिक समय तक चल सकें तथा चूर होने से उनका बचाव किया जा सके.[11]

मसालेदार चिप्स[संपादित करें]

1920 में स्थापित स्मिथस पोटैटो क्रिस्प्स कंपनी लिमिटेड[12] द्वारा जनित एक विचार के अनुसार फ्रैंक स्मिथ ने सर्वप्रथम अपने क्रिस्प्स के साथ एक तेल के लिए अप्रवेश्य कागज में चटपटे स्वाद वाला नमक भी रख दिया जिसे लन्दन के आस-पास के इलाकों में बेचा गया.

जो "स्पड " मर्फी (1923–2001),[13] जो टायटो नामक एक आयरिश क्रिस्प कम्पनी के स्वामी थे, द्वारा की गयी एक नवीनता के आने तक आलू के चिप बिना मसाले के ही रहे, इन्होंने 1950 के दशक में एक प्रौद्योगिकी विकसित की जिसके द्वारा निर्माण के समय ही मसलों को मिलाया जा सकता था. हालांकि कंपनी छोटी सी थी, जिसमें उनका सम्पूर्ण परिवार शामिल था जो मिल कर चिप्स बनाते थे, फिर भी इसके मालिक ने स्वयं को एक प्रवर्तक सिद्ध कर दिया. कुछ परीक्षणों और त्रुटियों के पश्चात मर्फी तथा उनके कर्मचारी सीमस बर्क,[14] ने विश्व के सर्वप्रथम मसालेदार क्रिस्प्स बनाये, चीज़ एवं ओनियन तथा साल्ट एवं वैनेगर.

यह नवीनता खाद्य उद्योग में हलचल ले आई, संयुक्त राज्य अमेरिका की कुछ बड़ी आलू चिप कम्पनियों के प्रमुखों ने छोटी टायटो कंपनी का मुआयना करके उत्पाद तथा नई तकनीक का प्रयोग करने के अधिकार के विषय में पता लगाना प्रारंभ कर दिया. दुनिया भर की कंपनियों ने टायटो की प्रौद्योगिकी के अधिकार खरीदने के लिए कोशिशें प्रारंभ कर दीं. टायटो कंपनी की बिक्री ने इसके मालिक तथा छोटे पारिवारिक समूह को, जिन्होंने आलू के चिप के उत्पादन को नयी दिशा दी थी, बहुत धनवान बना दिया.

स्मिथ के आलू क्रिस्प्स के लिए एक विज्ञापन

टायटो की नवीनता ने आलू के चिप्स को पूरी तरह बदल कर रख दिया, साथ ही स्मिथ के चटपटे नमक का भी अंत हो गया. (वाकर्स ने स्मिथ'स (ब्रिटेन) के 1979 में अधिग्रहण के पश्चात "थैली में नमक" के विचार को पुनर्जीवित किया, उन्होंने साल्ट 'एन' शेक आलू के चिप्स निकाले.[15]) बाद में चिप निर्माताओं ने आलू चिप में प्राकृतिक और कृत्रिम मसालों का प्रयोग किया जिनकी सफलता की दर अलग-अलग थी. कोई उत्पाद जिसका आकर्षण एक मसाले के आधार पर एक सीमित बाज़ार में काफी अधिक था, अब बहुत से स्वाद वाले मसालों के कारण उसकी बाज़ार में उसकी पैठ (मार्केट पेनिट्रेशन) की कई श्रेणियां थीं. बहुत से अन्य मसाले कई क्षेत्रों में बेचे जाते हैं, जिसमें शामिल है टेयटो द्वारा निर्मित "चीज़ एंड ओनियन", जो अब तक आयरलैंड में उत्पादित क्रिस्प्स का सबसे बड़ा प्रकार है.

नामावली[संपादित करें]

बांग्लादेशी आलू के चिप्स

आलू की तली हुई फांकों के लिए प्रयुक्त नामों के विषय में इंग्लिश भाषी विश्व में बहुत कम एकरूपता है. अमेरिका और कनाडा के लोग ऊपर वर्णित व्यंजन के लिए "चिप्स" शब्द का प्रयोग करते हैं - अमेरिकी संकृति के प्रभाव के कारण इस शब्द का प्रयोग विश्व के अन्य भागों में (परन्तु हर जगह नहीं) भी होता है - और कई बार सामान प्रयोग में लिया जाने वाले "क्रिस्प्स" लपसी (बैटर) से भी बनते हैं.

