गूगल मानचित्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Google Maps
Google maps logo.png
चित्र:Google Maps directions.png
Screenshot of Google Maps showing a route from San Francisco to Los Angeles on Interstate 5.
यू॰आर॰एल॰ maps.google.com
प्रकार Web mapping
पंजीकरण Optional, included with a Google Account
भाषा(एँ) Multilingual
अधिकारी Google
रचनाकार Google
उद्घाटन तिथि फ़रवरी 8, 2005 (2005-02-08)
वर्तमान स्थिति Active

गूगल मानचित्र (Google Maps) (पूर्व में गूगल लोकल ) गूगल द्वारा निःशुल्क रूप से प्रदत्त (गैर-व्यावसायिक उपयोग के लिए) एक वेब मैपिंग सर्विस एप्लिकेशन और तकनीक है जिसके द्वारा गूगल मानचित्र वेबसाइट, गूगल राइड फाइंडर, गूगल ट्रांजिट[1] और गूगल मानचित्र एपीआई के माध्यम से तीसरे पक्ष की वेबसाइटों में सन्निहित मानचित्रों सहित कई मानचित्र-आधारित सेवाएं संचालित होती हैं.[2] यह दुनिया भर के अनेकों देशों के लिए सड़कों के नक़्शे उपलब्ध कराता है जो पैदल, कार या सार्वजनिक वाहन से यात्रा करने वालों और शहर में व्यवसायों की खोज करने वालों के लिए मार्ग योजनाकार का काम करता है. गूगल मानचित्र के उपग्रह से लिए गए चित्र वास्तविक समय को नहीं दर्शाते हैं; ये कई महीनों या वर्षों पुराने होते हैं.[3]

गूगल मानचित्र मर्केटर प्रोजेक्शन के एक करीबी संस्करण का उपयोग करते हैं, इसलिए यह ध्रुवों के आसपास के क्षेत्रों को नहीं दिखा सकते हैं. इसका एक संबंधित उत्पाद गूगल अर्थ अकेला ऐसा प्रोग्राम है जो ध्रुवीय क्षेत्रों सहित ग्लोब को दिखाता है और साथ ही कई सुविधाएं भी प्रदान करता है.

उपग्रह का दृश्य[संपादित करें]

गूगल मानचित्र संयुक्त राज्य अमेरिका (हवाई, अलास्का, पोर्टो रीको और अमेरिकी वर्जिन द्वीपों सहित), कनाडा और यूनाइटेड किंगडम के ज्यादातर शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया के कुछ भागों और कई अन्य देशों के लिए उच्च-रिजोल्यूशन उपग्रह चित्र उपलब्ध कराता है. गूगल मानचित्र द्वारा उच्च-रिजोल्यूशन चित्रों का इस्तेमाल संपूर्ण मिस्र की नील नदी घाटी, सहारा रेगिस्तान और सिनाई को कवर करने के लिए किया गया है. गूगल मानचित्र अंग्रेजी भाषी क्षेत्रों के कई शहरों को भी कवर करता है. हालांकि, गूगल मानचित्र केवल एक अंग्रेजी मानचित्र सेवा नहीं है, क्योंकि इसकी सेवा का इरादा पूरी दुनिया को कवर करना है.

विभिन्न सरकारों ने उपग्रह मानचित्रों का इस्तेमाल आतंकवादियों द्वारा हमलों की योजना बनाने के लिए करने की संभावना को लेकर शिकायत की है.[4][मृत कड़ियाँ] गूगल ने सुरक्षा के लिए कुछ क्षेत्रों को धुंधला कर दिया है (ज्यादातर संयुक्त राज्य अमेरिका में)[5] जिनमें अमेरिकी नौसेना की वेधशाला (जहां उप-राष्ट्रपति का सरकारी निवास स्थित है) और पूर्व में [6] संयुक्त राज्य अमेरिका की राजधानी और व्हाइट हाउस शामिल हैं. नेवादा रेगिस्तान में एरिया 51 सहित अन्य सुप्रसिद्ध सरकारी प्रतिष्ठान दिखाई देते हैं. उपग्रह चित्रों पर सभी क्षेत्रों को एक ही रिजोल्यूशन में कवर नहीं किया जाता है; कम आबादी वाले क्षेत्रों का विवरण आम तौर पर कम मिलता है. कुछ क्षेत्र बादलों द्वारा छिपे हो सकते हैं.[7][8]

एक आसानी से योजना बनाने और खोजने योग्य मानचित्रण और उपग्रह चित्रण उपकरण की शुरूआत के साथ गूगल के मानचित्रण इंजन से उपग्रह चित्रण में दिलचस्पी काफी बढ़ गयी है. ऐसे साइटों की स्थापना की गयी जो मनमोहक प्राकृतिक और मानव-निर्मित दर्शनीय स्थलों के उपग्रह चित्रों को दिखाते हैं जिनमें चित्र के अंदर दिखाई देने वाले "बड़े आकार की" लिखावटों जैसी विशिष्टताओं के साथ-साथ सुप्रसिद्ध स्टेडियम और भूगर्भीय संरचनाएं शामिल हैं.

हालांकि गूगल सैटेलाइट (उपग्रह) शब्द का उपयोग करता है, इसमें उच्च-रिजोल्यूशन वाले ज्यादातर चित्र उपग्रह की बजाय 800-1500 फीट की ऊंचाई पर उड़ान भरने वाले विमानों द्वारा हवाई फोटोग्राफी के रूप में लिए गए हैं."Blurry or Outdated Imagery". http://earth.google.com/support/bin/answer.py?hl=en&answer=21417. 

दिशाएं[संपादित करें]

गूगल मानचित्र पर संलग्न क्षेत्र

गूगल मानचित्र दिशा-निर्देश निम्न क्षेत्रों में कार्य करते हैं

  • अफ्रीका की मुख्य भूमि, मिस्र, लेसोथो और सेउटा और मेलिला के स्पेनी शहरों को छोड़कर.
  • यूरोप, मध्य पूर्व और दक्षिण एशिया: एंडोरा, अल्बानिया, आर्मेनिया, ऑस्ट्रिया, अजरबैजान, बंगलादेश, बेल्जियम, बेलारूस, बुल्गारिया, क्रोएशिया, चेक गणराज्य, डेनमार्क (फ़ैरो द्वीपसमूह को छोड़कर), एस्टोनिया, फ्रांस, फिनलैंड, जर्मनी, ग्रीस, जिब्राल्टर, हंगरी, भारत, ईरान, आयरलैंड, इटली, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, लातविया, लिकटेंस्टीन, लिथुआनिया, लक्समबर्ग, एफवाईआर मैकेडोनिया, मोल्डोवा, मोनाको, मोंटेनेग्रो, नेपाल, नीदरलैंड, नॉर्वे (स्वालबार्ड को छोड़कर), पाकिस्तान, पोलैंड, पुर्तगाल (अज़ोरेस और मदेईरा को छोड़कर), रोमानिया, सैन मैरिनो, स्लोवाकिया, स्लोवेनिया, सर्बिया, स्पेन (कैनरी द्वीप और सेउटा और मेलिला सहित), स्वीडन, स्विटजरलैंड, तजाकिस्तान, तुर्की, तुर्कमेनिस्तान, यूक्रेन, यूनाइटेड किंगडम, उज़्बेकिस्तान और वेटिकन सिटी
  • उत्तरी अमेरिका: कनाडा, संयुक्त राज्य अमेरिका और मैक्सिको
  • दक्षिण अमेरिका: अर्जेंटीना, बोलिविया, ब्राजील, चिली, पराग्वे और पेरू (अधिक भाग, जैसे सैन मार्टिन, प्रशांत तट पर प्यूरा या आइक्विटोस और लोरेटो क्षेत्र में अन्य स्थाओं को छोड़कर)
  • दक्षिण पूर्व एशिया: कंबोडिया, लाओस, सिंगापुर, मलेशिया प्रायद्वीपीय, थाईलैंड और वियतनाम
  • कुछ असमीपवर्ती देशों और क्षेत्रों में: ऑस्ट्रेलिया, चीन, कोमोरोस, कोस्टा रिका, मिस्र, हवाई, हिस्पानिओला, (डोमिनिकन गणराज्य और हैती), हांगकांग, आइसलैंड, इंडोनेशिया (बाली, जावा, सुमात्रा और केवल मदुरा), इसराइल (और पश्चिमी क्षेत्र के भाग), जमैका, जापान, जॉर्डन, दक्षिण कोरिया, लेबनान, मकाओ, मेडागास्कर, माल्टा, मॉरीशस, मैक्सिको, न्यूजीलैंड, प्यूर्टो रिको, रियूनियन, रूस (केवल मॉस्को क्षेत्र), सबा, सारावाक, सेशेल्स, दक्षिण कोरिया (केवल ट्रांजिट), श्रीलंका, ताइवान, तुर्क और केइकोस द्वीप समूह, और यूएस वर्जिन आइलैंड्स.

क्रियान्वयन[संपादित करें]

गूगल वेब के कई अन्य एप्लिकेशनों की तरह गूगल मानचित्र बड़े पैमाने पर जावा स्क्रिप्ट का उपयोग करता है. जब उपयोगकर्ता नक़्शे को खींचता है, ग्रिड के वर्ग सर्वर से डाउनलोड होने लगते हैं और पृष्ठ में सम्मिलित हो जाते हैं. जब कोई प्रयोक्ता किसी व्यवसाय की खोज करता है तो परिणाम पृष्ठभूमि में डाउनलोड होते हैं जिन्हें साइड पैनल और नक़्शे में शामिल किया जा सकता है; पृष्ठ दुबारा लोड नहीं होता है. स्थानों को नक़्शे के चित्रों के ऊपर एक लाल पिन (कई आंशिक रूप से पारदर्शी पीएनजी से निर्मित) रखकर गतिशील रूप से दिखाया जा सकता है.

फॉर्म की प्रस्तुति के साथ एक छिपे हुए आईफ्रेम का उपयोग किया जाता है क्योंकि यह ब्राउज़र के इतिहास को सुरक्षित रखता है. यह साइट डेटा के हस्तांतरण के लिए एक्सएमएल की बजाय जेएसओएन का भी इस्तेमाल करता है. इस तरह की तकनीकें व्यापक एजेक्स के छाते के अंतर्गत आती हैं.

