गूगल टूलबार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Google Toolbar
चित्र:Toolbar sm.png
विकासकर्ता Google
स्थिर रिलीज़]]

6.6.1124.846 (Internet Explorer)
7.1.20101113b1 (Firefox)

/ November 13, 2010 (Internet Explorer)
November 13, 2010 (Firefox)
प्रचालन तंत्र Microsoft Windows
Mac OS X
Linux
प्रकार Toolbar
लाइसेंस Proprietary freeware
जालस्थल http://www.google.com/toolbar

गूगल टूलबार एक इन्टरनेट ब्राउज़र टूलबार है जो इन्टरनेट एक्सप्लोरर तथा मोज़िला फायरफॉक्स के लिए उपलब्ध है.

इतिहास[संपादित करें]

गूगल टूलबार 1.0 दिसम्बर 11, 2000[संपादित करें]

विशेषताएं:

  • किसी भी वेब पेज से गूगल खोज के लिए सीधी पहुंच
  • वेब साइट खोज
  • खोजे गए शब्दों की स्थिति स्वचालित रूप से दर्शाना तथा प्रत्येक शब्द को खोज के अनुसार अलग रंग में प्रदर्शित करना;
  • पेज रैंक - गूगल के अनुसार पेज की रैंकिंग

सिस्टम आवश्यकताएं विन्डोज़ (Windows) 95, 98, 2000 या एनटी (NT), और माइक्रोसॉफ्ट इंटरनेट एक्सप्लोरर का संस्करण 5.0 या उससे ऊंचा.

गूगल टूलबार 2.0 अगस्त 13, 2003[संपादित करें]

नई विशेषताएं:

  • पॉप-अप अवरोधक
  • ऑटोफिल: प्रयोगकर्ता के कंप्यूटर पर सहेजी गयी सूचनाओं के आधार पर वेब फॉर्मों को स्वतः भर देना.
  • ब्लॉग दिस: लिंकों को Blogger.com वेबलॉग पर पोस्ट कर देना

सिस्टम आवश्यकताएं विन्डोज़ और माइक्रोसॉफ्ट इंटरनेट एक्सप्लोरर.

गूगल टूलबार 3.0 फ़रवरी 16,2005[संपादित करें]

नई विशेषताएं:

  • स्पेलचेक (वर्तनी जांच)
  • अमेरिका के पतों को गूगल मैप पर ऑटोलिंक करना, पैकेज की स्थिति पता लगाना, आईएसबीएन (iSBN) नंबर के लिए लिंक
  • वर्डट्रांसलेटर (शब्द अनुवादक)

सिस्टम आवश्यकताएं विन्डोज़ और माइक्रोसॉफ्ट इंटरनेट एक्सप्लोरर.

फ़ायरफ़ॉक्स के लिए गूगल टूलबार 2.0 सितंबर 22, 2005[संपादित करें]

फ़ायरफ़ॉक्स के लिए विशिष्टताएं

  • गूगल निजीकृत होमपेज के साथ फ़ीड इंटीगरेशन
  • गूगल सज़ेस्ट, और प्रयोगकर्ताओं द्वारा टूलबार पर आइकॉन सजाने के लिए मेनू.

सिस्टम आवश्यकताएं फ़ायरफ़ॉक्स, विन्डोज़, मैक और लाइनक्स

गूगल टूलबार 4.0 जनवरी 29, 2006[संपादित करें]

नई विशेषताएं

  • खोज अनुरोध टाइप करते समय ही तत्काल सुझाव
  • पृष्ठों को बुकमार्क करने के लिए आसान तरीका
  • बाहरी वेब साइटों पर खोज करने के लिए प्रयोगकर्ता की रूचि के अनुसार बटन

सिस्टम आवश्यकताएं विन्डोज़ एक्सपी (Windows XP)

गूगल टूलबार 5.0 दिसम्बर 12, 2007[संपादित करें]

नई विशेषताएं:

