आनन्द रामायण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

आनंद रामायण राम के द्वारा रावण का वघ तथा राम के उत्तर जीवन का वर्णन करती हैं जिसमे लेखक अज्ञात है।

१.सारकाण्ड[1][संपादित करें]

  • प्रथम सर्ग जिसका प्रारंभ रघुवंश की वंशावली है। रावण द्वारा कौशल्या का हरण, दशरथ और कौशल्या का विवाह, कैकेयी और सुमित्रा का विवाह, कैकेयी द्वारा दशरथ की प्राणरक्षा, श्रवण-वध, पुत्रकामेष्टि यज्ञ आदि कथा।
  • द्वितीय सर्ग - राम जन्म और उनकी शिक्षा
  • तृतीय सर्ग - ताडका वध से सीता विवाह की कथा
  • चतृर्थ सर्ग - जनक की दीपावली, राम का शत्रु राजा से युद्ध , भरत की मूर्छा, मुद्गल ऋषि द्वारा भरत का बचाना, मुद्गल का वृंदा और कलहा की कहानी बताकर दशरथ को भावी की सूचना देना।
  • पंचम सर्ग - राम का अयोध्या निवास।
  • षष्ठ सर्ग - राम वनवास से भरत मिलन की कथा।
  • सप्तम सर्ग - विराघ वध से शबरी मुक्ति की कथा।
  • अष्टम सर्ग - सुग्रीव मित्रता से सम्पाति से मिलने की कथा।
  • नवम सर्ग - हनुमान द्वारा समुद्रलंघन से वापस लौटने तक की कथा।
  • दशम सर्ग - लंकागमन से सुग्रीव और रावण के युद्ध की कथा।
  • एकादश सर्ग - युद्धारम्भ से रावण वघ की कथा।
  • द्वादश सर्ग - सीतामिलन से रामाभिषेक की कथा।
  • त्रयोदश सर्ग - अगस्त्य द्वारा रावण जन्म की कथा, तप, नलकुबेर से शाप, उसका वाली, बली और अनरण्य से युद्ध तथा हनुमान द्वारा सूर्य निगलने की कथा बताना।

२.यात्राकाण्ड[संपादित करें]

  • १ - रामायण की रचना
  • २ - रामायण का विभाजन
  • ३ - राम की गंगायात्रा
  • ४ - लक्ष्मण का अपने बाण से सरयू के भागकर मुद्गल के आश्रम तक ले जाना।
  • ५ - राम की यात्रा
  • ६ - सीता द्वारा दशरथ का श्राद्ध
  • ७ - कन्याकुमारी का राम से मिलना
  • ८ - राम की यात्रा
  • ९ - अयोध्या आगमन

३.यागकाण्ड[संपादित करें]

  • १ - यज्ञ की तैयारी
  • २ - यज्ञ दीक्षा और ऋषियों का आगमन
  • ३ - अश्व का भ्रमण
  • ४ - राम का देवताओं और कुंभोदर से मिलना
  • ५ - रामाष्टोत्तरशतनामस्त्रोत्र
  • ६ - राम की दिनचर्या
  • ७ - ध्वजारोहणव्रत
  • ८ - वसिष्ठ द्वारा राम से सीता को दान मे माँँगना
  • ९ - यज्ञ की पूर्णाहुति

४.विलासकाण्ड[संपादित करें]

  • १ - रामस्तवराज
  • २ - रामस्तुति
  • ३ - देह रामायण
  • ४ - राम की दिनचर्या
  • ५ - राम का जलविहार
  • ६ - सीता द्वारा नगरस्त्रीयों को आभूषण देना
  • ७ - राम का व्यास से मिलना
  • ८ - गुणवती और पिंगला की कथा
  • ९ - लोपामुद्रा और सीता का शास्त्रार्थ

५.जन्मकाण्ड[संपादित करें]

  • १ - राम और सीता का वन जाना
  • २ - जनक और राम का सीतात्याग पर विचार
  • ३ - सीतात्याग
  • ४ - लव और कुश का जन्म एवं शिक्षा
  • ५ - रामरक्षास्तोत्र
  • ६ - सीता के व्रत हेतु लव-कुश का युद्ध
  • ७ - लव-कुश का रामायण गान और युद्ध
  • ८ - सीता का धरतीप्रवेश और पुनःआगमन
  • ९ - राम और अन्य भाइयों के पुत्रों का संस्कार-उत्सव