विस्तारण क्षमता और अनुकूलन[संपादित करें]

चूंकि गूगल मानचित्र लगभग पूरी तरह से जावा स्क्रिप्ट और एक्सएमएल में कोडित है, कुछ अंतिम उपयोगकर्ताओं ने इस उपकरण पर विपरीत-युक्ति का प्रयोग किया है और क्लाइंट-साइड स्क्रिप्ट एवं सर्वर साइड हूक्स तैयार कर लिया है जो एक उपयोगकर्ता या वेबसाइट को गूगल मानचित्र के इंटरफेस में विस्तारित या अनुकूलित विशेषताओं को शामिल करने की अनुमति देता है.

इस तरह के उपकरण गूगल द्वारा आयोजित कोर इंजन और मानचित्र/उपग्रह का इस्तेमाल कर कस्टम लोकेशन के आइकन, लोकेशन समन्वयक एवं मेटाडाटा और यहां तक कि गूगल मानचित्र इंटरफेस में कस्टम मानचित्र छवि के स्रोतों को भी शामिल कर सकते हैं. स्क्रिप्ट प्रविष्टि उपकरण ग्रीजमंकी गूगल मानचित्र डेटा को अनुकूलित करने के लिए एक बड़ी संख्या में क्लाइंट-पक्ष के स्क्रिप्ट उपलब्ध कराता है.

फ़्लिकर जैसी तस्वीर साझा करने वाली वेबसाइटों का उपयोग संयुक्त रूप से "स्मृति नक़्शे (मेमरी मैप्स)" तैयार करने के लिए किया जाता है.[तथ्य वांछित] कीहोल उपग्रह तस्वीरों की प्रतियों का उपयोग कर,[तथ्य वांछित] उपयोगकर्ताओं ने किसी क्षेत्र के स्थान विशेष से संबंधित व्यक्तिगत इतिहास और जानकारी प्रदान करने के लिए चित्र पर टिपण्णी करने की सुविधाओं का लाभ उठाया है.

गूगल मानचित्र एपीआई[संपादित करें]

गूगल ने विकासकों के लिए उनके वेबसाइटों में गूगल मानचित्र को एकीकृत करने की अनुमति देने के लिए जून 2005[9] में गूगल मानचित्र एपीआई का शुभारंभ किया. यह एक मुफ्त सेवा है और इसमें currently के अनुसार  विज्ञापन भी शामिल नहीं है, लेकिन अपने उपयोग के नियमों में कहता है कि वह भविष्य में विज्ञापनों को दिखाने का अधिकार अपने पास सुरक्षित रखता है.[10]

गूगल मानचित्र एपीआई का उपयोग कर गूगल मानचित्र की साइट को एक बाहरी वेबसाइट में सम्मिलित किया जाना संभव है जिस पर विशिष्ट डेटा को प्रतिस्थापित किया जा सकता है. हालांकि शुरुआत में यह केवल एक जावा स्क्रिप्ट एपीआई था, तब से मानचित्र एपीआई को विस्तारित कर इसमें एडोब फ्लैश एप्लिकेशनों, जो स्थिर नक़्शे की छवियों को पुनः प्राप्त करने की एक सेवा है, और जियोकोडिंग कार्य को निष्पादित करने, संचालक दिशाओं को उत्पन्न करने और ऊंचाई की प्रोफाइल प्राप्त करने के लिए वेब सेवाओं को शामिल किया है. 350,000 से अधिक[11] वेब साइट गूगल मानचित्र एपीआई का इस्तेमाल करते हैं जो इसे सबसे अधिक उपयोग किया जाने वाला वेब एप्लिकेशन डेवलपमेंट एपीआई बनाता है.[12]

गूगल मानचित्र एपीआई व्यावसायिक उपयोग के लिए मुफ्त है बशर्ते कि जिस साइट पर इसका उपयोग किया जा रहा है वह सार्वजनिक रूप से सुलभ हो और इसकी पहुँच के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाता हो.[13] इन अर्हताओं को पूरा नहीं करने वाली साइटें गूगल मानचित्र एपीआई प्रीमियर को खरीद सकती हैं.[14]

गूगल मानचित्र एपीआई की सफलता से कई प्रतिस्पर्धी विकल्प पैदा हो गए हैं जिनमें याहू! मानचित्र एपीआई, बिंग मैप्स प्लेटफार्म, मैपक्वेस्ट (MapQuest) डेवलपमेंट प्लेटफार्म और ओपनलेयर्स (OpenLayers) शामिल हैं.

मोबाइल के लिये गूगल मानचित्र[संपादित करें]

2006 में गूगल ने मोबाइल के लिए गूगल मानचित्र नामक एक jaavaa एप्लिकेशन की शुरुआत की thee जो

पेश एक जावा अनुप्रयोग Google मानचित्र कहा जाता है, के लिए किसी भी जावा आधारित फोन या मोबाइल डिवाइस पर चलने का इरादा है. इस एप्लिकेशन में वेब-आधारित साइटों की कई सुविधाएं प्रदान की गयी थीं.[15]

मोबाइल 2.0 के लिए गूगल मानचित्र 28 नवंबर, 2007 को जारी किया गया था. इसमें एक जीपीएस-जैसी लोकेशन-सेवा शुरू की गयी थी जिसके लिए जीपीएस रिसीवर की जरूरत नहीं होती है. "माई लोकेशन" सुविधा मोबाइल उपकरण के जीपीएस लोकेशन का इस्तेमाल कर कार्य करती है, अगर यह उपलब्ध हो. यह जानकारी सबसे नजदीकी वायरलेस नेटवर्कों और सेल साइटों का निर्धारण करने वाले सॉफ्टवेयर द्वारा अनुपूरित की जाती है. इसके बाद सॉफ्टवेयर ज्ञात वायरलेस नेटवर्कों और सेल साइटों के एक डेटाबेस का उपयोग कर सेल साइट के स्थान का पता लगाता है. उपयोगकर्ता के वर्तमान लोकेशन को निर्धारित करने में माय लोकेशन की सहायता के लिए सेल-साइट विधि का उपयोग विभिन्न सेल ट्रांसमीटरों के अलग-अलग शक्ति के सिगनलों को त्रिभुजाकार बनाकर और उसके बाद उनके स्थान की प्रोपर्टी (ऑनलाइन सेल साइट डेटाबेस से पुनः प्राप्त) का इस्तेमाल कर किया जाता है. आगे उपयोगकर्ता के स्थान की खोज के लिए वायरलेस नेटवर्क लोकेशन विधि की गणना नजदीकी वाईफ़ाई (WiFi) हॉटस्पॉट का पता लगाकर और उनकी लोकेशन प्रोपर्टी (सेल साइट डेटाबेस की ही तरह, ऑनलाइन वाईफाई डेटाबेस से पुनः प्राप्त) का इस्तेमाल कर की जाती है. जिस क्रम में इन्हें वरीयता प्राप्त होती है वह इस प्रकार है:

  • जीपीएस-आधारित सेवाएं
  • डब्ल्यूलैन-आधारित/वाईफ़ाई-आधारित सेवाएं
  • सेल-ट्रांसमीटर आधारित सेवाएं

सॉफ्टवेयर उन रास्तों को नीले रंग में प्लॉट करता है जो एक पीले आइकन के साथ उपलब्ध होते हैं और ट्रांसमीटर की वरीयता प्राप्त शक्ति (अन्य वेरिएबल्स के बीच) के आधार पर सेल साइट की अनुमानित सीमा के आसपास एक हरे रंग के घेरा बनाता है. मोबाइल उपकरण सेल साइट के कितना करीब है इसका अनुमान लगाने के लिए सेल फोन सिग्नल की शक्ति का उपयोग कर अनुमान को परिष्कृत किया जाता है.

15 दिसम्बर 2008 (2008 -12-15) के अनुसार , यह सेवा निम्नलिखित प्लेटफार्मों के लिए उपलब्ध है:[16]

4 नवम्बर 2009 को गूगल मानचित्र नेविगेशन को मोटोरोला ड्रोइड पर गूगल एंड्रोइड ओएस 2.0 एक्लेयर के साथ संयोजन में जारी किया गया, और ध्वनि आदेश, यातायात रिपोर्ट, और सड़क दृश्य को शामिल किया गया.[17] आरंभिक रिलीज संयुक्त राज्य अमेरिका तक ही सीमित है.[18]

गूगल मानचित्र एंड्रॉयड 2.0.

चित्र:Google Maps 5.0 Android.png
एंड्रॉयड के लिए गूगल मानचित्र

सेल फोन का इस्तेमाल नेविगेशन सहायता के लिए अधिक से अधिक किया जा रहा है. हालांकि लिखित संचालक निर्देशों का पालन करना कभी-कभी बहुत ही भ्रामक होता है. जबकि नेविगेशन उपकरण एक अरब डॉलर का उद्योग बन गया है, एंड्रॉयड 2.0 के लिए गूगल मानचित्र नेविगेशन एक मुफ्त सेवा है.

आवेदन में सुविधायें प्रदान की गई है:

  • साधारण अंग्रेजी में खोजें
  • आवाज द्वारा खोजें
  • ट्रेफिक व्यू
  • मार्ग में खोज
  • सैटेलाईट व्यू
  • सड़क दृश्य
  • कार डॉक मोड

प्रभाव
गूगल मानचित्र नेविगेशन एक मुफ्त सेवा है. एंड्रॉयड के लिए गूगल मानचित्र की एक खामी यह है कि गूगल मानचित्र से नक्शों और संबंधित जानकारियों को प्राप्त करने के लिए इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता होती है, ठीक उसी तरह जैसा कि आईफोन (iPhone) के गूगल मानचित्र एप्लिकेशन में होता है. [19]

गूगल द्वारा नेविगेशन के लिए गूगल मानचित्र की घोषणा के बाद टॉम-टॉम, गार्मिन और अन्य नेविगेशन सेवा प्रदाताओं के शेयर पच्चीस फीसदी तक गिर गए थे. शुरुआत में यह एप्लिकेशन केवल एंड्रॉयड 2.0 या इससे अधिक के उपयोगकर्ताओं के लिए ही उपलब्ध था.[कृपया उद्धरण जोड़ें]

गूगल के नेविगेशन की शुरुआत 20 अप्रैल 2010 को ब्रिटेन में और 17 नवम्बर 2010 को ऑस्ट्रेलिया में हुई थी, हालांकि यह अब भी अज्ञात है कि यह सुविधा बाकी दुनिया के लिए कब उपलब्ध होगी.