  • गूगल गैजेट्स
  • बुकमार्क की सहायता से सामग्री को सहेजने के लिए गूगल नोटबुक (पाठ्य-भाग और छवियां)
  • एक ही क्लिक से फॉर्मों को भरना
  • टूलबार सेटिंग्स को ऑनलाइन सहेजना
  • टूटे लिंकों के लिए सुझाव

सिस्टम आवश्यकताएं इंटरनेट एक्सप्लोरर, विन्डोज़ एक्सपी (Windows XP), विस्टा (Vista)

गूगल टूलबार 6.0 फ़रवरी 24, 2009[संपादित करें]

नई विशेषताएं:

  • क्विक सर्च बॉक्स की विशेषता ब्राउज़र के बाहर भी खोज की कार्यक्षमता प्रदान करती है
  • इंटरनेट एक्सप्लोरर 8 का सपोर्ट
  • खोज सुझाव, गूगल बुकमार्क्स, ऑटोफिल, कस्टम बटन और गैजेट के लिए वृद्धिशील सुधार

इंटरनेट एक्सप्लोरर, विन्डोज़ एक्सपी/विस्टा/7+ (Windows XP-SP2/Vista/7+)

फ़ायरफ़ॉक्स के लिए गूगल टूलबार 7.1 अगस्त 10, 2010[संपादित करें]

नई विशेषताएं:

  • गूगल टूलबार फ़ायरफ़ॉक्स 4 बीटा (Firefox 4 Beta) के साथ सुसंगत है.

सिस्टम आवश्यकताएं फ़ायर्फ़ॉक्स, विन्डोज़ (Windows), मैक ओएस एक्स (Mac OS X), तथा लाइनक्स (Linux)

विशेषताएं[संपादित करें]

गूगल टूलबार ब्राऊज़र की टैब बार के ऊपर रहते हुए वेब खोज करने के लिए सर्च बॉक्स की सुविधा प्रदान करता है. प्रयोगकर्ता अपने जीमेल (Gmail) एकाउंट में लॉग-इन करके अपनी ईमेल देखने के अतिरिक्त बुकमार्कों तथा वेब हिस्ट्री को संचित कर सकते हैं तथा उन्हें वापस पा सकते हैं. इसमें ऑटोलिंक, ऑटोफिल, अनुवाद, वर्तनी जांच, जैसे साधन हैं जो कि सभी ब्राऊज़रों में कार्य करते हैं, जबकि पॉप-अप ब्लॉकर तथा शब्द खोजने जैसी सुविधाएं सिर्फ इन्टरनेट एक्स्प्लोरर संस्करण के साथ ही उपलब्ध होती हैं.[1] गूगल टूलबार का उत्पाद-वितरण अक्सर किसी मुख्य डाउनलोड के साथ जोड़ कर भी किया जाता है.

साइडविकी (Sidewiki)[संपादित करें]

गूगल साइडविकी को सितम्बर 23, 2009 को प्रारंभ किया गया और इसके ज़रिये प्रयोगकर्ता किसी वेब पेज पर लोगों को दिखाई देने वाली टिप्पणियां कर सकते थे.[2] गूगल श्रेणीक्रम में टिप्पणी की प्रासंगिकता तथा उपयोगिता दिखाता है तथा इसे निकालने के लिए श्रेणी कलन विधि (Ranking Algorithms) के प्रयोग से टिप्पणी के बारे में प्रयोगकर्ताओं के मत तथा टिप्पणीकर्ता के पुराने अभिदान को देखता है. इन्टरनेट एक्स्प्लोरर तथा फायरफ़ॉक्स में गूगल टूलबार की सहायता से साइडविकी उपलब्ध है तथा गूगल क्रोम ब्राउज़र में एक add-on की सहायता से यह उपलब्ध है, तथा अन्य ब्राउज़रों, जैसे कि सफारी में यह बुकमार्कलेट के रूप में उपलब्ध है.