ब्रिटेन, न्यू जीलैंड, तथा आयरलैंड में क्रिस्प्स आलू के चिप्स होते हैं जबकि चिप्स का प्रयोग मोटी पट्टियों के लिए किया जाता है जो फ्रेंच फ्राइज़ जैसी होती हैं (जैसे "मछली एवं चिप्स" में) तथा गरम परोसी जाती हैं. ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका के कुछ भागों में, भारत, सामन्य वेस्ट इंडीज़ - विशेष रूप से बारबाडोस-में आलू से बने उत्पादों के दोनों रूपों को "चिप्स" कहा जाता है, जैसे कि बड़े "घरेलु शैली" के आलू के क्रिस्प्स होते हैं. ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में कभी कभी "गर्म चिप्स" (तले हुए आलू) और आलू के चिप्स के बीच अंतर किया जाता है. बांग्लादेश में, इन्हें आमतौर पर चिप, चिप्स, क्रिस्प्स ("किरिस" के रूप में उच्चारित) तथा स्थानीय रूप से आलुर पापॉर कहा जाता है.

स्वास्थ्य समस्याएं[संपादित करें]

आलू के चिप्स मूलरूप से टेल तथा इनमें मसाले मिलाये जाते थे तथा इनसे सम्बंधित ट्रांस फैट, सोडियम, शक्कर तथा अन्य पोषक तत्वों के स्तर सम्बन्धी चिंताओं की उपेक्षा कर दी जाती थी. जैसे-जैसे कई देशों में पोषक तत्वों के उपभोग सम्बन्धी दिशानिर्देश बनाये जाने लगे तथा पोषण सम्बन्धी तथ्यों के लेबल आमतौर से लगाये जाने लगे, उपभोक्ता, समर्थन समूह तथा स्वास्थ्य संगठन तथाकथित जंक भोजन, जिसमें आलू के चिप्स शामिल थे, में पोषण मात्रा की ओर ध्यान देने लगे.[16]

कुछ आलू चिप कंपनियों ने आलोचना को लेकर प्रतिक्रिया व्यक्त की, अनौपचारिक और कानूनी, दोनों रूपों से, अनुसंधान और विकास में निवेश करके मौजूदा व्यंजनों को संशोधित करने और स्वास्थ्य के प्रति सजग उत्पाद बनाने में अपनी रूचि दिखाई. केटल फूड्स की स्थापना 1978 में हुई थी और अब वे सिर्फ ट्रांस-फैट मुक्त उत्पाद ही बनाते हैं, जिनमें आलू के चिप्स शामिल हैं. पेप्सीको शोध से पता चलता है कि चिप्स पर मौजूद नमक का लगभग 80% भाग निगले जाने से पूर्व जीभ द्वारा महसूस नहीं किया जा पाता है. फ्रिटो-ले ने 2009 में उत्पाद विकास, जिसमें ऐसे नमक के कणों का विकास शामिल था जो ले'ज़ के आलू के चिप्स में से नमक को स्वाद पर प्रभाव डाले बिना कम कर सके, पर 414 मिलियन डॉलर खर्च किये.[16]

चिप्स की क्षेत्रीय किस्मों के उदाहरण[संपादित करें]