गूगल मानचित्र के मानदंड[संपादित करें]

गूगल मानचित्र में यूआरएल के मानदंड कभी-कभी डेटा अपनी सीमाओं में डेटा-संचालित होते हैं और वेब द्वारा प्रस्तुत यूजर इंटरफेस उन सीमाओं को प्रतिबिंबित कर सकते हैं और नहीं भी कर सकते हैं. विशेष रूप से समर्थित ज़ूम स्तर (जेड पैरामीटर द्वारा चिह्नित) में बदलाव होता रहता है. कम आबादी वाले क्षेत्रों में समर्थित ज़ूम लेवल 18 के आसपास रुक सकता है. एपीआई के पिछले संस्करणों में इन उच्चतर मानों को निर्दिष्ट करने के परिणाम स्वरूप कोई भी छवि प्रदर्शित नहीं की जाती थी. पश्चिमी शहरों में समर्थित ज़ूम स्तर आम तौर पर लगभग 20 पर रुक जाता है. कुछ अलग मामलों में डेटा 23 तक या इससे अधिक के स्तर को समर्थन करता है, जैसा कि अफ्रीका के चाड में दीज एलिफेन्ट्स या दिस व्यू ऑफ पीपुल एट ए वेल में है. एपीआई और वेब इंटरफेस के विभिन्न संस्करण पूरी तरह से इन उच्च स्तरों का समर्थन कर सकते हैं या नहीं भी कर सकते हैं.

अक्टूबर 2010 तक गूगल मैप व्यूअर अपने ज़ूम बार को अपडेट करता रहा है जिससे उपयोगकर्ता को उच्च ज़ूम स्तरों का समर्थन करने वाले क्षेत्रों में केंद्रित करने पर पूरी तरह से ज़ूम करने में मदद मिलती है.

विकास का इतिहास[संपादित करें]

गूगल मानचित्र को सबसे पहले एक सी++ प्रोग्राम के रूप में उपयोगकर्ताओं द्वारा अलग-अलग डाउनलोड किये जाने के लिए शुरू किया गया था. सिडनी-स्थित कंपनी व्हेयर 2 टेक्नोलॉजीज में लार्स और जेन्स रासमुस्सेन ने गूगल प्रबंधन के लिए एक शुद्ध रूप से वेब-आधारित उत्पाद का विचार उत्पन्न किया जिसने वितरण के तरीके को बदल दिया.[20] अक्टूबर 2004 में गूगल इंक[21] द्वारा इस कंपनी का अधिग्रहण कर लिया गया जहां इसे वेब एप्लिकेशन गूगल मानचित्र में तब्दील कर दिया गया. इस एप्लिकेशन की घोषणा पहली बार 8 फरवरी 2005[22] को गूगल ब्लॉग पर की गयी थी और यह गूगल पर मौजूद था. मूलतः यह केवल इंटरनेट एक्सप्लोरर और मोज़िला वेब ब्राउज़रों के उपयोगकर्ताओं का समर्थन करता था लेकिन इसमें ओपेरा और सफारी का समर्थन 25 फरवरी, 2005 को शामिल किया गया, परंतु वर्त्तमान में[कब?] सिस्टम की आवश्यकता सूची में से ओपेरा को हटा दिया गया है. दिसम्बर 2010 के अनुसार  इंटरनेट एक्सप्लोरर 7.0+, फायरफॉक्स 3.6+, सफ़ारी 3.1+ और गूगल क्रोम का समर्थन किया जाता है.[23] यह 6 अक्टूबर 2005 को गूगल लोकल का हिस्सा बनने से पहले छह महीनों के लिए बीटा में था.

अप्रैल 2005 में गूगल ने गूगल मानचित्र का इस्तेमाल कर गूगल राइड फाइंडर बनाया. जून 2005 में गूगल ने गूगल मानचित्र एपीआई को जारी किया था. जुलाई 2005 में गूगल ने जापान के लिए गूगल मानचित्र और गूगल लोकल सेवाएं शुरू की जिसमें सडकों के नक्शे भी शामिल थे. 22 जुलाई 2005 को गूगल ने "हाइब्रिड व्यू" को रिलीज किया. इस परिवर्तन के साथ उपग्रह छवि डेटा को प्लेट कैरी से मर्केटर प्रोजेक्शन में बदल दिया गया था जो शीतोष्ण जलवायु वाले स्थानों में कम विकृत चित्र तैयार करता है. जुलाई 2005 में अपोलो के चंद्रमा पर उतरने की छत्तीसवीं वर्षगांठ के सम्मान में गूगल चंद्रमा की शुरुआत की गयी. सितम्बर 2005 में कैटरीना तूफ़ान के बाद गूगल मानचित्र ने न्यू ओरलियंस के अपने सैटेलाइट चित्रों को तत्काल अपडेट कर दिया था ताकि उपयोगकर्ता इस शहर के विभिन्न भागों में बाढ़ की स्थिति को देख सकें. (मार्च 2007 में अजीबोगरीब तरीके से तूफान से होने वाली क्षति को दिखाने वाले अस्वीरों की जगह यहाँ तूफ़ान से पहले की तस्वीरें रख दी गयी थीं; यह बदलाव गूगल अर्थ में नहीं किया गया था, जो अभी भी कैटरीना तूफ़ान के बाद की तस्वीरों का इस्तेमाल कर रहा था).[24][25]

2 जनवरी 2006 (2006 -01-02) के अनुसार , गूगल मानचित्र में संयुक्त राज्य अमेरिका, पोर्टो रीको, च्ह्पकनाडा, युनाइटेड किंगडम, जापान और आयरलैंड गणराज्य के कुछ विशेष शहरों के सड़कों के नक्शों को दिखाया गया था. 2006 के शीतकालीन ओलंपिक के लिए ट्यूरिन के आसपास के क्षेत्र की कवरेज को समय पर शामिल किया गया था. 23 जनवरी 2006 को गूगल अर्थ की ही तरह के उपग्रह छवि डेटाबेस का उपयोग करने के लिए गूगल मानचित्र को अद्यतन किया गया था. 12 मार्च 2006 को गूगल मार्स [26] की शुरुआत की गयी थी जिसकी विशेषता मंगल गृह की एक खींचने योग्य तस्वीर और उपग्रह छवि है. अप्रैल 2006 में मुख्य गूगल मानचित्र की साइट में गूगल लोकल का विलय हो गया. 3 अप्रैल 2006 को मानचित्र एपीआई का संस्करण 2 जारी किया गया.[27][मृत कड़ियाँ] 11 जून 2006 को गूगल ने एपीआई में जियोकोडिंग की क्षमताओं को शामिल किया जिसने इस सेवा के लिए विकासकों द्वारा सबसे अधिक अनुरोध की गयी एक सुविधा को परिपूर्ण कर दिया.[28] 14 जून 2006 को उद्यम के लिए गूगल मानचित्र को आधिकारिक तौर पर शुरू किया गया.[29] एक व्यावसायिक सेवा के रूप में इसमें इंट्रानेट और विज्ञापन-मुक्त कार्यान्वयन की सुविधाएं शामिल हैं. जुलाई 2006 में गूगल ने मुख्य गूगल खोज परिणामों में लोकल वनबॉक्सेस के रूप में गूगल मानचित्र की व्यावसायिक लिस्टिंग सहित सेवा की शुरुआत की गयी.[30] 9 दिसंबर को गूगल ने मुख्य खोज के परिणामों में प्लसबॉक्स को एकीकृत कर दिया.[31] 19 दिसंबर को गूगल ने एक ऐसी सुविधा शामिल की जो आपके संचालन की दिशाओं के लिए अनेकों गंतव्यों को जोड़ने में मदद करती है.[32] फरवरी 2007 में शुरूआत करते हुए न्यूयॉर्क सिटी के कुछ भागों, वाशिंगटन, डी.सी., लंदन, सैन फ्रांसिस्को और कुछ अन्य शहरों की इमारतों और भूमिगत मार्ग के स्थानों को गूगल मानचित्र के "मैप्स व्यू" में दिखाया गया.[33]

29 जनवरी 2007 को लोकल यूनिवर्सल के परिणामों को उन्नत किया गया और मुख्य गूगल परिणामों के पृष्ठ में और अधिक डेटा को शामिल किया गया.[34] 28 फरवरी 2007 को गूगल ट्रैफिक की जानकारी की आधिकारिक तौर पर शुरुआत की गयी जिसमें संयुक्त राज्य अमेरिका के 30 प्रमुख शहरों के नक्शों में वास्तविक-समय की यातायात की रफ़्तार की स्थितियों को स्वचालित रूप से शामिल किया गया था.[35] 8 मार्च 2007 को लोकल बिजनेस सेंटर को उन्नत किया गया.[36] 16 मई 2007 को गूगल ने मुख्य गूगल परिणाम के पृष्ठ पर और अधिक नक़्शे संबंधी जानकारी के साथ-साथ यूनिवर्सल गूगल परिणामों की एक नयी सेवा की शुरुआत की.[37] 18 मई 2007 को गूगल ने आस-पड़ोस की खोज की क्षमताओं को शामिल किया.[38] 29 मई 2007 को गूगल की दिशाओं की संचालन सहायता को गूगल मानचित्र एपीआई में जोड़ा गया.[39] 29 मई 2007 को सड़क दृश्य को शामिल किया गया जो संयुक्त राज्य अमेरिका के कुछ प्रमुख शहरों की सड़कों का जमीनी-स्तर से 360-डिग्री का नजारा दिखाता है.[40] 19 जून 2007 को गूगल मानचित्र पर व्यवसायों के लिए समीक्षाओं को सीधे तौर पर शामिल किये जाने की अनुमति दी गयी.[41] 28 जून 2007 को खींचने योग्य दिशा संचालकों की शुरुआत की गयी.[42] 31 जुलाई 2007 को एचकार्ड (hCard) माइक्रोफ़ॉर्मेट के लिए समर्थन की घोषणा की गयी.[43] दुर्भाग्य से इसका कार्यान्वयन खंडित हो गया है.[तथ्य वांछित] 21 अगस्त 2007 को गूगल ने अन्य वेबसाइटों में गूगल मानचित्र को सन्निहित किये जाने के एक सरल तरीके की घोषणा की.[44] 13 सितंबर 2007 को गूगल मानचित्र में लैटिन अमेरिका और एशिया के 54 नए देशों को जोड़ा गया.[45] 3 अक्टूबर 2007 को गूगल ट्रांजिट को गूगल मानचित्र में एकीकृत कर दिया गया जिससे गूगल मानचित्र पर सार्वजनिक परिवहन का मार्गदर्शन संभव हो गया.[46] 27 अक्टूबर 2007 को गूगल मानचित्र ने जियोवेब के मानचित्रण और गूगल मानचित्र में इसके परिणामों को दिखाने की शुरुआत की.[47] 27 अक्टूबर 2007 को गूगल मानचित्र ने व्यावासिक सूचियों में कूपनों के लिए एक खोजने योग्य इंटरफेस को शामिल किया.[48] 27 नवंबर 2007 को बुनियादी स्थलाकृतिक विशेषताओं को दिखाने वाली "टेरेन" सुविधा को जोड़ा गया. "हाइब्रिड" दृश्य के बटन को हटा लिया गया और इसकी जगह "हाइब्रिड" और "सैटेलाइट" दृश्यों के बीच अदल-बदल करने के लिए "सैटेलाइट" बटन के नीचे "शो लेबल्स" का चेक-बॉक्स शामिल किया गया.[तथ्य वांछित]

