पोलैंड

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
जेच्पोस्पोलिता पोल्स्का पोलैंड गणराज्य
Flag of Poland Poland: Coat of Arms
(विस्तारपूर्वक) (विस्तारपूर्वक)
सूत्रवाक्य: कोई नहीं¹
LocationPoland.png
राजभाषा पोलिश²
राजधानी वारसा
सबसे बड़ा शहर वारसा
राष्ट्रपति ब्रोनिस्लाव कोमोरोव्स्की
प्रधानमंत्री दोनल्द तुस्क्
क्षेत्रफल
 - कुल
 - % जल
६८ वाँ स्थान
३१२,६८५ वर्ग कि.मी.
२.६%
जनसँख्या
 - कुल (२००४)
 - घनत्व
३१ वाँ स्थान
३८,६२६,३४९
१२३.५/वर्ग कि.मी.
सकल घरेलू उत्पाद
 - कुल (२००३)
 - /व्यक्ति
२५ वाँ स्थान
$४२६.७ बिलियन
$११,१००
नामाकरण
 - तिथि
मेइस्जको I
९६६ ईसवी
आज़ादी
 -

११ नवंबर, १९१८
मुद्रा ज्लोती (PLN)
समय क्षेत्र
 -
ग्रिनविच मानक समय+1)
राष्ट्रगीत मजुरेक दाब्रोवस्कीएगो
इंटरनेट डोमेन .pl
कालिंग कोड ४८
1
2

पोलैंड आधिकारिक रूप से पोलैंड गणराज्य एक मध्य यूरोपिय राष्ट्र है। पोलैंड पश्चिम में जर्मनी, दक्षिण में चेक गणराज्य और स्लोवाकिया, पूर्व में युक्रेन, बेलारूस और लिथुआनिया एवं उत्तर में बाल्टिक सागर व रूस के कालिनिनग्राद ओब्लास्ट के द्वारा घिरा हुआ है। पोलैंड का कुल क्षेत्रफ़ल ३ लगभग लाख वर्ग कि.मि. (1.20 लाख वर्ग मील) है, जिससे ये दुनिया का ६९वां व युरोप का ९वां विशालतम राष्ट्र बन जाता है। लगभग 4 करोड़ की जनसंख्या के साथ यह दुनिया का ३३वां सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश बन जाता है।

एक राष्ट्र के रूप में पोलैंड की स्थापना को इसके शासक मिस्जको प्रथम द्वारा ९६६ इसवी में इसाई धर्म को राष्ट्रधर्म बनाने के साथ जोड़ कर देखा जाता है। तत्कालीन समय में पोलैंड का आकार वर्तमान पोलैंड के जैसा ही था। १०२५ में पोलैंड राजाओं के अधीन आया और १५६९ में पोलैंड ने लिथुआनिया के ग्रैंड डचि के साथ मिलकर पोलिश-लिथुआनियन कामनवेल्थ की स्थापना करते हुए एक लंबे रिश्ते की नींव डाली। ये कामनवेल्थ १७९५ में तोड़ दिया गया और पोलैंड को आस्ट्रिया, रूस और प्रुसिया के बीच बांट लिया गया। पोलैंड ने प्रथम विश्व युद्ध के बाद १९१८ में अपनी स्वाधीनता पुनः हसिल की मगर द्वितीय विश्वयुद्ध के समय फ़िर से पराधीन होकर नाजी जर्मनी और सोवियत संघ के अधीन चला गया। द्वितीय विश्वयुद्ध में पोलैंड ने अपने साठ लाख नागरिकों को खो दिया। कई साल बाद पोलैंड रूस से प्रभावित एक साम्यवादी गणराज्य के रूप में ईस्टर्न ब्लॉक में उभरा। १९८९ में साम्यवादी शासन का पतन हुआ और पोलैंड एक नये राष्ट्र के रूप में उभरा जिसे सांविधानिक तौर पे "तृतीय पोलिश गणतंत्र" कहा जाता है।

पोलैंड एक स्वयंशासित स्वतंत्र राष्ट्र है जो कि सोलह अलग-अलग वोइवोदेशिप या राज्यों (पोलिश : वोजेवद्ज़्त्वो) को मिलाकर गठित हुआ है। पोलैंड यूरोपीय संघ, नाटो एवं ओ.ई.सि.डी का सदस्य राष्ट्र है।

इतिहास[संपादित करें]

प्रागैतिहासिक काल में यहाँ स्लाव लोग रहते थे। यह अभी भी चर्चा का विषय है कि स्लाव लोग यहाँ कब से रहते थे। प्राचीन पोल स्वेतोवित धर्म और संस्कृति का हिस्सा थे।


पोलैंड के राजनैतिक इतिहास की शुरुआत सन् 966 में मिएश्को के ईसाईयत स्वीकार करने के साथ शुरु होती है। पिआस्त राजवंश के लोग कई सालों से अपने साम्राज्य को बड़ा कर रहे थे। मिएश्को के ईसाइयत में परिणत होने के बाद कैथोलिक धर्म को राजधर्म बनाया गया। आने वाले दशकों में लोगों ने ईसाई धर्म स्वीकार कर लिया। सन् 1109 में बोरेस्लाव तृतीय ने हंड्सपैल्ड ने जर्मनी के राजा हेनरी पंचम को हरा दिया। 1138 में पिअस्त शासन टुकड़ों में विभाजित हो गया। सन् 1230 के दशक में मंगोल आक्रमण से पोलैंड हार गया।