चित्र:HEDGEHOG CRISPS.jpg
हेजहॉग ब्रांड के स्वादिष्ट क्रिस्प्स
  • ऑस्ट्रेलिया में लोकप्रिय स्वादों में सादे (नमकीन), रोस्ट चिकेन, बारबेक्यू और साल्ट एंड विनेगर शामिल हैं. हाल के वर्षों में, अन्य स्वाद भी प्रचलित हुए हैं, जिनमें लाइम एंड पेपर, चिली, सॉर क्रीम एंड चाइव्स, स्वीट चिली सॉस एंड सॉर क्रीम, हनी सॉय चिकेन एंड सीज़र सैलेड शामिल हैं. पर यह सब तब तक ही प्रचलित रहे जब तक कि हाल ही में एर नोट्स ने एक डोनर कबाब स्वाद का उत्पादन नहीं शुरू किया.
  • ऑस्ट्रिया में, लहसुन के स्वाद वाले आलू चिप्स उपलब्ध हैं.
  • बुल्गारिया में, सादे नमकीन, पैपरिका, सॉर क्रीम एंड अनियन और चीज़ एंड हॉट चिली स्वाद वाले चिप्स प्रसिद्ध हैं. बारबेक्यू और केचप स्वाद वाले चिप्स भी यहां उपलब्ध हैं.
  • कनाडा में, मसलों में सौंफ, केचप, बारबेक्यू, ऑल ड्रेस्ड, सॉल्ट एंड विनेगर, सॉल्ट एंड पेपर, सॉर क्रीम एंड बेकन रोस्ट चिकेन, फ्राईस एंड ग्रेवी और करी आदि होते हैं. टोरंटो और वैनकुअर में लेज़ वसाबी चिप्स भी उपलब्ध करता है.[17]
  • मेनलैंड चाइना में लेज़ ने चाइनीज़ व्यंजन के स्वाद युक्त, वैश्विक व्यंजनों के स्वाद वाले और खीरे के स्वाद वाले चिप्स बाज़ार में उतारे हैं.
  • कोलम्बिया में, चिप्स के पांच प्रमुख स्वाद सामान्य (रेडी सॉल्टेड), बारबेक्यू, चिकेन, मेयोनीज़ और लाइमन हैं.
  • मिस्र में, चिप्सी आलू चिप्स का सर्वाधिक प्रचलित ब्रांड है. इसके कुछ स्वाद स्थानीय व्यंजनों से प्रेरणा लेकर बनाये गए हैं, जैसे कबाब, स्टफ्ड वाइन लीफ्स आदि.
  • कई महाद्वीपीय ईयू (EU) देशों में पैपरिका स्वाद वाली चिप्स सर्वाधिक बिकने वाली चिप्स होती है.
  • फिनलैंड में, चिप्स के व्यपार में सर्वाधिक बिकने वाला चिप्स का ब्रांड आलैंड से उत्पादित टैफेल है (डेनमार्क और नॉर्वे में किम्स (KiMs) के नाम से जाना जाता है और स्वीडेन में इसका विपणन ओएलडब्ल्यू (OLW) के नाम से होता है) इसके चीज़ स्वाद वाले "जूस्टो स्नैक्स", नमकीन स्वाद वाले "चिप्स", सॉर क्रीम एंड अनियन स्वाद वाले "ब्रॉडवे" और बारबेक्यू स्वाद वाले "ग्रिल चिप्स" प्रचलित हैं, आमतौर पर सॉर क्रीम एंड अनियन-और बारबेक्यू स्वाद वाले-आलू चिप्स अपने उत्पादनकर्ताओं के नाम के बिना भी सर्वाधिक प्रचलित चिप्स के अंतर्गत आते हैं, स्थानीय टैफेल के अतिरिक्त अन्य प्रचलित ब्रांड में कुछ विदेशी ब्रांड भी हैं जैसे इस्ट्रेला और प्रिन्गल्स.
  • जर्मनी में, पापरिका सबसे आम स्वाद है. ( जर्मन भाषा में, 'पापरिका' शब्द अमेरिका में "पेपर्स" के नाम से जानी जाने वाली वस्तु की ओर संकेत करता है - आमतौर पर बेल पेपर्स जब तक कि वह शार्फ़ (किसी पदार्थ कि एक अवस्था) न हो या गर्म ना हो.) अब और भी अधिक आकर्षक किस्म के चिप्स आने लगे हैं, जिसमें सॉल्ट एंड विनेगर और एशियाई स्वाद वाले चिप्स सम्मिलित हैं. सॉल्ट एंड पेपर और जैव कृषि की उत्पाद पंक्ति के स्वाद सर्वाधिक नए हैं. प्रसिद्ध बीयर स्वाद वाले चिप्स तो वास्तविकता से अधिक एक मिथक जान पड़ते हैं, हाल में यह चिप्स लौरेंज़ स्नैक-वर्ल्ड के 2006 के विशिष्ट फुटबॉल विश्व कप संस्करण में उपलब्ध थे. सबसे अधिक बिकने वाले ब्रांड चियो चिप्स और फनी फ्रिस्क हैं, दोनों का ही उत्पादन इंटर स्नैक द्वारा किया जाता है, लौरेंज़ स्नैक-वर्ल्ड द्वारा उत्पादित क्रंच चिप्स और प्रिन्गल्स भी सर्वाधिक बिकने वाले ब्रांड हैं. अन्य विदेशी ब्रांड जैसे लेज़ या कैटल भी छिटपुट रूप से उपलब्ध हैं, लेकिन इनकी भूमिका आमतौर पर अधिक महत्त्वपूर्ण नहीं है.
  • ग्रीस में औरिगैनो स्वाद वाले चिप्स बहुत प्रचलित हैं.
  • हांगकांग में, बिकने वाले दो प्रमुख आलू चिप्स कैब्ली के मसालेदार "एथनिकन" किस्म के चिप्स,[18] और जैक'ऍन जिल के बारबेक्यू चिप्स हैं. लेज़ भी हांगकांग में लोकप्रिय हैं. (इसके साथ ही सर्वाधिक लोकप्रिय बीबीक्यू (BBQ) और सॉर क्रीम एंड अनियन हैं.)
