जैसलमेर जिला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
निर्देशांक: (निर्देशांक ढूँढें)
जनसंख्या
घनत्व
6,69,919 (2011) (2011 के अनुसार )
• 17/किमी2 (44/मील2)
क्षेत्रफल 38401वर्ग किमी कि.मी²

जैसलमेर भारतीय राज्य राजस्थान का एक जिला है।

जिले का मुख्यालय जैसलमेर है।

क्षेत्रफल - 38401 वर्ग कि.मी.

जनसंख्या - 669919(2011 जनगणना)

साक्षरता - 57.2%

एस. टी. डी (STD) कोड - 02992

जिलाधिकारी - (सितम्बर 2006 में)

समुद्र तल से उचाई -

अक्षांश - उत्तर

देशांतर - पूर्व

औसत वर्षा - मि.मी.


जैसलमेर राजस्थान के सुदूर पश्चिम में स्थित एक जिला है, जो क्षेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान का सबसे बड़ा जिला है। स्वतंत्रता से पुर्व यहां पर भाटी राजपुतों का राज्य था | इसकी स्थापना भाटी राजा जैसल ने 1178 ई. में की थी| जैसलमेर को "राजस्थान का अण्डमान" भी कहा जाता है। इस जिले में सबसे कम जनसंख्या निवास करती है। साथ ही साथ यहां का जनसंख्या घनत्व भी सबसे कम है। यहां प्रति वर्ग किमी में औसतन केवल 17 व्यक्ति ही निवास करते हैं। जैसलमेर को 'स्वर्ण नगरी' के नाम से भी जाना जाता है।

जैसलमेर का सोनार का किला अपने स्थापत्य कला के कारण विश्व प्रसिद्ध है। इस किले के निर्माण में पीले पत्थरों का प्रयोग किया गया है। जब सुर्य की किरणें किले पर पड़ती है तो वह सोने के समान चमकता है , इसीलिये इसे सोनार के किले के नाम से जाता है। यहां भारत का सबसे बड़ा मरूस्‍थल थार का मरूस्‍थल स्थित है। यहां गर्मियों में गर्मी अधिक व सर्दी में ठंडी अधिक पड़ती है। 

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

जैसलमेर में मोहनगढ़ नामक एक उप तहसील है

जैसलमेर जिले के गांव भाडली जिला मुख्यालय से 110 किलोमीटर व बाड़मेर जिले की सीमा पर बसा गांव है। यहां पर प्रसिद्ध श्री करनी माता का मंदिर है, जहां हर साल मेला भरता है। यहां पर चमत्कारी बाबा श्री मोतीगिरी का मठ है, सांप डसने पर, जीवन दान के सम्बंध में श्री मोति गिरी के मठ में पूजन किया जाता है, यहां हर साल मेला भरता है, आस पास के गांवो से हर साल हजारो लोग आते है। गांव में माता रानी भटियाणी का मंदिर, नागणेच्या माताजी का मंदिर,संत जसा रामजी का मंदिर, खेतरपाल का मंदिर, हनुमान मंदिर ठाकुर जी का मंदिर, चमजी एवम रावतिंग डाडा का मंदिर है।

    भाडली गांव में मुख्यतः भाटी, राठौड़, चौहान, जैन , दर्जी, सुथार, पुष्करणा ब्राह्मण, मेगवाल, गर्ग, रहते है।

भाडली गांव में विभिन्न समुदायों, जातियों के लोग बसते है, प्रमुख: रूप से

उदयराज भाटी 1 जिजनियाली 2 भाडली 3 देवड़ा 4 कुंडा 5 सिहडार 6 बईया