कॉर्पोरेशन बैंक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
चित्र:CorpbankLogo.png
कार्पोरेशन बैंक का प्रतीक चिह्न

कार्पोरेशन बैंक, भारत का एक प्रमुख अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक है। इसकी संस्थापना 12 मार्च 1906 को 'केनरा बैंकिंग कार्पोरेशन (उडुपि) लिमिटेड' के नाम से उडुपि की मंदिर-शहर में क्रान्तदर्शियों के एक समूह के पुरोगामी प्रयत्नों से हुई। सन् 1952 में कार्पोरेशन बैंक ने भारतीय रिजर्व बैंक से अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक होने की अनुज्ञप्ति प्राप्त की व यह भारत का तीसरा अनुसूचित बैंक बन गया।

कार्पोरेशन बैंक का राष्ट्रीयकरण, अप्रैल, 1980 में हुआ।

उदारीकरण के बाद के दौर में वित्तीय क्षेत्र संबंधी सुधारों से उत्पन्न चुनौतियों का कार्पोरेशन बैंक ने सफलता पूर्वक सामना किया। रणनीतिपरक व्यापार योजनाओं एवं नवोन्मेषी कार्या की बदौलत भारत सरकार के स्वामित्व वाले बैंकों में कार्पोरेशन बैंक एक दक्ष, सशक्त, लाभप्रद एवं सदृढ पूँजीकृत बैंक के रूप में उभर कर आया है।

देश के सभी 100 उच्च बैंकिंग केन्द्रों में से सभी केन्द्रों में इसकी शाखाएँ हैं। बैंक में 12465 कर्मचारी काम करते हैं।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]