  • भारत और पकिस्तान में, स्थानीय स्तर पर निर्मित विभिन्न स्वाद वाली कई किस्में और बहुराष्ट्रीय ब्रांड के चिप्स उपलब्ध हैं, जैसे लेज़. इनमें से कुछ स्वाद टोमैटो, पुदीना (मिंट), मसाला, कोरियेन्दर, सोल्ट एंड पेपर और रेड चिली पाउडर हैं. चिप की सबसे लोकप्रिय किस्में पोटैटो, टैपिओका और प्लांटेन (पीले या हरे, दोनों का ही अपना विशिष्ट स्वाद होता है) हैं.
  • इंडोनेशिया में चिप्स की पसंदीदा किस्में बारबेक्यू, कॉर्न और रोस्ट चिकेन हैं. चिप्स का एक अन्य प्रकार कसावा चिप्स है.
  • आयरलैंड में, क्रिस्प की साधारण किस्में वैसी ही होती हैं जैसी यूके में बेची जाती हैं. हालांकि आयरलैंड में, टायटो ब्रांड आने के बाद से टायटो शब्द क्रिस्प्स का एक पर्यायवाची हो गया है और इसका प्रयोग सभी प्रकार के क्रिस्प के विषय में बताने के लिए किया जाता है, जिसमें टायटो द्वारा उत्पादित नहीं किये जाने वाले क्रिस्प्स भी आते हैं. आयरिश बाज़ार में टायटो की मांग की अधिकता के फलस्वरूप यह शब्द अब एक सामान्य ट्रेडमार्क बन गया है. यहां पर वॉकर्स चिप्स कई सालों पूर्व बाज़ार में उतारे गए थे, लेकिन वे बाज़ार पर प्रभुत्व स्थापित कर पाने में असफल रहे. हंकी डॉरी और किंग क्रिस्प्स अन्य लोकप्रिय आयरिश ब्रांड हैं. आयरिश भाषा में क्रिस्प को क्रिऔस्पल कहते हैं. वर्तमान में वॉकर्स नए स्वादों, जैसे फिश और चिप्स, का परीक्षण कर रहे हैं और इनकी लोकप्रियता के आधार पर वे अधिक स्तर पर इनका उत्पादन शुरू कर सकते हैं.
  • जापान में नोरी एंड सोल्ट, कोंसोम्मे, वसाबी, सॉय सॉस एंड बटर, टाकायोकी, किम्ची, गार्लिक, चिली, स्कैलोप विथ बटर, उमी, मेयोनीज़, याकिटोरी एंड रैमन, स्वाद आते हैं. प्रमुख उत्पादक कैब्ली,[19] कोइकेया[20] और यामायोशी हैं.
  • मैक्सिको में, अनेक मसालेदार स्वाद के चिप्स होते हैं. लोकप्रिय स्वादों में सॉल्ट, लाइम, हबानेरो, 'चिले वाई लैमन' एंड चीज़ हैं.
  • कुछ मध्य पूर्वी देशों में,[तथ्य वांछित] अनेक लोकप्रिय अमेरिकी स्वाद और चिकेन स्वाद वाले चिप्स उपलब्ध हैं. अन्य स्वादों में, सॉल्ट और सॉल्ट एंड पेपर किस्में सर्वाधिक लोकप्रिय हैं.
  • नीदरलैंड्स में, लेज़ ने बाज़ार पर प्रभुत्व कर रखा है; वे कई किस्म के स्वाद उपलब्ध करते हैं, जैसे: नैचुरल (सॉल्टेड), पैपरिका, बोलोग्नीज़ (इटैलियन हर्ब्स एंड टोमैटो), बार्बेक्युद हैं, चीज़ एंड अनियन, मैक्सिकन हर्ब्स, हैंज टोमैटो कैचप, चिली, स्पेयरिब्स, मेडीटरेनियन हर्ब्स, थाई स्वीट चिली, ओरिएंटल स्पाइसेज़, पेपर एंड क्रीम, चिकेन एंड थाइम और स्पाइसेज़ एंड लाइम हैं. नैचुरल (सॉल्टेड) और पैपरिका क्रिस्प्स सर्वाधिक लोकोप्रिय हैं.
  • न्यू जीलैंड में, आलू चिप्स की सबसे लोकप्रिय किस्में रेडी सॉल्टेड, सॉल्ट ऍन' विनेगर और चिकेन हैं. 2009 में, ब्लूबर्ड फूड्स लिमिटेड ने क्लासिक न्यू जीलैंड के स्वादों, से बनी चिप्स की विशिष्ट श्रृंखला को बाज़ार में उतारा, उदहारण के लिए 'मीट पाई एंड केचप' और 'रिड्यूस्ड क्रीम एंड अनियन सूप डिप.' इस श्रृंखला को 'किवी एस' नाम दिया गया है.
  • नॉर्वे में, अधिकांश चिप्स सॉल्ट, सॉल्ट एंड पेपर या पैपरिका स्वाद के होते हैं. और भी अधिक आकर्षक स्वाद जैसे मशरूम और हॉर्सरैडिश भी उपलब्ध हैं. प्रमुख ब्रांड के अंतर्गत किम्स (KiMs), मारुड (Maarud) और हॉफ (HOFF) आते हैं.
  • फिलिपीन्स में, चीज़, बारबेक्यू और सॉर क्रीम एंड अनियन सबसे पसंदीदा हैं.
  • रूस में, लोकप्रिय स्वादों में प्लेन (सॉल्ट टेड), अनियन, पैपरिका, ब्लैक पेपर और सॉर क्रीम आते हैं, अन्य असाधारण किस्में बिकन, शाश्लिक, क्रैब और केवियर हैं. लेज़ और प्रिन्गल्स दोनों ही ब्रांड व्यापक स्तर पर प्रचलित हैं. रूसी कम्पनी जैसे पेरेक्रेस्टॉक भी अपने स्वयं के चिप्स बनाती हैं.