सन् 1380-1569 तक जगालोनी वंश ने शासन किया। इस समय एक पोल-लिथुआन संस्कृति और सैनिक बंधन का आरंभ हुआ। पंद्रहवी और सोलवीं सदी में उस्मानी तुर्क दक्षिण से आक्रांत रहे। क्रीमिया के तार्तारों से भी आक्रमण जारी रहे। इस दौरान कई पोलों को ग़ुलामी और दास व्यापार का शिकार बनना पड़ा। सन् 1569 में लुब्लिन के सम्मेलन में पोल-लिथुआनियाई राष्ट्रकुल का जन्म हुआ। सन् 1648 के कोस्साक विद्रोह के बाद पूर्वी और दक्षिणी भाग पर रूसी ज़ारों का शासन स्थापित हो गया। कारा मुस्तफ़ा की इस्लामिक सेना के आक्रमण से बचाने में पोलों ने बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। अठारहवीं सदी में इस राष्ट्रकुल का विभाजन दो बार हुआ। कई बार इस विभाजन के खिलाफ विद्रोह भी हुए।

सन् 1830 और 1863 में रूसी ज़ारशाही के ख़िलाफ बग़ावत हुई। प्रथम विश्वयुद्ध के बाद पोलैंड रूसी शासन से बाहर आ गया। 1919-21 के दौरान पोल सेना ने रूसी लाल सेना को वारसॉ में हराया। इस घटना को कई विज्ञ साम्यवाद के प्रसार का ठहराव मानते हैं। इसके बाद लेनिन के साम्यवादी नीतियों में परिवर्तन नज़र आया था। द्वितीय विश्वयुद्ध में नाज़ी जर्मन सेना ने पौलैंड पर अधिकार कर यहाँ कई अंतकरण शिविर खोले थे जहाँ यहूदियों, रोमा, समलैंगिकों तथा राजनैतिक विरोधियों को मारा जाता था। आश्वित्ज़ भी पोलैंड में ही था।

विश्वयुद्ध के बाद पोलैंड रूसी साम्यवादी सरकार के साथ रहा। 1989 में सोवियत संघ के विढटन के बाद नई सरकार का गठन हुआ। आज पौलैंड नाटो का हिस्सा है और 2003 के इराक की नैटो चढ़ाई में इसकी एक महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

भूगोल[संपादित करें]

पोलैंड का भूभाग विभिन्न भौगोलिक क्षेत्रों में बंटा हुआ है। इसके उत्तर-पश्चिमी भाग में बाल्टिक तट अवस्थित है जो कि पोमेरेनिया की खाड़ी से लेकर ग्डान्स्क के खाड़ी तक विस्तृत है।

नदियां[संपादित करें]

पोलैंड की बडी नदियों में विस्तुला (पोलिश: इस?अ), १,०४७ कि.मि (६७८ मिल); ओडेर (पोलिश: ऒद्र) - जो कि पोलैंड कि पश्चिमी सीमा रेखा का एक हिस्सा है - ८५४ कि.मी. (५३१ मील); इसकी उपनदी, वार्टा, ८०८ कि.मी. (५०२ मील) और बग - विस्तुला की एक उपनदी-७७२ कि.मी. (४८० मील) आदि प्रधान हैं। पोमेरानिया दूसरी छोटी नदियों की भांति विस्तुला और ओडेर भी बाल्टिक समुद्र में पडते हैं। हालांकि पोलैंड की ज्यादातर नदियां बाल्टिक सागर मे गिरती हैं पर कुछेक नदियां जैसे कि डैन्यूब आदि काला सागर में समाहित होती हैं।

पोलैंड की नदियों को पुरा काल से परिवहन कार्य में इस्तेमाल किया जाता रहा है। उदाहरण स्वरूप वाईकिंग लोग उनके मशहूर लांगशिपों में विस्तुला और ओडेर तक का सफर तय करते थे। मध्य युग और आधुनिक युग के प्रारम्भिक कालों में, जिस समय पोलैंड-लिथुआनिया युरोप का प्रमुख खाद्य उत्पादक हुआ करता था, खाद्यशस्य और अन्यान्य कृषिजात द्र्व्यों को विस्तुला से ग्डान्स्क और आगे पूर्वी युरोप को भेजा जाता था जो कि युरोप की खाद्य कडी का एक महत्वपूर्ण अंग था।

भूव्यवस्था[संपादित करें]

पोलैंड का तकरीबन २८% भूभाग जंगलों से ढंका है। देश की तकरिबन आधी जमीन कृषि के लिए इस्तेमाल की जाती है। पोलैंड के कुल २३ जातीय उद्यान ३,१४५ वर्ग कि.मी. (१,२१४ वर्ग मील) की संरक्षित जमिन को घेरते हैं जो पोलैंड के कुल भूभाग का १% से भी ज्यादा है। इस दृष्टि से पोलैंड समग्र युरोप में अग्रणी है। फिलहाल मासुरिया, काराको-चेस्तोचोवा मालभूमि एवं पूर्वी बेस्किड में टिन और नये उद्यान बनाने का प्लान है।

Poland CIA map PL.png
EU location POL.png

Poland Tourism[संपादित करें]

16./17.

नज़ारे[संपादित करें]