बुल्गारिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
बुल्गारिया गणतंत्र
Република България
Republika Balgariya
बुल्गारिया का ध्वज बुल्गारिया का कुल चिन्ह
ध्वज कुल चिन्ह
राष्ट्रवाक्य: बुल्गारियन: Съединението прави силата
(हिंदी: "एकता से शक्ति")
राष्ट्रगान: Mila Rodino
("प्यारी जन्मभूमि")
बुल्गारिया की स्थिति
राजधानी
(और सबसे बड़ा शहर)
सोफिया
42°41′ N 23°19′ E
राजभाषा(एँ) बुल्गारियन
सरकार संसदीय लोकतंत्र
 • राष्ट्रपति
 • प्रधानमंत्री
ज्योर्जी प्रावानोव (बीएसपी)
सेर्गी स्टेनिशेव (बीएसपी)
क्षेत्रफल
 - कुल 111,001.9 वर्ग किमी (102वां)
42,858 वर्ग मील
 - जल(%) 0.3%
जनसंख्या
 - 2005 अनुमान 7,761,000 (92वां)
 - 2001 जनगणना 7,932,984 [1]
 - जन घनत्व 67वां/वर्ग किमी (100वां)
174/वर्ग मील
सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) (पीपीपी) 2005 अनुमान
 - कुल $62.292 बिलियन (64वां)
 - प्रति व्यक्ति $9,223 (66वां)
मानव विकास सूचकांक  (2003) 0.808 ({{{HDI_ref}}}) (55वां)
मुद्रा लेव (BGN)
समय मंडल EET (यूटीसी +2)
 - ग्रीष्म (DST) EEST (यूटीसी +3)
इंटरनेट टीएलडी .bg
दूरभाष कोड +359

बुल्गारिया दक्षिण-पूर्व यूरोप में स्थित देश है, जिसकी राजधानी सोफ़िया है। देश की सीमाएं उत्तर में रोमानिया से, पश्चिम में सर्बिया और मेसेडोनिया से, दक्षिण में ग्रीस और तुर्की से मिलती हैं। पूर्व में देश की सीमाएं काला सागर निर्धारित करती है। कला और तकनीक के अलावा राजनैतिक दृष्टि से भी बुल्गारिया का वजूद पांचवीं सदी से नजर आने लगता है। पहले बुल्गारियन साम्राज्य (632/681 - 1018) ने न केवल बाल्कन क्षेत्र बल्कि पूरे पूर्वी यूरोप को अनेक तरह से प्रभावित किया। बुल्गारियन साम्राज्य के पतन के बाद इसे ओटोमन शासन के अधीन कर दिया। 1877-78 में हुए रुस-तुर्की युद्ध ने बुल्गारिया राज्य को पुन: स्थापित करने में मदद की। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद बुल्गारिया साम्यवादी राज्य और पूर्वी ब्लाक का हिस्सा बन गया। 1989 में क्रांति के बाद 1990 में साम्यवादियों का सत्ता से एकाधिकार समाप्त हो गया और देश संसदीय गणराज्य के रूप में आगे बढ़ने लगा। यह देश 2004 से नाटो का और 2007 से यूरोपियन यूनियन का सदस्य है।

इतिहास[संपादित करें]

बुल्गारिया जो यूनान और इस्तांबुल के उत्तर में बसा है मानव बसाव की दृष्टि से बहुत पुराना है। मोंटाना के पास 6800 साल पुराना एक पट्टिकालेख पाया गया है जिसमें चार पंक्तियों में कुछ 24 चिह्न बने पाए गए हैं - इसको पढ़ पाना अभी संभव नहीं हुआ है पर इससे ये अनुमान लगता है कि यहाँ उस समय से मानव रहते होंगे। सन् 1972 में काला सागर के तट पर स्थित वार्ना में सोने का ख़ज़ाना पाया गया था जिसपर राजसी चिह्न बने थे जिससे ये अनुमान लगता है कि बहुत पुराने समय में भी यहाँ कोई राज्य या सत्ता रही होगी - हाँलांकि इस राज्य के जातीय मूल का पता नहीं चल पाया है।

सामान्यतया थ्रेसियों को बुल्गारों का पूर्ववर्ती माना गया है। थ्रेस के लोगों ने ट्रॉय की लड़ाई (1200 ईसापूर्व के आसपास) में हिस्सा लिया था। इसके बाद 500 ईसापूर्व तक उनका एक साम्राज्य स्थापित हुआ था। सिकन्दर ने 332 ईसापूर्व में इसपर अधिकार कर लिया और 46 इस्वी में रोमनों ने। इसके बाद एशिया से कई समूहों का आगमन आरंभ हुआ। स्लाव जाति के लोगों ने 581 में बिज़ेन्टाइन के रोमन साम्राज्य के साथ शांति समझौते पर हस्ताक्षर कर लिया। सन् 864 में बोरिस प्रथम ने परंपरावादी ईसाइयत को राजधर्म बनाया और सीरीलिक लिपि को अपना लिया। अरबों की सेनाओं को हरा दिया गया।

सन् 1018 तक बुल्गार साम्राज्य का अंत बिज़ेन्टाइन आक्रमणों से हो गया। सन् 1185 से 1360 तक दूसरे बुल्गार साम्राज्य का राज्य रहा। उसके बाद उस्मानी (औटोमन) तुर्क लोगों ने इस पर अधिकार कर लिया। सन् 1877 में रूस ने ऑटोमन साम्राज्य पर हमला कर दिया और उन्हें हरा दिया। सन् 1878 में तीसरे बुल्गार साम्राज्य का उदय हुआ। 1980 में तुर्कों के ख़िलाफ़ चलाए गए अभियान में 30000 तुर्क बुल्गारिया छोड़कर तुर्की चले गए। इससे दो दशक पहले ग्रीस में भी ऐसा ही अभियान चला था। 1989 में वहाँ कम्युनिस्ट पार्टी की नरम शाखा का शासन स्थापित हुआ।

यह भी देखिए[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]