  • सिंगापुर में, लोकप्रिय ब्रांड के अंतर्गत बारबेक्यू स्वाद वाले जैक एंड जिल पोटैटो चिप्स, सॉर क्रीम एंड अनियन लेज़, चिप्स्तर एंड लेज़ कैटल कुक्ड चिप्स आते हैं.
  • सर्बिया में, प्लेन (सॉल्ट टेड), पिज्ज़ा, ग्रिल और केचप स्वाद वाले आलू चिप्स लोकप्रिय हैं. सर्बिया में अधिकांश पोटैटो चिप्स बाज़ार पर चिप्सी कम्पनी का अधिकार है.
  • दक्षिण अफ्रीका में कई स्वाद के चिप प्रचलित हैं, जिसमें अनेकों अन्य स्वादों के साथ-साथ "फ्रूटी चटनी", "बिलटॉन्ग" (बीफ जर्की), "सॉसेज", " वौर्सेस्टरशायर सॉस", "पेरी पेरी" (मोजाम्बी/पुर्तगाल की हॉट सॉस के स्वाद युक्त) और टोमैटो सॉस (केचप स्वाद) शामिल हैं.
  • स्पेन में सर्वाधिक लोकप्रिय स्वादों में प्लेन (ऑलिव ऑयल में तले हुए और नमकीन) और हैम हैं.
  • स्वीडेन में, दो प्रधान कम्पनियां एस्ट्रेला (क्राफ्ट फूड्स द्वारा अधिकृत) और ओएलडब्लू (OLW) हैं. अन्य आकर्षक स्वादों में सॉर क्रीम एंड बियर्नेज़ और हॉट स्वीट चिली हैं. बिना छिले हुए आलू से बने चिप्स, जिन्हें लैंटचिप्स कहते हैं, भी प्रचलित हैं.
  • युनाइटेड किंगडम के बाज़ार पर वॉकर्स (लेज़ का एक स्थानीय ब्रांड) का प्रभुत्व है जो अपनी क्रिस्प्स की विस्तृत श्रृंखला के लिए प्रसिद्ध है. तीन प्रमुख स्वाद रेडी सॉल्ट टेड, चीज़ एंड अनियन और सॉल्ट एंड विनेगर हैं; हालांकि, अन्य उदाहरणों में प्रौन कॉकटेल, वौर्सेस्टरशायर सॉस (वॉकर्स के द्वारा इसे वौर्सेस्टर सॉस कहते हैं), रोस्ट चिकेन, स्टीक एंड अनियन, स्मोकी बेकन, लैम्ब एंड मिंट, हैम एंड मस्टर्ड, बारबेक्यू, बीबीक्यू (BBQ) रिब, टोमैटो केचप, सॉसेज एंड केचप, पिकल्ड अनियन, ब्रैंस्टन पिकल और मर्माइट हैं. अधिक आकर्षक स्वादों में थाई स्वीट चिली, रोस्ट पोर्क एंड क्रीमी मस्टर्ड सॉस, लाइम एंड थाई स्पाइसेज़, चिकेन विथ इटैलियन हर्ब्स, सी सॉल्ट एंड क्रैक्ड ब्लैक पेपर, टर्की एंड बेकन, कैरेमलाइज्ड अनियन एंड स्वीट बाल्सेमिक विनेगर, स्टिलटन एंड कार्नबेरी, मैंगो चिली आदि हैं और अन्य ख़ास स्वाद भी हैं जैसे कि, अमेरिकन चीज़ बर्गर और इंग्लिश रोस्ट बीफ एंड यॉर्कशायर पुड.[21] कैटल फूड्स लिमिटेड की थिक-कट क्रंची क्रिस्प्स की श्रृंखला में कई रुचिकर स्वाद हैं: मैक्सिकम लाइम विद ए हिंट ऑफ चिली, साल्सा विथ मेस्क्वाइट, बफैलो मोज़्रैला टोमैटो एंड बासिल, मैच्योर चेडर विद एड्नम्स बरौद साइड बियर, सोलमेट चीज़ एंड अनियन और अन्य पूर्वांकित स्वाद. अधिकांश मसाले सिर्फ सामग्री से बने होते हैं, हालांकि हाल में प्रचलित कुछ मसालों में, जैसे, लैम्ब एंड मिनट सौस में मीट का सत्त भी मिला होता है. 1980 के दशक की शुरुआत में, हेजहॉग ब्रांड के स्वादयुक्त चिप्स की बिक्री व्यापक स्तर पर हो रही थी और वे काफी लोकप्रिय थे. मैककॉयज़ क्रिस्प्स यूके में भी लोकप्रिय हैं. उत्तरी आयरलैंड में टायटो (NI) लिमिटेड ने बाज़ार पर प्रभुत्व कर रखा है.[कृपया उद्धरण जोड़ें] यह कम्पनी रिपब्लिक ऑफ आयरलैंड में स्थित टयाटो कम्पनी से किसी भी प्रकार से सम्बद्ध नही है. इंग्लैण्ड के उत्तर में, सीब्रूक पोटैटो क्रिस्प्स लोकप्रिय हैं, लेकिन दक्षिण में उनकी लोकप्रियता काफी कम है.
  • संयुक्त राज्य अमेरिका में आलू चिप्स के लोकप्रिय स्वाद, सॉर क्रीम एंड अनियन, बारबेक्यू, रैंच ड्रेसिंग और सॉल्ट एंड विनेगर हैं. ज़ैप'स, कैजुन क्रौटेटर चिप्स (क्रौफ़िश बौयलिंग मसाले के स्वादयुक्त) और क्रियोल टोमैटो चिप्स (तबास्को पेपर सॉस के स्वादयुक्त) का उत्पादन करते हैं. वे राज्य जहां स्पेनी लोगों की अधिकता है और उनके स्टोर हैं वे नीम्बू के स्वादयुक्त चिप्स को मैक्सिकन भाषा के, लाइमन, नाम से बेचते हैं.[22]

