अनाज

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बाजार में अनाज

अनाज खाद्य कृषि उत्पाद होते हैं, जिन्हें उनके फार के बीज के लिए उत्पादन किया जाता है। ये एकबीजपत्री परिवार से होते हैं। अनाज फलों की परत या पतवार के बिना जुड़ा एक छोटा, कठोर, सूखा बीज होता है, जिसे मानव या पशु उपभोग के लिए प्रयोग में लाया जाता है। वाणिज्यिक अनाज के दो प्रमुख प्रकार खाद्यान्न और फली हैं।


कटाई के बाद, सूखे अनाज अन्य प्रधान खाद्य पदार्थों, जैसे कि स्टार्च वाले फलों और कंदों की तुलना में अधिक टिकाऊ होते हैं। इस स्थायित्व ने अनाज को औद्योगिक कृषि के अनुकूल बना दिया है, क्योंकि उन्हें यंत्रवत तरीके से काटा जा सकता है, रेल या जहाज द्वारा पहुँचाया जा सकता है, भूमिगत कक्ष में लंबे समय तक संग्रहीत किया जाता है, और आटे या तेल बनाने के उपयोग में लाया जाता है। इस प्रकार मक्का, चावल, सोयाबीन, गेहूँ और अन्य अनाजों के लिए प्रमुख वैश्विक वस्तु बाजार मौजूद हैं, लेकिन कंद, सब्जियों या अन्य फसलों के लिए मौजूद नहीं है।

अनाज और खाद्यान्न[संपादित करें]

अनाज और खाद्यान्न, कैरियोप्सिस, घास परिवार के फल का पर्याय हैं। कृषि विज्ञान और वाणिज्य में, अन्य पौधों के परिवारों के बीज या फल यदि वे क्रियोप्स से मिलते जुलते हैं तो उन्हे अनाज कहा जाता है। उदाहरण के लिए, ऐमारैंथ को "अनाज ऐमारैंथ" के रूप में बेचा जाता है, और ऐमारैंथ उत्पादों को "साबुत अनाज" के रूप में वर्णित किया जा सकता है। एंडीज की पूर्व-हिस्पैनिक सभ्यताओं में अनाज आधारित खाद्य प्रणालियां थीं, परन्तु उच्च मानकों पर कोई भी अनाज खाद्यान्न नहीं था। एंडीज के सभी तीन खाद्य प्रजातियां (कनिवा, किवीचा, और क्विन्वा) मक्का, चावल और गेहूं जैसे घास के बजाय चौड़ी पत्ती वाले पौधे हैं।[1]

वर्गीकरण[संपादित करें]

खाद्यान्न[संपादित करें]

खाद्यान्न अनाज के बीज : गेहूं, जई, जौ

सभी खाद्यान्न फसलें घास परिवार (पोएसी) के सदस्य हैं।[2] खाद्यान्न के दानों में स्टार्च पर्याप्त मात्रा में होती है।

गर्मियों के अनाज[संपादित करें]

सर्दियों के अनाज[संपादित करें]

छद्म खाद्यान[संपादित करें]

दलहन[संपादित करें]

दलहन या फली (लैग्यूम) वनस्पति जगत में प्रोटीन का मुख्य स्रोत हैं।

तिलहन[संपादित करें]

तिलहन कि फसल से मुख्य रूप से वनस्पति तेल प्राप्त किया जाता है। वनस्पति तेल आहार ऊर्जा और कुछ आवश्यक वसीय अम्ल प्रदान करते हैं।[3] उनका उपयोग ईंधन और स्नेहक(लूब्रिकेंट) के रूप में भी किया जाता है।[4]

सरसों परिवार[संपादित करें]

एस्टर परिवार[संपादित करें]

सूरजमुखी के बीज

अन्य[संपादित करें]


सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Lost Crops of the Incas: Little-Known Plants of the Andes with Promise for Worldwide Cultivation". Office of International Affairs, National Academies of the. Washington D.C.: National Academy Press. 1989. पृ॰ 24. मूल से 5 दिसंबर 2013 को पुरालेखित.
  2. Vaughan, J. G., C. Geissler, B. Nicholson, E. Dowle, and E. Rice. 1997. The New Oxford Book of Food Plants. Oxford University Press.
  3. Michael EJ Lean (31 March 2006). Fox and Cameron's Food Science, Nutrition & Health. CRC Press. पपृ॰ 49–. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-4441-1337-2. मूल से 1 मार्च 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अप्रैल 2020.
  4. D.K. Salunkhe; R.N. Adsule; J.K. Chavan (29 February 1992). World Oilseeds. Springer Science & Business Media. पपृ॰ 536–. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-442-00112-4. नामालूम प्राचल |coauthors= की उपेक्षा की गयी (|author= सुझावित है) (मदद)