22 जनवरी 2008 को गूगल ने लोकल वन-बॉक्स में 3 की जगह 10 व्यावसायिक लिस्टिंग की सुविधा के साथ इसका विस्तार किया.[49] 20 फरवरी 2008 को गूगल मानचित्र ने खोजों को उपयोगकर्ता की रेटिंग एवं आस-पड़ोस की सुविधाओं से परिष्कृत करने की अनुमति दी.[50] 18 मार्च 2008 को गूगल ने अंतिम उपयोगकर्ताओं को व्यावसायिक सूचियों को संपादित करने और नए स्थानों को जोड़ने की अनुमति दी.[51] 19 मार्च 2008 को गूगल ने लोकल बिजनेस सेंटर में असीमित श्रेणी के विकल्पों को जोड़ा.[52] 2 अप्रैल 2008 को टेरेन व्यू में गूगल ने समोच्च रेखाओं (कंटूर लाइनों) को जोड़ा.[53] अप्रैल 2008 में हाल ही में सहेजे गए स्थानों को देखने के लिए खोज क्षेत्र के दायीं और एक बटन को जोड़ा गया.[तथ्य वांछित] मई 2008 में "मैप", "सैटेलाइट" और "टेरेन" बटनों के साथ-साथ एक "मोर" बटन को जोड़ा गया जिससे पैनोरमियो और विकिपीडिया के आलेखों पर भौगोलिक दृष्टि से संबंधित तस्वीरों तक पहुंच संभव हो गयी.[तथ्य वांछित] 15 मई 2008 को गूगल मानचित्र को बेहतर इंटरनेट एप्लिकेशनों के लिए एक नींव के रूप में फ्लैश और 3 एक्शन स्क्रिप्ट (ActionScript) की व्यवस्था की गयी.[तथ्य वांछित] 15 जुलाई 2008 को घूमने के निर्देशों (वाकिंग डाइरेक्शन) को जोड़ा गया.[54] 4 अगस्त 2008 को जापान और ऑस्ट्रेलिया में सड़क दृश्य की शुरुआत की गयी.[54] 15 अगस्त 2008 को उपयोगकर्ता के इंटरफ़ेस को बदल दिया गया.[54] 29 अगस्त 2008 को गूगल ने एक ऐसे सौदे पर हस्ताक्षर किया जिसके तहत जियोआई (GeoEye) उसे एक सैटेलाइट[55] से तस्वीरों की आपूर्ति करेगा, और नक्शा संबंधी डेटा तैयार करने के लिए मैप मार्कर (नक़्शे को चिह्नित करने) उपकरण को पेश किया गया.[54] 9 सितम्बर 2008 को एक रिवर्स बिजनेस लुकअप सुविधा को जोड़ा गया.[54] 23 सितम्बर 2008 को न्यूयॉर्क सिटी की मेट्रोपोलिटन ट्रांजिट अथॉरिटी के लिए जानकारी को शामिल किया गया.[54] 7 अक्टूबर 2008 को जियोआई-1 ने अपनी पहली तस्वीर ली जो पेंसिल्वेनिया में कुट्जटाउन विश्वविद्यालय की एक विहंगम तस्वीर थी.[56] 26 अक्टूबर 2008 को मानचित्र एपीआई में रिवर्स जियोकोडिंग जोड़ा गया.[54] 11 नवम्बर 2008 को स्पेन, इटली और फ्रांस में सड़क दृश्य को पेश किया गया.[54] 23 नवम्बर 2008 को फ़्लैश के लिए मानचित्र एपीआई के एआईआर समर्थन को जोड़ा गया.[54] 25 नवम्बर 2008 को सड़क दृश्य के लिए एक नए उपयोगकर्ता इंटरफेस को पेश किया गया.[54] 27 नवंबर 2008 को चीन के लिए नक्शों, स्थानीय व्यावसायिक जानकारियों और स्थानीय गतिविधियों को शामिल किया गया.[54] 9 दिसम्बर 2008 को 2x सड़क दृश्य कवरेज को पेश किया गया.[54]

मई 2009 में गूगल मानचित्र का एक नया लोगो पेश किया गया.[57] अक्टूबर 2009 की शुरुआत में गूगल ने मैप्स के अमेरिकी संस्करण में जियोस्पेटियल डेटा के अपने प्रमुख आपूर्तिकर्ता के रूप में टेली एटलस को बदल दिया और इसकी जगह अपने स्वयं के डेटा का उपयोग किया.[58] अक्टूबर 2009 में रेलमार्गों को फिर से दुरुस्त किया गया जिसमें पुरानी लाइनों को हटा कर एक थोड़ा नया रूप दिया गया और इसे अपडेट किया गया.[कृपया उद्धरण जोड़ें] इसके अलावा इसी महीने में कई क्षेत्रों के नक्शों को बदलकर इनकी जगह कागजी सडकों और अन्य विषम सडकों को शामिल किया गया जिनका अस्तित्व नहीं है, साथ ही नक़्शे के इंटरफेस पर लॉट लाइनों को दिखाया गया.[कृपया उद्धरण जोड़ें] 11 फ़रवरी 2010 को गूगल मानचित्र लैब्स को जोड़ा गया. 11 मार्च 2010 को युनाइटेड किंगडम, हांगकांग, मकाऊ और जापान के और अधिक स्थानों के सड़क दृश्य का शुभारंभ किया गया. 25 मई 2010 को डेनमार्क के लिए सार्वजनिक परिवहन मार्ग को Rejseplanen.dk के साथ एकीकृत करके जोड़ा गया.[59] चच्होदो ल्प्द्प नभोस्दिके

गूगल द्वारा गूगल मानचित्र का उपयोग[संपादित करें]

मुख्य गूगल मानचित्र साइट पर एक स्थानीय खोज सुविधा (अब पदावनत) शामिल की गयी जिसका इस्तेमाल एक भौगोलिक क्षेत्र में एक खास प्रकार के व्यवसाय का पता लगाने में किया जा सकता है. पदावनत गूगल लोकल सर्च एपीआई की कार्यशीलता अब गूगल प्लेसेस एपीआई में सन्निहित है जो वर्तमाना में विकासक के पूर्वावलोकन (डेवलपर प्रिव्यू) में है.

गूगल डीटू[संपादित करें]

साँचा:References गूगल डीटू (谷歌地图, शब्दार्थ "गूगल मानचित्र") को 9 फरवरी 2007 को सार्वजनिक रूप से जारी किया गया और पुराने गूगल बेंडी (谷歌本地 शब्दार्थ "गूगल लोकल") को प्रतिस्थापित कर दिया गया.यह गूगल मानचित्र और गूगल लोकल की सेवाओं का चीनी स्थानीयकृत संस्करण है.

चीन के कानून की आवश्यकताओं के अनुरूप होने के लिए गूगल को गूगल डीटू में से कुछ सुविधाओं को हटाना या संशोधित करना पड़ा था:

  • गूगल डीटू पैनोरमियो, यूट्यूब, विकिपीडिया और वेबकैमों की उपयोगकर्ता द्वारा तैयार की गयी सामग्री को उपरिशायी करने की अनुमति नहीं देता है.
  • गूगल डीटू चीन और भारत के बीच विवादित सीमा क्षेत्रों को चीन के एक हिस्से के रूप में दिखाता है, जबकि गूगल मानचित्र पर उन विवादित क्षेत्रों को बिंदुओं की रेखाओं के अंदर दिखाया जाता है.

गूगल चंद्रमा[संपादित करें]

चित्र:Google-moon.png
गूगल चंद्रमा

20 जुलाई 1969 को अपोलो 11 के चंद्रमा पर उतरने की 36वीं वर्षगांठ के सम्मान में गूगल ने चंद्रमा की सार्वजनिक डोमेन की तस्वीर ली जिसे गूगल इंटरफेस में एकीकृत किया गया और गूगल चंद्रमा नामक एक साधन तैयार किया गया.[60] मूलभूत रूप में यह साधन जिसमें सुविधाओं का एक कम समुच्चय है, यह चंद्रमा पर उतरने वाले सभी अपोलो अंतरिक्ष यानों के उतरने के स्थान को भी प्रदर्शित करता है. इसमें एक ईस्टर अंडा भी शामिल है जिसमें सर्वाधिक ज़ूम स्टार पर एक स्विस पनीर डिजाइन को दर्शाया गया है, जिसे गूगल ने बाद में हटा लिया है.[तथ्य वांछित] नासा एम्स रिसर्च सेंटर और गूगल के बीच हाल ही की एक सहयोगी परियोजना में गूगल चंद्रमा के लिए इस्तेमाल किये गए डेटा को एकीकृत और संशोधित किया गया है. यही प्लानेटरी कंटेंट[61] की परियोजना है. गूगल चंद्रमा को 20 जुलाई 2005 से मुख्य गूगल खोज पृष्ठ के ऊपरी भाग में गूगल के लोगो का एक विशेष संस्मारक संस्करण प्रदर्शित किया गया है (यूटीसी).[62]

गूगल मार्स[संपादित करें]

चित्र:GoogleMars.png
गूगल मार्स

गूगल मार्स गूगल चंद्रमा की तरह मंगल गृह की एक प्रत्यक्ष तस्वीर के दृश्य के साथ-साथ इन्फ्रारेड तस्वीर और छायांकित रिलीफ (उभार) भी उपलब्ध कराता है. उपयोगकर्ता ऊंचाई, दृश्य और इन्फ्रारेड डेटा के बीच उसी तरह अदल-बदल कर सकते हैं जैसा कि नक्शे, सैटेलाइट और गूगल मानचित्र के हाइब्रिड मोड में अदल-बदल किया जाता है. एरिजोना स्टेट यूनिवर्सिटी में स्थित मार्स स्पेस फ्लाइट फैसिलिटी में नासा के वैज्ञानिकों के सहयोग से गूगल ने नासा के दो मंगल गृह के अभियानों, मार्स ग्लोबल सर्वेयर और 2001 मार्स ओडिसी से प्राप्त डेटा को सार्वजनिक रूप से उपलब्ध कराया है.[63]

अब गूगल अर्थ 5 के साथ नए संशोधित गूगल मार्स को कहीं अधिक उच्चतर रिजोल्यूशन स्तर से प्राप्त करने के साथ-साथ टेरेन को 3डी में देखा जा सकता है और मंगल ग्रह पर उतरने के विभिन्न अभियानों के परिदृश्यों को गूगल सड़क दृश्य की ही तरह देखा जा जकता है.