समान खाद्य पदार्थ[संपादित करें]

आलू चिप का एक अन्य प्रकार, विशेष रूप से प्रिन्गल्स और ले'ज़ स्टैक्स का निर्माण जमीन से निकले गए आलुओं के गुंथे हुए मिश्रण को सांचे से मनचाहे आकार में बना कर उसे तल कर किया जाता है. इस प्रकार निर्मित चिप्स आकार एवं आकृति में एक-समान होते हैं, जिसकी वजह से उन्हें क्रमबद्ध ढेर बना कर कड़ी ट्यूब्स में पैक किया जा सकता है. अमेरिका में, प्रिन्गल्स के लिए आधिकारिक शब्द "आलू क्रिस्प्स" है, लेकिन उन्हें शायद ही कभी इस नाम से इंगित किया जाता हो. इसके विपरीत प्रिन्गल्स को ब्रिटेन में "आलू के चिप्स" कहा जाता है, जिससे कि उन्हें पारंपरिक "क्रिस्प्स" से अलग समझा जा सके.

आलू के चिप्स का एक अन्य अतिरिक्त प्रकार "आलू की स्टिक" भी है, जिसे "शूस्ट्रिंग पोटैटोज़" भी कहा जाता है. इन्हें लोकप्रिय फ्रेंच फ्राइज़ के बहुत पतले संस्करण के रूप में बनाया जाता है (2-3 मिमी), परन्तु इन्हें आम साल्टेड आलू के चिप्स की तरह ही तला जाता है. कनाडा में एक हिकॉरी स्मोक स्वाद संस्करण लोकप्रिय है, जिसे "हिकॉरी स्टिक्स" के नाम से जाना जाता है. आलू की स्टिक्स को आमतौर पर कठोर कनस्तरों में पैक किया जाता है, हालांकि कुछ निर्माता लचीले पाउचों का प्रयोग भी करते हैं जो आलू के चिप्स के बैगों की तरह ही होते हैं. आलू की स्टिक्स मूलरूप से स्टील के वायुरुद्ध कनस्तरों में पैक की जाती थीं. 1960 के दशक में, निर्माता कम खर्चीले मिश्रधातु के कनस्तर प्रयोग करने लगे (प्रिंगल के कनस्तरों की तरह ही). रेकिट बेन्किज़र डरकी पोटैटो स्टिक्स व फ्रेंच्'ज़ पोटैटो स्टिक्स नामों की अपनी श्रेणी में बाज़ार में अग्रणी थी, परन्तु 2008 में वे इस व्यापार से हट गए. ब्रिटेन में, वॉकर ने आलू की स्टिक का ब्रांड "फ्रेंच फ्राइज़" बनाया जो रेडी साल्टेड, सॉल्ट एंड वेनेगर, चीज़ एंड ओनियन अथवा वॉरकेस्टर सॉस स्वादों में उपलब्ध हैं.

निर्जलीकृत आलू से बना एक बड़ा संस्करण (लगभग 1 सेमी मोटाई का) ऐंडी कैप्'स पब फ्राईज़ के नाम से विपणित होता है, ये बेक किये जाते हैं तथा विभिन्न स्वादों में उपलब्ध हैं, तथा एक लम्बी ब्रिटिश कॉमिक स्ट्रिप की विषय-वस्तु का प्रयोग करते हैं. वॉकर एक मिलते-जुलते उत्पाद को बनाते हैं जिसे "चिपस्टिक्स" कहा जाता है तथा यह सॉल्ट एंड वेनेगर स्वाद में आता है. इसका रेडी साल्टेड स्वाद अब बंद कर दिया गया है.

