बीकानेर जिला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बीकानेर ज़िला
Bikaner district
मानचित्र जिसमें बीकानेर ज़िला Bikaner district हाइलाइटेड है
सूचना
राजधानी : बीकानेर
क्षेत्रफल : 27,244 किमी²
जनसंख्या(2011):
 • घनत्व :
23,67,745
 87/किमी²
उपविभागों के नाम: तहसील
उपविभागों की संख्या: 8
मुख्य भाषा(एँ): हिन्दी, राजस्थानी


बीकानेर ज़िला भारत के राजस्थान राज्य का एक ज़िला है। ज़िले का मुख्यालय बीकानेर है।[1][2]

अन्य आँकड़े व तथ्य[संपादित करें]

ज़िले का साक्षरता दर 65.92% है और एस. टी. डी (STD) कोड 0151 है। यह लगभग अक्षांश 28.01 उत्तर और रेखांश 73.9 पूर्व पर स्थित है। यहा औसत वार्षिक वर्षा 243 मिमी होती है। बीकानेर रेगिस्तानी जिलों में एक है जो उत्तर-पूर्व राजस्थान में हैं। इसके उत्तरी ओर श्रीगंगानगर, पश्चिमी ओर जैसलमेर और पाकिस्तान, चुरु पूर्वी ओर श्री डुंगरगढ और नागोर और जोधपुर दक्षिण-पूर्व में स्थित हैं।

ज़िले के दर्शनिय स्थल[संपादित करें]

  • देशनोक करनी माता का मन्दिर - यह मन्दिर बीकानेर के बसने से पहले बना है। यह चुहो के मन्दिर के नाम से प्रसिद है।
  • मुकाम मंदिर - यह बिश्नोई सम्प्रदाय का मुख्य धार्मिक स्थल है।
  • कतरियासर - जसनाथी सम्प्रदाय के गुरु जसनाथ जी महाराज का मन्दिर जो बिना पानी के बना हुआ है| जाट और सिद्ध जाती के लोग यहा आते हे तथा यहा का अग्नि नरत्य विश्व प्रसिद हैं।
  • चौधरी कॉलोनी - वीर तेजाजी महाराज का मन्दिर की स्थापना सन् 1989 में जाट समाज द्वारा चौधरी कॉलोनी स्थित वीर तेजा मार्ग के पास हुई यह बीकानेर शहर के प्रसिद्ध स्थलों में से एक है।

मौसम[संपादित करें]

जिला का अधिकतम तापमान 48 सेल्सियस और न्यूनतम तापमान शून्य से भी एक डिगरी कम है।

बुनियादी सुविधाएँ[संपादित करें]

बिजली[संपादित करें]

बीकानेर के वर्तमान ग्रिड उप-कार्यस्थलों की क्षमता 62.0 एम०वी०ए० है।

पानी[संपादित करें]

ज़मीन की स्तर से नीचे पानी अरावली के ऊपर, विंध्य से बनने वाले क्षेत्रों में 60 मीटर की गहराई पर मिलता है जो पूर्व और उत्तर की ओर और गहराता है। श्री कोलायत जी में गहराई 100 मीटर से 135 मीटर हो जाती है। आशा की जा रही है कि इंदिरा गाँधी नहर परियोजना से जिले के 188 गाँव और 2.60 मिलयन एकड़ ज़मीन को लाभ पहुँचेगा।

सड़क यातायात[संपादित करें]

जिला धातु की सड़क से अपने सभी आसपास के जिलों से जुड़ा है। राष्ट्रीय राजमार्ग क्र० 11 जो बीकानेर को आगरा से जोड़ता है, बीकानेर ही में आकर रुकता है। जिले में विभिन्न प्रकार की सड़कों की लम्बाई 3,624 किलोमीटर है (जैसाकि 31 मार्च 2000 को जाँचा गया था)।

रेल यातायात[संपादित करें]

जिले में रेल का कुल जालक्रम 300 किलोमीटर तक फैला है। जिला हावड़ा,से दिल्ली, जोधपुर,उदयपुर,जयपुर,श्रीगंगानगर,सूरत, डुंगरगढ,रतनगढ़,आगरा और भटिंडा से ब्रॉडगेज रेलवे लाइन से जुड़ा हुआ है।

हवाई यातायात[संपादित करें]

नाल गाँव में एक हवाई अड्डा बन गया है।

संचार सुविधाएँ[संपादित करें]

डाकघर 221
तारघर 97
दूरभाष केन्द्र 61

औद्योगिक दृश्य[संपादित करें]

बड़े और मझोले उद्योग (सूचना प्राप्त नहीं)
छोटे उद्योग 5,310
औद्योगिक क्षेत्र 8
वर्तमान रूप से मुख्य उद्योग बाथरूप सामग्री, पशु-आहार, कपड़ा, तेल, पापड़, पेंट, लकड़ी के सामान,आदि।

खनिज पदार्थ[संपादित करें]

विभिन्न प्रकार की मिट्टी जैसे कि फ़ायर क्ले, गेरू और खरिया मिट्टी।

बीकानेर की तहसीलें[संपादित करें]

ज़िले में आठ तहसीलें हैं -

  1. नोखा
  2. कोलायत
  3. बीकानेर
  4. लूणकरनसर
  5. श्रीडूंगरगढ़
  6. खाजूवाला
  7. पूगल
  8. छतरगढ़

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Uttar Pradesh in Statistics," Kripa Shankar, APH Publishing, 1987, ISBN 9788170240716
  2. "Political Process in Uttar Pradesh: Identity, Economic Reforms, and Governance," Sudha Pai (editor), Centre for Political Studies, Jawaharlal Nehru University, Pearson Education India, 2007, ISBN 9788131707975