गूगल आकाश[संपादित करें]

27 अगस्त 2007 को गूगल ने गूगल आकाश को पेश किया, यह एक ऑनलाइन स्थान मानचित्रण उपकरण है जो हबल स्पेस टेलीस्कोप द्वारा ली गई तस्वीरों का उपयोग कर उपयोगकर्ताओं को दृश्यमान जगत के मानचित्र के माध्यम से पैन करने की अनुमति देता है.

गूगल राइड फाइंडर[संपादित करें]

गूगल ने प्रतिभागी टैक्सी और लीमोजिन सेवाओं के चयन के लिए कार में जीपीएस इकाइयों की टैपिंग करते हुए राइड फाइंडर नामक एक प्रयोगात्मक गूगल मानचित्र आधारित उपकरण को पेश किया है. यह उपकरण शिकागो और सेन फ्रांसिस्को सहित प्रमुख अमेरिकी शहरों में प्रतिभागी सेवाओं के सभी समर्थित वाहनों की वर्तमान स्थान को गूगल मानचित्र के एक सड़क के नक्शे पर प्रदर्शित करता है. ऐसा प्रतीत होता है कि 2009 तक इस उपकरण को बंद कर दिया गया है. यह कारपूलिंग को लेकर भ्रमित होने की बात नहीं है.

गूगल ट्रांजिट[संपादित करें]

दिसंबर 2005 में गूगल ने गूगल लैब्स पर गूगल ट्रांजिट सेवा का शुभारंभ किया जो क्रिस हैरेल्सन और अविचल गर्ग की एक 20% की परियोजना है.[64] गूगल ट्रांजिट को शुरुआत में पोर्टलैंड, ओरिगोन के समर्थन के साथ शुरू किया गया और अब इसमें संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा, यूरोप, एशिया, अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, भारत (पुणे) और न्यूजीलैंड के सैकड़ों शहरों को शामिल कर लिया गया है. यह सेवा मार्ग, पारगमन समय और लागत की गणना करती है और इसकी तुलना एक कार का उपयोग कर की गयी यात्रा से की जा सकती है. अक्टूबर 2007 में गूगल ट्रांजिट को गूगल लैब्स से उपाधि मिली और यह गूगल मानचित्र में पूरी तरह से एकीकृत हो गया.[65]

कवरेज[संपादित करें]

गूगल ट्रांजिट की कवरेज सार्वजनिक रूप से उपलब्ध है.यह दुनिया भर के सैकड़ों शहरों में फैला हुआ है और कहीं-कहीं इसका विस्तार पूरे देश में है जैसे कि चीन, जापान, स्विटजरलैंड. संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा के प्रमुख शहरों की कवरेज लगभग संपूर्ण है जिसमें वाशिंगटन, डीसी जैसे कुछ उल्लेखनीय अपवाद (जनवरी 2011 तक) भी हैं.

यूनाइटेड किंगडम जैसे कुछ क्षेत्रों में गूगल ट्रांजिट पारगमन एजेंसियों के केवल एक हिस्से को कवर करता है. उदाहरण के लिए लंदन का परिवहन गूगल ट्रांजिट को अपना डेटा उपलब्ध नहीं कराता है[तथ्य वांछित] लेकिन कुछसाँचा:Which बस कंपनियां ऐसा करती हैं जिसके साथ एक चेतावनी होती है "यह कवरेज अधूरा हो सकता है" जब कोई लंदन में या इसके आसपास पारगमन संबंधी दिशाओं की खोज करता है.

अन्य क्षेत्रों में गूगल ट्रांजिट सार्वजनिक पारगमन निर्देश प्रदान नहीं करता है, लेकिन फिर भी यह ट्रांजिट लेयर उपलब्ध कराता है जो नक्शे पर पारगमन लाइनों का योजनाबद्ध उपरिशायी स्वरुप प्रदान करता है. इसके उल्लेखनीय उदाहरणों में पेरिस, बर्लिन, मैक्सिको सिटी और दुनिया भर की कई अन्य राजधानियां शामिल हैं.

गूगल बाइकिंग दिशानिर्देश[संपादित करें]

10 मार्च 2010 को गूगल ने गूगल मानचित्र पर मोटरसाइकिल की सवारी (बैकिंग) के लिए दिशाओं की खोज की संभावना को जोड़ा है. सर्वोत्तम मार्गों की गणना यातायात, ऊंचाई में परिवर्तन, बाइक मार्गों, बाइक लेनों और बैकिंग के लिए पसंदीदा सड़कों से की जाती है. एक वैकल्पिक परत पसंदीदा सड़कों के लिए केवल-बाइक मार्गों से विभिन्न प्रकार के बैकिंग मार्गों को भी दर्शाता है. यह सेवा अमेरिका[66][67] एवं कनाडा[68] में उपलब्ध है और सिंगापुर जैसे कुछ अन्य देशों में यह बीटा परीक्षण के दौर से गुजर सही है.

गूगल मेरे मानचित्र[संपादित करें]

अप्रैल 2007 में मेरे मानचित्र गूगल के स्थानीय खोज मानचित्रों में जोड़ी गयी एक नई सुविधा थी. मेरे मानचित्र प्रयोक्ताओं और व्यवसायों को एक मानचित्र पर मार्करों, पोलीलाइनों और बहुभुजों को रखकर अपना स्वयं का नक्शा तैयार करने की सुविधा प्रदान करता है. इंटरफ़ेस को मानचित्र पर सीधे तौर पर उपरिशायी किया गया है. पहले से डिज़ाइन किये गए चौरासी मार्करों का एक सेट उपलब्ध है जिसका विस्तार बारों और रेस्तराओं से लेकर वेबकैम और भूकंप के संकेतों तक में है. पॉलीलाइन और बहुभुज का रंग, चौड़ाई और अस्पष्टता चयन करने योग्य है. मेरे मानचित्र का प्रयोग कर संशोधित किये गए नक्शों को बाद में देखने के लिए सहेज कर रखा जा सकता है और इसे सार्वजनिक किया जा सकता है या गैर-सूचीबद्ध चिह्नित किया जा सकता है, जिस स्थिति में उपयोगकर्ता को 42 अक्षरों की एक विशेष आईडी के साथ सहेजे गए यूआरएल की आवश्यकता होगी.

माई मैप में जोड़े गए प्रत्येक घटक के साथ एक संपादन योग्य टैग लगा हुआ है. इस टैग में टेक्स्ट, रिच टेक्स्ट या एचटीएमएल सम्मिलित हो सकते हैं. सन्निहित वीडियो और अन्य सामग्री को एचटीएमएल टैग के अंदर शामिल किया जा सकता है.

मेरे मानचित्र की शुरुआत में बनाए गए नक्शों को किसी वेबपेज या ब्लॉग में सन्निहित किये जाने की कोई सुविधा उपलब्ध नहीं थी. कुछ स्वतंत्र वेबसाइटों ने अब उपयोगकर्ताओं द्वारा नक्शों को सम्मिलित करने और अपने नक्शों में और अधिक कार्यशीलता जोड़ने के लिए नए उपकरणों को तैयार किया है.[69] संस्करण 2.78 के साथ इसका समाधान कर लिया गया है.[तथ्य वांछित]

गूगल सड़क दृश्य[संपादित करें]

25 मई 2007 को गूगल ने सड़क दृश्य को जारी किया, यह गूगल मानचित्र में एक नयी सुविधा है जो विभिन्न अमेरिकी शहरों का सड़क के स्तर से एक 360° का नयनाभिराम दृश्य प्रस्तुत करता है. इस तिथि को इस सुविधा में केवल पांच शहरों शामिल है, लेकिन बाद में इसे ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, चीन, चेक गणराज्य, फ्रांस, जर्मनी, हांगकांग, भारत, इटली, जापान, मैक्सिको, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका, स्पेन, स्वीडन, स्विटजरलैंड, नीदरलैंड, नार्वे, युनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका में हजारों स्थानों के लिए विस्तारित किया गया है.

अगस्त 2008 में ऑस्ट्रेलिया को सड़क दृश्य सुविधा में शामिल किया गया जहां लगभग सभी ऑस्ट्रेलियाई राजमार्गों, सड़कों और रास्तों में यह सुविधा उपलब्ध है. इसके अतिरिक्त उसी महीने में जापान को जोड़ा गया और उसी वर्ष 2 जुलाई को टूर डी फ्रांस मार्ग को शामिल किया गया. दिसंबर 2008 में न्यूजीलैंड को सड़क दृश्य में जोड़ा गया. युनाइटेड किंगडम, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड आज की तारीख तक केवल मात्र ऐसे देश हैं जहां सभी सडकों और राजमार्गों को दर्शाया गया है.

जुलाई 2009 में गूगन ने कॉलेज परिसरों और इनके आसपास के मार्गों और रास्तों का मानचित्रण शुरू किया. मेक्सिको के मुख्य शहरों और पर्यटक स्थलों को सड़क दृश्य में जोड़ा जा रहा है.[70]

सड़क दृश्य को नयनाभिराम तस्वीरों की सेंसर रहित प्रकृति को लेकर गोपनीयता संबंधी चिंताओं के कारण इसके जारी होने के बाद से ही काफी विवादों का सामना करना पड़ा है.[71][72] तब से गूगल ने स्वचालित रूप से चेहरे का पता लगाने की विधि के माध्यम से चेहरों को धुंधला करना शुरू कर दिया है.[73]

गूगल एरिअल व्यू[संपादित करें]

दिसंबर 2009 में गूगल ने एरियल व्यू को रिलीज किया जिसमें कोणीय हवाई तस्वीरों को शामिल किया गया जो शहरों का एक विहंगम दृश्य प्रस्तुत करता है. सबसे पहले उपलब्ध शहरों में सैन जोस और सैन डिएगो शामिल थे. यह सुविधा गूगल मानचित्र एपीआई के माध्यम से केवल विकासकों के लिए ही उपलब्ध थी.[74] फरवरी 2010 में इसे गूगल मानचित्र लैब्स में एक प्रायोगिक सुविधा में पेश किया गया था.[75]

जुलाई 2010 में एरियल व्यू को गूगल मानचित्र में संयुक्त राज्य अमेरिका और दुनिया भर के चुनिंदा शहरों में उपलब्ध कराया गया.[76]

उपलब्ध शहरों की संपूर्ण सूची (जनवरी 2011 तक) इस प्रकार है:[77]

  • चिली: सैंटिएगो और वालपैरेसो.
  • जर्मनी: डॉर्टमंड और स्टटगार्ट.
  • हंगरी: बुडापेस्ट.
  • इटलीः वेनिस.
  • दक्षिण अफ्रीका: ब्लॉमफ़ोन्टेन, केपटाउन, डरबन, जोहानसबर्ग, नेल्स्प्रूट, पोलोक्वेन, पोर्ट एलिजाबेथ, प्रिटोरिया और रसनबर्ग के आसपास के क्षेत्र.
  • स्पेन: सेविले
  • संयुक्त राज्य अमेरिका: अलबुकर्क, ऑस्टिन, कॉन्ट्रा कोस्टा काउंटी, एस्कॉनडीडो, लांग बीच, न्यू ओरलियंस, नॉरफोल्क, ऑकलैंड एरिया, ओक्लाहोमा सिटी, पोर्टलैंड एरिया, सैक्रामेंटो एरिया, साल्ट लेक सिटी, सैन एंटोनियो, सैन डिएगो एरिया, सैन जोस एरिया, संता क्लारा एरिया, सांता क्रूज एरिया, सेंट पीटर्सबर्ग, टस्कन और वान नुइज.