कुछ कंपनियों ने विकल्प के रूप में बेक किये हुए आलू के चिप्स भी विपणित किये जिसमें वसा का अंश कम होता है. इसके अतिरिक्त, वसा रहित चिप्स की कुछ किस्मों को भी लाया गया जिनमें कृत्रिम वसा विकल्पों का प्रयोग किया गया है, जो कि अपाच्य होती हैं. मीडिया में इसे भली भांति पहचाना गया जब इनमें आम तौर से पाया जाने वाला एक तत्व ओलेस्ट्रा के कारण कुछ लोगों को पेट में तकलीफ तथा पतली शौच हुई.[23]

आलू के तले हुए कुरकुरे चिप्स की सफलता ने टेल हुए मकई के चिप्स को भी जन्म दिया, जिनमें फ्रिटो, सीसी'ज़ व डोरिटोज़ बाज़ार की अग्रणी कम्पनियां हैं. इसी प्रकार "स्वैम्प चिप्स" को बनाने के लिए कई प्रकार के कंदों का प्रयोग किया जाता है जैसे चुकंदर, शलजम, तथा गाजर आदि. जापानी शैली के प्रकारों में निःस्त्रावित चिप्स शामिल होते हैं जैसे कि चावल अथवा साबूदाने से बने चिप्स. नाश्ते के दक्षिण भारतीय व्यंजनों में एक वस्तु जिसे कन्नड़ में हप्पला तथा तमिल में वडम कहते हैं, यह एक चिप होता है जिसे निःस्त्रावित चावल अथवा साबूदाने से बनाया जाता है तथा यह कई शताब्दियों से प्रचलित है.

ब्रिटेन में कई अन्य ऐसे उत्पाद भी हैं जिन्हें चिप्स कहा जाता है परन्तु ये आलू के चिप्स की श्रेणी में नहीं आते हैं क्योंकि न तो ये आलू से बनते हैं तथा ना ही इनको चिप किया जाता है (उदाहरण के लिए वॉटसिट्स, क्वावर्स, स्किप्स, हूला हूप्स तथा मॉन्स्टर मंच)

केटल-शैली के चिप्स (ब्रिटेन/यूरोप में इन्हें हाथ से बने कहा जाता है) परंपरागत रूप से "बैच-शैली" विधि से बनाये जाते हैं, जहां सभी चिप्स एक साथ कम तापमान पर टेल जाते हैं, साथ ही उन्हें लगातार चलाते रहा जाता है जिससे वे आपस में चिप न जायें. हाल ही में केटल-शैली के चिप्स के निर्माण में कुछ प्रगति हुई है, इसको "सतत-शैली" (जैसे कि एक लम्बी कन्वेयर बेल्ट की सहायता से) से बनाया जाना संभव हुआ है, इससे बनने वाले केटल-शैली के चिप्स में वास्तविक, पुराने फैशन जैसी संरचना तथा स्वाद होता है.

गैर-आलू आधारित चिप्स भी उपलब्ध हैं. कुमारा (मीठा आलू) के चिप्स कोरिया, न्यू जीलैंड व जापान में खाए जाते हैं; चुकंदर तथा गाजर के चिप्स ब्रिटेन में उपलब्ध हैं. भारत स्थानीय 'चिप्स की दुकानों' की एक बड़ी संख्या के लिए प्रसिद्ध है, ये न सिर्फ आलू के चिप्स, बल्कि केला चिप्स, साबूदाना चिप्स, रतालू चिप्स और यहां तक कि गाजर के चिप्स भी बेचते हैं. केला चिप्स, जिन्हें शिफल्स अथवा टोस्टोन्स भी कहा जाता है, की बिक्री दक्षिणी गोलार्ध में भी होती है जिसमें संयुक्त राज्य अमेरिका से चिली तक शामिल है. फिलीपींस में, केले के चिप्स की बिक्री स्थानीय सामग्री भंडार में होती है. केन्या में, चिप्स अरारोट तथा साबूदाना तक से बनाए जाते हैं. ब्रिटेन, स्वीडन, फिनलैंड तथा ऑस्ट्रेलिया में प्रिंगल की चावल से बनी एक नयी विविधता की बिक्री आलू से बनने वाले चिप्स के मुकाबले कम वसा वाले चिप्स के रूप में की जा रही है. हाल ही में, ऑस्ट्रेलियाई कंपनी ऐब्सोल्यूट ऑर्गेनिक ने चुकंदर से बने चिप्स को जारी किया है.