६.विवाहकाण्ड[संपादित करें]

  • १ - राम का भूरीकिर्ती के स्वयंवर मे जाना
  • २ - चम्पिका द्वारा कुश का वरण
  • ३ - सुमति द्वारा लव का वरण
  • ४ - राम का गमन
  • ५ - राम का वन मे अगस्त्य से मिलना
  • ६ - राम का अयोध्या गमन
  • ७ - राम और अन्य भाइयों के पुत्रों के विवाह
  • ८ - यूपकेतु का युद्ध
  • ९ - यूपकेतु का विवाह

७.राज्यकाण्ड[संपादित करें]

 पूर्वार्द्ध
  • १ - रामसहस्त्रनाम
  • २ - राम का कल्पवृक्ष लेना
  • ३ - ब्राह्मणों का विवाद
  • ४ - राम द्वारा कौए को वरदान, राम द्वारा निद्रा का निवारण, राम का पौण्ड्रक और मूलकासुर से युद्ध
  • ५ - सीता का मूलकासुर से युद्ध करने लंका जाना
  • ६ - सीता द्वारा मूलकासुर का वध
  • ७ - लवणासुर का वध
  • ८ - राम की विजययात्रा
  • ९ - राम की विजयात्रा और देश का विभाजन
  • १० - राम का कुत्ते के साथ न्याय करना, शूद्र का उद्धार, राम द्वारा उलूक और गृध्र का न्याय
  • ११ - राम द्वारा स्त्रियों को बचाना
  • १२ - राम का यमुना को वर देना
 उत्तरार्द्ध
  • १३ - राम द्वारा हास्य पर प्रतिबंध की कथा
  • १४ - वाल्मीकि की कथा
  • १५ - रामराज्य का वर्णन
  • १६ - राजनीति का उपदेश
  • १७ - अगस्त्य के कंकण और दंडकारण्य की कथा
  • १८ - हनुमान द्वारा ब्राह्मणों की रक्षा
  • १९ - राम की सभा
  • २० - रामावतार की महिमा
  • २१ - राम का दो रूप लेकर विश्वामित्र और वसिष्ठ से मिलना
  • २२ - सीता द्वारा तूटा हुआ तुलसीपत्र जोडना
  • २३ - आनंद रामायण की महिमा
  • २४ - सुमंत्र की मृत्यु को रोकना

८.मनोहरकाण्ड[संपादित करें]

  • १ - लघुरामायण
  • २ - राम द्वारा कौशल्या, कैकेयी एव सुमित्रा को ब्रह्मज्ञान देना और उन की मुक्ति
  • ३ - नव भक्तों की कथा
  • ४ - राममुद्रा
  • ५ - रामलिंगोतभद्र
  • ६ - स्त्रीराज्य की कथा
  • ७ - राम की महिमा
  • ८ और ९ - विविध रामायण और राम महिमा
  • १० - चैत्रमास का महिमा
  • ११ - शंभुब्राह्मण की कथा
  • १२ - राम का शबरी और दुर्गामंदीर की स्त्रीयों से मिलना
  • १३ - हनुमत्कवच और रामकवच
  • १४ - सीताकवच
  • १५ - लक्ष्मणकवच, भरतकवच और शत्रुघ्नकवच
  • १६ - वानर का इतिहास
  • १७ - साररामायण
  • १८ - अर्जुन का कपिध्वज नाम की कथा

९.पूर्णकाण्ड[संपादित करें]

  • १ - चंद्रवंशी राजा का इतिहास
  • २ - राम का हस्तिनापुर
  • ३ - राम और सोमवंशीयों का युद्ध
  • ४ - राम और सोमवंशीयों का ब्रह्मा द्वारा समाधान
  • ५ - राजाओं की विदाई
  • ६ - राम का स्वर्गगमन
  • ७ - सूर्यवंश राजा की वंशावली
  • ८ - आनंदरामायण की अनुक्रमणिका
  • ९ - आनंदरामायण का महत्त्व

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. https://archive.org/details/HindiBookAnandRamayan See index