गूगल अक्षांश[संपादित करें]

गूगल अक्षांश गूगल की एक ऐसी विशेषता है जो उपयोगकर्ताओं को अन्य लोगों के साथ उनके प्रत्यक्ष स्थानों को साझा करने की सुविधा देती है. यह सेवा गूगल मानचित्र पर आधारित है जो विशेष रूप से मोबाइल उपकरणों पर उपलब्ध है. डेस्कटॉप और लैपटॉप के लिए एक आईगूगल (iGoogle) विजेट भी उपलब्ध है.[78] इस सेवा के उपयोग में उठाये गए गोपनीयता संबंधी मुद्दों को लेकर कुछ चिंताएं व्यक्त की गयी हैं.[79]

गूगल फ्लू का शॉट फाइंडर[संपादित करें]

गूगल फ्लू शॉट फाइंडर संयुक्त राज्य अमेरिका के उपयोगकर्ताओं को उन स्थानों की पहचान करने की सुविधा प्रदान करता है जहां महामारी फैलाने वाले एच1एन1 वायरस और मौसमी बुखार के टीके दोनों एक दिए गए पते या जिप कोड पर उपलब्ध होते हैं.

मोनोपोली सिटी स्ट्रीट्स[संपादित करें]

मोनोपोली सिटी स्ट्रीट्स गूगल मानचित्र को गेम बोर्ड के रूप में इस्तेमाल करने वाली गेम मोनोपोली का एक लाइव विश्वव्यापी संस्करण है. इसे गूगल और हैसब्रो द्वारा बनाया गया था. यह गेम अब समाप्त हो चुका है.[80]

मैशप्स[संपादित करें]

गूगल मानचित्र विकिपीडिया के आलेखों में स्थित जियो-टैगों से लिंक प्रदान करता है. यह पैनोरमियो के जीपीएस टैगों के साथ तस्वीरों को भी लिंक करता है.[तथ्य वांछित]

कॉपीराइट[संपादित करें]

गूगल मानचित्र के नियम एवं शर्तों [81] में कहा जाता है कि गूगल मानचित्र की सामग्री का उपयोग गूगल की सेवा की शर्तों [82] और कुछ अतिरिक्त प्रतिबंधों द्वारा नियंत्रित होता है.

त्रुटियां[संपादित करें]

इन्हें भी देखें: Satellite map images with missing or unclear data

कुछ क्षेत्रों में सड़कों के उपरिशायी नक्शों का मिलान प्रासंगिक उपग्रह की तस्वीरों से पूरी तरह से नहीं हो सकता है. सड़कों का डेटा पूरी तरह से गलत या सीधे तौर पर पुराना हो सकता है: गूगल अर्थ के प्रतिनिधि ब्रायन मैकलेंडन ने कहा था "सबसे बड़ी चुनौती डेटा का वर्त्तमान में होना, और डेटा की प्रामाणिकता है." इसके परिणाम स्वरूप मार्च 2008 में गूगल ने मकानों और व्यवसायों के स्थानों को संपादित करने की एक सुविधा को जोड़ा.[83][84]

संभावित सुरक्षा खतरों को देखते हुए स्थानों पर स्पष्ट रोक लगाकर गूगल मानचित्र को प्रतिबंधित किया गया है. कुछ मामलों में प्रतिबंधित क्षेत्र कुछ विशिष्ट इमारतों के लिए है लेकिन अन्य मामलों जैसे कि वाशिंगटन डी.सी.[85] में पुरानी तस्वीरों के इस्तेमाल पर प्रतिबंध है. इन स्थानों को अधूरे या अस्पष्ट डेटा के साथ सैटेलाइट नक्शे की तस्वीरों पर पूरी तरह से सूचीबद्ध किया गया है.

गूगल मानचित्र को सीमा पार की परिस्थितियों से निपटते समय सड़कों का डेटा तैयार करने में मुश्किल पेश आती है. उदाहरण के लिए, उपयोगकर्ता हांगकांग से शेनझेन के लिए शताऊजियाओं से होकर मार्ग प्राप्त करने में सक्षम नहीं होते हैं क्योंकि गूगल मानचित्र दोनों अतिव्यापी स्थानों के रोड मैप को प्रदर्शित नहीं करता है और ना ही इसकी योजना तैयार करता है.[86]

कभी-कभी गूगल मानचित्र पर वस्तुएँ और यहाँ तक कि कुछ क्षेत्र भी बादलों द्वारा छिपे हो सकते हैं. उदाहरण के लिए, स्वीडन में बोलनास के निकट अर्ब्रा ट्रांसमीटर के मस्तूल, as of August 25, 2010 के अनुसार  बादल की ओट में छिपे हैं.

कभी-कभी भौगोलिक स्थानों के नाम गलत भी होते हैं. इस तरह की त्रुटि का एक उदाहरण लाओना, विस्कोंसिन के गूगल मानचित्र में पाया जा सकता है. इस उदाहरण में गूगल मानचित्र शहर के दो प्रमुख झीलों में से एक की पहचान "डॉसन झील"[87] के रूप में करता है; यूएसजीएस, विस्कोंसिन प्रांत और स्थानीय सरकार के मानचित्रों में उस नक़्शे को "स्कैटर्ड राइस लेक" के रूप में दिखाया जाता है.[88] एक अन्य उदाहरण समोआ का है जिसे "वेस्टर्न समोआ" के समानांतर रखा गया है जो स्थिति अधिक से अधिक हाल में 1997 तक सही थी.

गूगल मानचित्र के विकिपीडिया विकल्प ने गलत या बेतहाशा भ्रामक डेटा को शामिल करके दिलचस्प त्रुटियों का उदाहरण पेश किया है:

गूगल अनेक ऑन-लाइन और ऑफ-लाइन स्रोतों से व्यावसायिक लिस्टिंग को समानुक्रमित करता है. विषय सूची में दोहराव को कम करने के लिए गूगल का एल्गोरिदम पता, फोन नंबर या जियोकोड[89] के आधार पर सूचियों को स्वतः संयोजित करता है लेकिन कभी-कभी अलग-अलग व्यवसायों की जानकारी को अनजाने में एक-दूसरे के साथ मिला दिया जाता है जिसके परिणाम स्वरूप सूचियां अनेकों व्यवसायों से लिए गए तत्वों को गलत तरीके से शामिल कर लेती हैं.[90]

गूगल ने जमीनी सच्चाई से संबंधित डेटा की जांच करने और उन्हें सही करने के लिए स्वयंसेवकों को भी नियुक्त किया है.[91]

गूगल डीटू और गूगल मानचित्र के बीच सीमा संरेखण में कुछ मतभेद हैं. गूगल मानचित्र पर भारत और पाकिस्तान के साथ चीनी सीमा के भागों को बिंदुओं वाली रेखाओं से दर्शाया गया है जो विवादित क्षेत्रों या सीमाओं का संकेत देते हैं. हालांकि गूगल डीटू चीनी सीमा को सख्ती से चीनी दावों के अनुसार दर्शाता है जिसमें भारत और पाकिस्तान की सीमा के साथ बिंदु वाली लाइनों का कोई संकेत नहीं होता है. उदाहरण के लिए, वर्त्तमान में भारत प्रशासित अरुणाचल प्रदेश नामक क्षेत्र (चीन द्वारा "दक्षिण तिब्बत" के रूप में संदर्भित किया जाता है) को गूगल डीटू द्वारा चीनी सीमा के भीतर दिखाया गया है, जहां भारतीय राजमार्ग चीनी दावा रेखा पर अचानक समाप्त हो जाते हैं. गूगल डीटू ताइवान और दक्षिण चीन के समुद्री द्वीपों को भी चीन के हिस्से के रूप में दर्शाता है. मई 2009 तक गूगल डीटू द्वारा ताइवान के सड़क संबंधी नक़्शे के कवरेज में देश के कई अंगों जैसे कि राष्ट्रपति का महल, पांच युआन और सुप्रीम कोर्ट को मिटा दिया गया है.

ditu.google.cn और ditu.google.Com के बीच कुछ भिन्नताएं हैं. उदाहरण के लिए, पहले विकल्प में मेरे मानचित्र की सुविधा मौजूद नहीं है. दूसरी ओर, जहां पहले विकल्प में वस्तुतः सभी लिखावट चीनी भाषा में हैं, दूसरे विकल्प में ज्यादातर लिखावट (उपयोगकर्ता द्वारा चुने जाने योग्य वास्तविक लिखावट के साथ-साथ नक़्शे की लिखावट) अंगरेजी में है. अंग्रेजी लिखावट को दिखाने का यह प्रचलन निरंतर नहीं है बल्कि बारी-बारी से देखा जाता है - कभी यह अंग्रेजी में होता है तो कभी चीनी में होता है. किस भाषा को प्रदर्शित किया जाए इसके चयन का मानदंड ज्ञात नहीं है.