वेब साइटों के अधिकारी साइडविकी टिप्पणियों को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं,[3] और फ़िलहाल अप्रैल 2010 तक किसी वेबसाइट के लिए साइडविकी को अस्वीकार कर देना भी संभव नहीं है, हालांकि सेक्योर साइटों पर साइडविकी क्रियाशील नहीं होती है.[4]

माई लोकेशन[संपादित करें]

माई लोकेशन एक भू-स्थिति सेवा है जो वाई-फाई (Wi-Fi) एक्सेस प्वाइंटों की स्थिति का प्रयोग करते हुए टूलबार प्रयोगकर्ता की स्थिति बताती है.[5] इस स्थान के आधार पर प्रयोगकर्ता की स्थिति को भांपते हुए खोज के परिणामों का अनुकूलन किया जाता है.[5] गूगल टूलबार अन्य वेबसाइटों को भी भू-स्थिति सम्बन्धी आंकड़े उपलब्ध करा सकती है,[5] ऐसा डब्ल्यू3सी जियोलोकेशन एपीआई (W3C Geolocation API) के द्वारा किया जाता है.

ऑटोलिंक[संपादित करें]

ऑटोलिंक सुविधा प्रारंभ किये जाने पर गूगल टूलबार की आलोचना की गयी थी क्योंकि यह प्रयोगकर्ताओं को पहले से चुनी हुई व्यावसायिक वेबसाइटों जैसे कि Amazon.com तथा गूगल मैप्स की ओर दिशा-निर्देशित कर देती थी. उदाहरण के लिए, अगर किसी वेबपेज पर यह एक आईएसबीएन (ISBN) संख्या पायेगी, तो यह अमेज़न के उस विशिष्ट उत्पाद पेज की ओर इंगित करने लगेगी जिस पर उस पुस्तक के विषय में सूचना हो. गूगल ने कहा कि यह सुविधा "उपयोगी लिंक जोड़ती है" तथा "ऑटोलिंक प्राप्त करने वाली किसी भी कंपनी ने उसको कोई भुगतान नहीं किया".

गोपनीयता[संपादित करें]

गूगल वाच ने गूगल टूलबार से जुड़े गोपनीयता के खतरों के बारे में आगाह किया, इनमें ब्राउजिंग स्वरुप पर नज़र रखना, प्रयोगकर्ता के ज्ञान में आये बिना अपडेटों को इंस्टाल करना, तथा एक गोपनीयता नीति जिसे बिना किसी सूचना के बदला जा सकता था, शामिल थे.[6] यह टूलबार व्यक्तिगत सर्फिंग गतिविधियों पर नज़र नहीं रखती, जब तक कि प्रयोगकर्ता द्वारा उन्नत फीचर जैसे कि पेजरैंक विशेष रूप से शुरू न किये गए हों.[7] यह "गुमनाम" सांख्यिकी अवश्य एकत्रित करती है, जिसे अन्य डेटा के साथ रखने पर बहुत सी चीजें स्पष्ट हो सकती हैं, हालांकि यह तो गूगल के ऑनलाइन सर्च इंजन के बारे में भी कहा जा सकता है.[8]

गूगल कंप्यूट[संपादित करें]

गूगल कंप्यूट गूगल टूलबार का एक अलग से डाउनलोड करने योग्य ऐड-ऑन था जिसके द्वारा वैज्ञानिक शोध की सहायता करने वाली डिस्ट्रीब्यूटेड कम्प्यूटिंग परियोजना में भाग लिया जा सकता था. यह मार्च 2002 में एक सीमित आधार पर शुरू किया गया[9] और अक्टूबर 2005 में समाप्त हो गया.