नोट्स[संपादित करें]

  1. "Walkers Crisps". Pepsico. http://www.pepsico.co.uk/walkers-crisps. अभिगमन तिथि: 2010-08-09. 
  2. "PotatoPro/Datamonitor". Potatopro.com. http://www.potatopro.com/Pr/E-shot/Savory%20Snacks%20Global%20Industry%20Guide.aspx. अभिगमन तिथि: 2009-05-26. 
  3. "How potato chip is made - used, processing, product, machine, Raw Materials, The Manufacturing Process, Quality Control, Byproducts/Waste, The Future". Madehow.com. 1915-01-06. http://www.madehow.com/Volume-3/Potato-Chip.html. अभिगमन तिथि: 2010-08-03. 
  4. नागरिक युद्ध के व्यंजन और खाद्य के इतिहास - नागरिक युद्ध के दौरान आलू
  5. सारातोगा में वापसी, 15 अगस्त 1885, न्यूयॉर्क टाइम्स, पृष्ठ. 3
  6. मूल निवासी के स्वास्थ्य पर दो प्रसिद्ध सारातोगा व्यंजन 'चिप्स' और 'क्रीम हैश्ड' आलू; न्यूयॉर्क टाइम्स; 13 अगस्त 1893.
  7. निजी परिवारों के लिए सबसे अधिक किफायती योजना पर घरेलू पाकशास्त्र या हॉउसकीपर्स गाइड के आधुनिक प्रणाली; जे. ग्लीव और सन, 1824
  8. "Mike Sells Chipper Shipper Online Store". Mike-sells.com. http://www.mike-sells.com/about/. अभिगमन तिथि: 2009-05-26. 
  9. "Potato Chips". Atlas of Popular Culture in the Northeastern US. http://www.geography.ccsu.edu/harmonj/atlas/potchips.htm. अभिगमन तिथि: 2010-03-30. 
  10. [1]
  11. "The History and Origin of Potato Chips". Students.cup.edu. http://students.cup.edu/mof8893/food/history.html. अभिगमन तिथि: 2010-08-03. 
  12. "BBC h2g2 Potato Crisps - A History". Bbc.co.uk. http://www.bbc.co.uk/dna/h2g2/A16455053. अभिगमन तिथि: 2009-05-26. 
  13. "Joe 'Spud' Murphy". Daily Telegraph. 2001-11-22. http://www.telegraph.co.uk/news/main.jhtml?xml=/news/2001/11/05/db02.xml. अभिगमन तिथि: 2007-08-23. 
  14. "Joe 'Spud' Murphy". Telegraph. 2001-11-05. http://www.telegraph.co.uk/news/obituaries/1361491/Joe-Spud-Murphy.html. अभिगमन तिथि: 2010-08-03. 
  15. "BBC h2g2 - Smiths Salt 'n' Shake Crisps". Bbc.co.uk. http://www.bbc.co.uk/dna/h2g2/A471377. अभिगमन तिथि: 2009-05-26. 
  16. McKay, Betsy (2010-03-22). "PepsiCo Develops 'Designer Salt' to Chip Away at Sodium Intake". Wall Street Journal. http://online.wsj.com/article/SB10001424052748704534904575131602283791566.html. अभिगमन तिथि: 2010-03-22. 
  17. "Lay's website". http://www.lays.ca/. अभिगमन तिथि: 2008-08-24. 
  18. "Calbee Four Seas Co. Ltd.". http://www.calbee.com.hk/html/tch/home/index.jsp. अभिगमन तिथि: 2008-08-24. 
  19. "Calbee カルビー株式会社". Calbee.co.jp. http://www.calbee.co.jp/index.php. अभिगमन तिथि: 2009-05-26. 
  20. "株式会社湖池屋|総合スナックメーカーのコイケヤ". Koikeya.co.jp. http://koikeya.co.jp/. अभिगमन तिथि: 2009-05-26. 
  21. "Walkers Flavour Cup". http://www.walkers.co.uk/flavourcup/faqs.html#/help/faqs. अभिगमन तिथि: 2010-10-15. 
  22. "LAY'S®". Frito-Lay. http://www.fritolay.com/our-snacks/lays.html. अभिगमन तिथि: 2010-08-03. 
  23. "NIDDK...WIN Notes". Win.niddk.nih.gov. 1998-02-21. http://win.niddk.nih.gov/notes/summer98/artcl9.html. अभिगमन तिथि: 2009-05-26. 

संदर्भ[संपादित करें]

  • बंहम, रेनर (1977) पी. बार्कर (एड) आर्ट्स इन सोसाइटी में "द क्रिस्प एट द क्रॉसरोड्स". लंदन: फोंटाना.
  • Jones, Charlotte Foltz (1991). Mistakes That Worked. Doubleday. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-385-26246-9.  - चिप्स आलू की उत्पत्ति

बाहरी लिंक्स[संपादित करें]

Wiktionary-logo-en.png
आलू के चिप्स को विक्षनरी,
एक मुक्त शब्दकोष में देखें।