2010 के अक्टूबर महीने में निकारागुआ के सैन्य कमांडर ईडन पैस्टोरा ने निकारागुआ के सैनिकों को आईला कैलेरो (सैन युआन नदी के डेल्टा में) पर तैनात किया था, जब उन्हें अपनी कार्रवाई को गूगल मानचित्र द्वारा दिए गए सीमा के निरूपण के आधार पर न्यायोचित ठहराया था. यह द्वीप काफी लंबे समय से कोस्टा रिका और निकारागुआ के बीच विवादित रहा है और इस घटना ने नए सिरे से सीमा पर तनाव को बढ़ा दिया. बिंग मैप्स में इस द्वीप को सीमा पर कोस्टा रिका की ओर दर्शाया गया है. गूगल ने कहा है कि वह इस मुद्दे को देख रही है और अगर इसे सही पाया गया तो इस डेटा को अपडेट कर दिया जाएगा.[92]

मानचित्र का प्रदर्शन[संपादित करें]

गूगल मानचित्र मर्केटर प्रोजेक्शन के एक करीबी प्रकार पर आधारित है. अगर पृथ्वी पूरी तरह से गोलाकार होती तो प्रोजेक्शन मर्केटर की तरह ही होता. गूगल मानचित्र गोलाकार मर्केटर के सूत्रों का उपयोग करता है लेकिन मैप्स गूगल पर सुविधाओं का निर्देशांक डब्ल्यूजीएस 84 के आंकड़े पर आधारित जीपीएस निर्देशांक के रूप में है. एक गोले और डब्ल्यूजीएस 84 इलेप्स्वाइड के बीच का अंतर परिणामी प्रोजेक्शन को पूरी तरह से अनुरूप नहीं होने देता है. यह विसंगति वैश्विक पैमाने पर निरर्थक है लेकिन यह स्थानीय स्तर के नक्शों को उसी पैमाने पर वास्तविक इलेप्सॉइडल मर्केटर नक्शों से थोड़ा अलग कर देता है.

क्योंकि मर्केटर ध्रुवों को अनंतता में देखता है, गूगल मानचित्र ध्रुवों को नहीं दिखा सकता है. इसकी बजाय यह 85° उत्तर और दक्षिण में कवरेज में कटौती कर देता है. सेवा के उद्देश्य को देखते हुए इसे एक सीमा नहीं माना जाता है. उन स्थानों पर कोई रोड नहीं होता है.

तुलनीय सेवाएं[संपादित करें]

  • बिंग मैप्स - सडकों के नक्शों और हवाई/उपग्रह के चित्रों के साथ माइक्रोसॉफ्ट की मानचित्रण सेवा.
    • टेरासर्वर-यूएसए - अब MSRMaps.Comकी सार्वजनिक डोमेन (पांच वर्ष से अधिक पुराने) की सैटेलाइट तस्वीरें और माइक्रोसॉफ्ट सर्वरों के माध्यम से यूएसजीएस स्थलाकृतिक नक़्शे.
    • एंटरप्राइज़ के लिए बिंग मैप्स - पूर्व में माइक्रोसॉफ्ट वर्चुअल अर्थ
  • जियोपोर्टेल (Géoportail) - एक फ्रांसीसी प्रतिद्वंद्वी जो फ्रांसीसी क्षेत्रों की विस्तृत हवाई तस्वीरें उपलब्ध कराता है.
  • मैपक्वेस्ट (MapQuest)
  • Multimap.com - माइक्रोसॉफ्ट द्वारा अधिगृहित और अब बिंग मैप्स में इसका विलय हो गया है.
  • ओपनस्ट्रीटमैप (OpenStreetMap) - विश्व का एक रॉयल्टी मुक्त संपादन योग्य मानचित्र.
  • ओवी मैप्स - नोकिया द्वारा पेश की गयी एक सेवा जो उपयोगकर्ता के मोबाइल फोन के साथ समक्रमिक करने की अनुमति देता है.
  • पिक्टोमेट्री - एक विहंगम चित्र प्रदाता जिसे सभी मानचित्रण प्रोग्रामों में एकीकृत किया जा सकता है.
  • सीट पेजिने गैले - एक इतालवी प्रतिद्वंद्वी जो इतालवी क्षेत्रों की विस्तृत सैटेलाइट तस्वीरें और रोम के नौवहन योग्य सड़क स्तर के परिदृश्य (सड़क दृश्य की तरह) उपलब्ध कराता है.
  • टेरालिंक इंटरनेशनल
  • वायामिशेलिन (ViaMichelin)
  • याहू! मैप्स
  • एबीमैप्स (ABmaps)

इन्हें भी देंखे[संपादित करें]

  • भुवन
  • वेब मैप सेवाओं की तुलना
  • गूगल मानचित्र रोड ट्रिप (लाइव-स्ट्रीमिंग डॉक्यूमेंट्री)
  • हिस्ट्रीपिन
  • आईएमएक्स फाइलटाइप
  • प्लासोपेडिया
  • प्लेसस्पॉटिंग
  • शिप लोकेशन मैपिंग सर्विस
  • विकिमैपिया, गूगल मानचित्र और एक विकी के मिश्रण वाला एक मैशअप जिसका उद्देश्य "पूरी पृथ्वी को वर्णित करना" है.
  • विकिपीडियाविज़न