गूगल कंप्यूट किसी उपयोगकर्ता के कंप्यूटर को, जबकि वह किसी उपयोग में ना हो, चुनौतीपूर्ण वैज्ञानिक समस्याओं के समाधान में सहायता के लिए प्रयुक्त किये जाने योग्य बनाता है. जब कोई प्रयोगकर्ता अपने कंप्यूटर पर गूगल कम्पयूट चलाता था तब वह किसी बड़ी, शोध की जा रही समस्या का एक छोटा अंश डाउनलोड करके उस पर गणनाएं करता था और उससे प्राप्त परिणाम को अन्य हजारों कम्प्यूटरों से प्राप्त परिणाम के साथ मिला दिया जाता था. गूगल कंप्यूट सिर्फ गूगल टूलबार के अंग्रेज़ी भाषा वाले संस्करण के लिए ही उपलब्ध था.[10]

इस प्रयास का पहला और एकमात्र योगदान फोल्डिंग@होम (Folding@home) था, यह एक बिना मुनाफे के किया जाने वाला प्रयास था जिसमें प्रोटीन के मुड़ने की प्रक्रिया को बेहतर ढंग से समझा जाना था जिससे कि कई बीमारियों को समझने में मदद मिलती. गूगल कंप्यूट के होमपेज पर अनुशंसा की गयी थी कि वे प्रयोगकर्ता जो इस परियोजना में योगदान देते रहना चाहते हैं, वे आधिकारिक फोल्डिंग@होम (Folding@home) क्लायंट को डाउनलोड कर लें.

आईएसपी-आधारित डीएनएस हाईजैकिंग के साथ अव्यावहारिकता[संपादित करें]

कई इन्टरनेट सेवा प्रदाता अपनी प्रणाली में डीएनएस हाईजैकिंग का प्रयोग करते हैं जिससे कि प्रयोगकर्ताओं द्वारा गलत यूआरएल डाले जाने पर वे उन्हें विज्ञापन युक्त पेज पर ले जा सकें. जब कोई आईएसपी इस विन्यास को लागू करता है, तो गूगल टूलबार की कार्यात्मकता कुछ प्रभावित होती है.

एक्स टूलबार[संपादित करें]

  • उन्नत सर्चबार
  • एलेक्सा टूलबार
  • एओएल (AOL) टूलबार
  • बिंग बार
  • याहू! टूलबार

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • योलिंक
  • फॉर्म फिलर
  • फोल्डिंग@होम
  • वितरित अभिकलन परियोजनाओं की सूची
  • सेटी@होम
  • साभिप्राय सर्फर मॉडल - पेजरेंक को टूलबार कैसे योगदान देता है

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "Google Toolbar Features". Google. http://toolbar.google.com/T6/intl/en/features.html. अभिगमन तिथि: 2009-05-16. 
  2. "Help and learn from others as you browse the web: Google Sidewiki". Google. 23 September 2009. http://googleblog.blogspot.com/2009/09/help-and-learn-from-others-as-you.html. अभिगमन तिथि: 2009-09-23. 
  3. Andrew Keen (2009-09-24). "Sidewiki: Google colonial sideswipe". London: The Daily Telegraph. http://blogs.telegraph.co.uk/technology/andrewkeen/100003634/sidewiki-google-colonial-sideswipe/. अभिगमन तिथि: 2009-12-12. 
  4. "How do webmasters opt out of sidewiki?". http://www.google.com/support/forum/p/Webmasters/thread?tid=494bb6012632fb05&hl=en. अभिगमन तिथि: 2010-02-24. 
  5. "Toolbar Help". Google. http://www.google.com/support/toolbar/bin/answer.py?hl=en-uk&answer=166104. अभिगमन तिथि: 2010-05-20. 
  6. गूगल न्यू टूलबार: नाउ मोर इवेल दैन एवर
  7. "Does Wesley’s Google Toolbar Invade Your Privacy ? Not Really". TechPluto. 16 May 2009. http://www.techpluto.com/google-toolbar-advanced-features/. अभिगमन तिथि: 2009-05-17. 
  8. क्या गूगल अधिक शक्तिशाली है? बिल थॉम्पसन द्वारा, बीबीसी (BBC) समाचार, 21/02/2003
  9. Olsen, Stefanie (March 27, 2003). "Google tests distributed computing". CNet News. Archived from the original on July 16, 2012. http://archive.is/fguP. 
  10. Shankland, Stephen (March 22, 2002). "Google takes on supercomputing". CNet News. Archived from the original on July 10, 2012. http://archive.is/xpA9. 

बाहरी लिंक्स[संपादित करें]