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "Google Transit: A Great Asset to ‘Google Maps’". http://www.techpluto.com/google-transit-benefits/. 
  2. "What is the Google Maps API?". http://code.google.com/apis/maps/. 
  3. "K2 and Karakorum by climbers, news". K2climb.net. May 11, 2006. http://www.k2climb.net/news.php?id=1964. अभिगमन तिथि: January 13, 2010. 
  4. "Google Earth prompts security fears.". ABC News Online. August 8, 2005. http://www.abc.net.au/news/indepth/featureitems/s1432602.htm. 
  5. "Blurred Out: 51 Things You Aren't Allowed to See on Google Maps". http://www.itsecurity.com/features/51-things-not-on-google-maps-071508/. 
  6. Google Maps: The White House. "Google Maps: The White House — Elliott C. Back". Elliottback.com. http://elliottback.com/wp/archives/2005/04/08/google-maps-the-white-house/. अभिगमन तिथि: 2010-08-27. 
  7. गूगल सपोर्ट फोरम क्लाउड्स ओवर डेल्ही
  8. "Hows does Google Maps work". Techpogo.com. 2009-01-25. http://www.techpogo.com/2009/01/hows-does-google-maps-work.html. अभिगमन तिथि: 2010-01-12. 
  9. "Official Google Blog: The world is your JavaScript-enabled oyster". http://googleblog.blogspot.com/2005/06/world-is-your-javascript-enabled_29.html. 
  10. "Google Maps API – Terms of use". http://www.google.com/apis/maps/terms.html. 
  11. "Google Geo Developers Blog: Big Birthday... Google Maps API Turns 5!". code.google.com. 2010-05-29. http://googlegeodevelopers.blogspot.com/2010/06/big-birthday-google-maps-api-turns-5.html. 
  12. "ProgrammableWeb API dashboard". www.programmableweb.com. http://www.programmableweb.com/apis. 
  13. "Google Maps API FAQ". http://code.google.com/apis/maps/faq.html#tos_commercial. 
  14. "Google Maps API Premier". http://www.google.com/enterprise/earthmaps/maps.html. 
  15. "in-depth review". Mobilitynow.org. 2007-05-08. http://mobilitynow.org/2007/05/08/google-maps-for-mobile-indepth-review/. अभिगमन तिथि: 2010-01-12. 
  16. "Google Maps on your phone". Google.com. http://www.google.com/mobile/gmm/stp-js.html. अभिगमन तिथि: 2010-01-12. 
  17. Arrington, Michael (2009-10-28). "Google Redefines GPS Navigation Landscape: Google Maps Navigation For Android 2.0". Techcrunch.com. http://www.techcrunch.com/2009/10/28/google-redefines-car-gps-navigation-google-maps-navigation-android/. अभिगमन तिथि: 2010-01-12. 
  18. "Google Maps for mobile announce Navigation Beta for Android 2.0 – GSMArena.com news". Gsmarena.com. http://www.gsmarena.com/google_maps_for_mobile_anounce_navigation_beta_for_android_20-news-1216.php. अभिगमन तिथि: 2010-01-12. 
  19. Ito, Keith (2009-10-28). "Blogspot.com". Googleblog.blogspot.com. http://googleblog.blogspot.com/2009/10/announcing-google-maps-navigation-for.html. अभिगमन तिथि: 2010-01-12. 
  20. "http://news.cnet.com/Google-mapper-Take-browsers-to-the-limit/2100-1038_3-5808658.html – CNet". cnet.com. June 28, 2005. http://news.cnet.com/Google-mapper-Take-browsers-to-the-limit/2100-1038_3-5808658.html. अभिगमन तिथि: October 30, 2010. 
  21. "Secrets of a nimble giant – guardian.co.uk". Guardian. June 17, 2009. http://www.guardian.co.uk/technology/2009/jun/17/google-sergey-brin. अभिगमन तिथि: October 30, 2010. 
  22. "Google Maps announcement on Google Blog". Googleblog.blogspot.com. http://googleblog.blogspot.com/2005/02/mapping-your-way.html. अभिगमन तिथि: January 12, 2010. 
  23. "Google Maps Help". Maps.google.com. http://maps.google.com/support/bin/answer.py?answer=16532. अभिगमन तिथि: January 12, 2010. 
  24. "Google accused of airbrushing Katrina history". msnbc. March 30, 2007. http://www.msnbc.msn.com/id/17880969/. 
  25. "Google Restores Katrina's Scars To Google Earth". Information Week. April 2, 2007. http://www.informationweek.com/news/internet/search/showArticle.jhtml?articleID=198701867. 
  26. "Google Mars". Mars.google.com. http://mars.google.com/. अभिगमन तिथि: January 12, 2010. 
  27. [1][मृत कड़ियाँ]
  28. "Geocoding at Last". http://googlemapsapi.blogspot.com/2006/06/geocoding-at-last.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  29. "Google Maps for Enterprise". http://googlemapsapi.blogspot.com/2006/06/google-maps-for-enterprise.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  30. "The prodigal son of a search engine comes home". blumenthals.com. http://blumenthals.com/blog/2006/12/28/the-prodigal-son-of-a-search-engine-comes-home/. 
  31. "New Google UI feature: Plus Box". Matt Cutts. http://www.dullest.com/blog/new-google-ui-feature-plus-box/. 
  32. "Google Maps With Multiple Destinations". Philipp Lenssen. http://blogoscoped.com/archive/2006-12-19.html#n36. 
  33. "Google Maps adds subway stops, building outlines to cities". CNET. Archived from the original on 2012-07-11. http://archive.is/eBCO. 
  34. "Find and Compare Local Businesses". http://googleblog.blogspot.com/2007/01/find-and-compare-local-businesses.html. अभिगमन तिथि: August 25, 1010. 
  35. "Stuck in Traffic?". http://googleblog.blogspot.com/2007/02/stuck-in-traffic.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  36. "Google Upgrades Local Business Center". http://blumenthals.com/blog/2007/03/08/google-upgrades-local-business-center/. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  37. "Local Businesses in Universal Search". http://google-latlong.blogspot.com/2007/05/local-businesses-in-universal-search.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  38. "Neighborhood Search Capability". http://google-latlong.blogspot.com/2007/05/posted-by-david-tussey-product-manager.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  39. "Driving Directions Support Added to Google Maps". http://googlemapsapi.blogspot.com/2007/05/driving-directions-support-added-to.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  40. "Google Maps Launches Street View". http://blumenthals.com/blog/2007/05/29/google-maps-launches-street-view/. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  41. "Add Your Reviews to Businesses on Google Maps". http://google-latlong.blogspot.com/2007/06/add-your-reviews-to-businesses-on.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  42. "It's Click and Drag Situation". http://google-latlong.blogspot.com/2007/06/its-click-drag-situation.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  43. "Microformats in Google Maps". http://googlemapsapi.blogspot.com/2007/06/microformats-in-google-maps.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  44. "Google announces a simple new way to embed Google Maps". http://www.google.com/intl/en/press/annc/embed_maps.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  45. "More of the World for You to Explore". http://google-latlong.blogspot.com/2007/09/more-of-world-for-you-to-explore.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  46. "Google Transit Graduates from Labs". http://google-latlong.blogspot.com/2007/10/google-transit-graduates-from-labs.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  47. "Community Maps in your Search Results". http://google-latlong.blogspot.com/2007/10/community-maps-in-your-search-results_1522.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  48. "Google Coupons Now Has Searchable Interface". http://blumenthals.com/blog/2007/10/27/google-coupons-now-has-searchable-interface/. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  49. "Google Maps New Local Onebox 10 Pack Now Live". http://blumenthals.com/blog/2008/01/22/google-maps-new-local-onebox-10-pack-now-live/. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  50. "Google Maps Offers Refine by User Rating Option". http://blumenthals.com/blog/2008/02/20/google-maps-offers-refine-by-user-rating-option/. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  51. "It's Your World, Map It". http://google-latlong.blogspot.com/2008/03/its-your-world-map-it.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  52. "Google Local Business Center Upgrade: Unlimited Category Options". http://blumenthals.com/blog/2008/03/19/google-local-business-center-upgrade-unlimited-category-options/. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  53. "Last Summer Somewhere in Adirondacks". http://google-latlong.blogspot.com/2008/04/last-summer-somewhere-in-adirondacks.html. अभिगमन तिथि: August 25, 2010. 
  54. "Do you know how many Maps features have been launched in the past 6 months?". Google Maps Water Cooler. January 13, 2009. http://maps-forum-announcements.blogspot.com/2009/01/do-you-know-how-many-maps-features-have.html. अभिगमन तिथि: May 10, 2009. 
  55. Shankland, Stephen (August 29, 2008). "Google to buy GeoEye satellite imagery | Digital Media – CNET News". News.cnet.com. http://news.cnet.com/8301-1023_3-10028842-93.html. अभिगमन तिथि: January 12, 2010. 
  56. "Google’s Super Satellite Captures First Image | Wired Science | Wired.com". Blog.wired.com. October 8, 2008. http://blog.wired.com/wiredscience/2008/10/geoeye-1-super.html. अभिगमन तिथि: January 12, 2010. 
  57. "New logo look". http://googleblog.blogspot.com/2009/05/new-logo-look.html. 
  58. "Google Replaces Tele Atlas Data in US with Google StreetView Data". blumenthals.com. October 12, 2009. http://blumenthals.com/blog/2009/10/12/google-replaces-tele-atlas-data-in-us-with-google-data/. 
  59. "Nu kan du tage bussen med Google Maps i Danmark" (Danish में). http://www.version2.dk/artikel/14959-nu-kan-du-tage-bussen-med-google-maps-i-danmark. 
  60. "Google Moon". Moon.google.com. http://moon.google.com. अभिगमन तिथि: January 12, 2010. 
  61. "Intelligent Systems Division | Project". Ti.arc.nasa.gov. http://ti.arc.nasa.gov/projects/planetary/. अभिगमन तिथि: January 12, 2010. 
  62. "Google". Archived from the original on July 20, 2005. http://web.archive.org/web/20050720082857/http://www.google.com/. 
  63. "About Google Mars". Google.com. http://www.google.com/mars/about.html. अभिगमन तिथि: January 12, 2010. 
  64. Chan, Sewell (September 23, 2008). "Google Transit Expands to New York - City Room Blog - NYTimes.com". Cityroom.blogs.nytimes.com. http://cityroom.blogs.nytimes.com/2008/09/23/google-tool-gives-new-york-transit-help/. अभिगमन तिथि: January 12, 2010. 
  65. "Google LatLong: Google Transit Graduates from Labs". Google-latlong.blogspot.com. October 3, 2007. http://google-latlong.blogspot.com/2007/10/google-transit-graduates-from-labs.html. अभिगमन तिथि: January 12, 2010. 
  66. Guymon, Shannon. "Biking directions added to Google Maps". Googleblog.blogspot.com. http://googleblog.blogspot.com/2010/03/biking-directions-added-to-google-maps.html. अभिगमन तिथि: 2010-08-27. 
  67. Leen, John (2010-03-10). "It's time to bike". Google-latlong.blogspot.com. http://google-latlong.blogspot.com/2010/03/its-time-to-bike.html. अभिगमन तिथि: 2010-08-27. 
  68. Guymon, Shannon (2010-12-01). "Gearing up: Biking directions added to Google Maps for Canada". google-latlong.blogspot.com. http://google-latlong.blogspot.com/2010/12/gearing-up-biking-directions-added-to.html. अभिगमन तिथि: 2011-01-21. 
  69. "embed my maps – Google Search". Google.co.uk. http://www.google.co.uk/search?q=embed+my+maps. अभिगमन तिथि: January 12, 2010. 
  70. "Google Tricycle Mapper". Examiner. July 1, 2007. http://www.examiner.com/x-14111-Twin-Falls-Bicycle-Transportation-Examiner~y2009m6d21-Bicycle-job-Google-tricycle-mapper. 
  71. "The Google 'ick' factor". July 15, 2007. http://ifpandnpthenwe.gnn.tv/headlines/14488/The_Google_ick_factor. 
  72. "Want Off Street View?". Wired. July 15, 2007. http://blog.wired.com/27bstroke6/2007/06/want_off_street.html. 
  73. "Google begins blurring faces in Street View". CBS Interactive Inc. May 13, 2008. http://news.cnet.com/8301-10784_3-9943140-7.html. 
  74. Wilson, Randy (2009-12-08). "Google LatLong: Changing your perspective". Google-latlong.blogspot.com. http://google-latlong.blogspot.com/2009/12/changing-your-perspective.html. अभिगमन तिथि: 2010-09-18. 
  75. Mitchell, Thor (2010-02-12). "Google LatLong: Introducing Google Maps Labs, your passport to a world of new features". Google-latlong.blogspot.com. http://google-latlong.blogspot.com/2010/02/introducing-google-maps-labs-your.html. अभिगमन तिथि: 2010-09-18. 
  76. Wilson, Randy (2010-07-09). "Google LatLong: Changing your perspective, once again". Google-latlong.blogspot.com. http://google-latlong.blogspot.com/2010/07/changing-your-perspective-once-again.html. अभिगमन तिथि: 2010-09-18. 
  77. "45° Imagery on Google Maps – Google Maps". Maps.google.com. 1970-01-01. http://maps.google.com/maps/ms?ie=UTF8&hl=en&msa=0&msid=112099477591857711257.00048ad05c320f746f5c2&t=h&ll=8.787199,-45.827047&spn=85.447389,153.703486&dap=&source=embed. अभिगमन तिथि: 2010-09-18. 
  78. "See where your friends are with Google Latitude". February 4, 2009. http://googleblog.blogspot.com/2009/02/see-where-your-friends-are-with-google.html. 
  79. "Privacy fears over Google tracker". BBC News. February 5, 2009. http://news.bbc.co.uk/1/hi/technology/7872026.stm. अभिगमन तिथि: February 16, 2009. 
  80. Logged in as click here to log out (September 7, 2009). "New online Monopoly game is streets ahead | Technology | guardian.co.uk". London: Guardian. http://www.guardian.co.uk/technology/gamesblog/2009/sep/07/1. अभिगमन तिथि: January 12, 2010. 
  81. "Google Maps Terms". Maps.google.com. http://maps.google.com/help/terms_maps.html. अभिगमन तिथि: January 13, 2010. 
  82. "Google Terms of Service". Google.com. 2007-04-16. http://www.google.com/terms_of_service.html. अभिगमन तिथि: 2010-01-13. 
  83. "Improve information in Google Maps for the world to see". www.google.com. Unknown Publish Date. http://maps.google.com/help/maps/edit/. 
  84. Balakrishnan, Ramesh (March 18, 2008). "Google LatLong: It's your world. Map it". Google-latlong.blogspot.com. http://google-latlong.blogspot.com/2008/03/its-your-world-map-it.html. अभिगमन तिथि: January 13, 2010. 
  85. Johnson, Jenna (July 22, 2007). "Google's View of D.C. Melds New and Sharp, Old and Fuzzy". Washington Post. http://www.washingtonpost.com/wp-dyn/content/article/2007/07/21/AR2007072101296.html. अभिगमन तिथि: May 3, 2010. 
  86. "Map of Shatoujiao that stretch across the border of Hong Kong and Shenzhen". Google Maps. http://maps.google.com/maps?ll=22.568374,114.252405&spn=0.3,0.3&t=h&q=22.568374,114.252405. अभिगमन तिथि: December 5, 2008. 
  87. गूगल मानचित्र लाओना, विस्कॉन्सिन
  88. डीएनआर विस्कॉन्सिन का राज्य स्कैटर्ड राइस लेक
  89. "The Google Local map results have "merged" our listing with another in the same building – Maps Help". Google.com. April 22, 2009. http://www.google.com/support/forum/p/maps/thread?tid=11f2347bf1317b74&hl=en. अभिगमन तिथि: January 13, 2010. 
  90. "Google Maps Merging Mania Due to Algo-Change". April 29, 2009. http://blumenthals.com/blog/2009/04/29/google-maps-merging-mania-due-to-algo-change/. 
  91. न्यूयॉर्क टाइम्स, 2009-11-17 गूगल के स्वयंसेवक
  92. सीएनएन: "गूगल मानचित्र बॉर्डर बिकम्स पार्ट ऑफ इंटरनेशनल डिसप्यूट"

बाह्य कड़ियां[संपादित करें]