गाम्बिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
गाम्बिया गणराज्य
Republic of The Gambia
गाम्बिया का ध्वज
ध्वज
राष्ट्रवाक्य: "उन्नति, शान्ति और समृद्धि"
राष्ट्रगान: For The Gambia Our Homeland
हमारी गृहभूमि गाम्बिया के लिए
गाम्बिया की स्थिति
राजधानी बांजुल
13°28′ N 16°36′ O
सबसे बडा़ नगर सेरीकुन्दा
राजभाषा(एँ) अंग्रेजी
सरकार गणराज्य
 - राष्ट्रपति याहया जामेह
स्वतंत्रता  
 - ब्रिटेन १८ फरवरी १९६५ 
 - गणराज्य घोषित २४ अप्रैल १९७० 
क्षेत्रफल
 - कुल १०,३८० वर्ग किमी (१६४ वां)
४,००७ वर्ग मील
 - जल(%) ११.५
जनसंख्या
 - २००७ संयुक्त राष्ट्र संघ अनुमान १७,००,००० (१४६ वां)
 - जन घनत्व १५३.५/वर्ग किमी (७४ वां)
३९७.६/वर्ग मील
सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) (पीपीपी) २००८ अनुमान
 - कुल २.२६४ अरब डॉलर (-)
 - प्रति व्यक्ति १,३८९ $ (-)
मानव विकास सूचकांक  (२००६) Green Arrow Up Darker.svg ०.४७१ ({{{HDI_ref}}}) (१६० वां)
मुद्रा डालासी (GMD)
समय मंडल जीएमटी (यूटीसी )
इंटरनेट टीएलडी .gm
दूरभाष कोड +२२०

गाम्बिया (आधिकारिक रूप से गाम्बिया गणराज्य), पश्चिमी अफ्रीका में स्थित एक देश है। गाम्बिया अफ्रीकी मुख्य भूमि पर स्थित सबसे छोटा देश है, इसकी उत्तरी, पूर्वी और दक्षिणी सीमा सेनेगल से मिलती है, पश्चिम में अन्ध महासागर से लगा छोटा सा तटीय क्षेत्र है। देश का नाम गाम्बिया नदी पर से पड़ा है, जिसके प्रवाह के रास्ते इसकी सीमा लगी हुई है। नदी देश के मध्य से होते हुए अन्ध महासागर में जाकर मिल जाती है। लगभग १०,५०० वर्ग किमी क्षेत्रफल वाले इस देश की अनुमानित जनसंख्या १७,००,००० है। १८ फरवरी, १९६५ को गाम्बिया ब्रिटेन से स्वतन्त्र हुआ और राष्ट्रमण्डल में सम्मिलित हो गया। बांजुल गाम्बिया की राजधानी है, लेकिन सबसे बड़ा महानगर सेरीकुंदा है।

गाम्बिया अन्य पश्चिम अफ़्रीकी देशों के साथ एतिहासिक दास व्यापार का एक भाग था, जो गाम्बिया नदी पर उपनिवेश स्थापित करने का एक प्रमुख कारण था, प्रथम पुर्तगालियों द्वारा और बाद में अंग्रेज़ों द्वारा। १९६५ में स्वतन्त्रता प्राप्त करने के बाद, गाम्बिया अपेक्षाकृत स्थिर देश रहा है, केवल १९९४ में सैन्य शासन की एक संक्षिप्त अवधि के अपवाद को छोड़कर।

यह एक कृषि सम्पन्न देश है, और देश की अर्थव्यस्था में खेती-बाड़ी, मत्स्य-ग्रहण, और पर्यटन-उद्योग की प्रमुख भूमिका है। लगभग एक तिहाई जनसंख्या अन्तर्राष्ट्रीय गरीबी रेखा की सीमा १.२५ डॉलर प्रतिदिन से नीचे रहती है।[1]

इतिहास[संपादित करें]

वर्तमान गाम्बिया कभी घाना साम्राज्य और सोंघाई साम्राज्य का भाग था। इस क्षेत्र के प्रथम लिखित दस्तावेज नवीं और दसवीं शताब्दियों में अरब व्यापारियों द्वारा लिखे गए थे। अरब व्यापारियों ने इस क्षेत्र में दासों, सोने, और हाथी-दाँत के व्यापार के लिए ट्रांस-सहारा व्यापार मार्ग की स्थापना की थी। पंद्रहवी सदी में पुर्तगालियो ने समुद्री व्यापार मार्गों की स्थापना की। उस समय गाम्बिया, माली साम्राज्य का भाग था।

गाम्बिया यूनाइटेड किंगडम का उपनिवेश था व 18 फ़रवरी 1965 को इसे स्वतंत्रता प्राप्त हुई। 24 अप्रैल 1970 को देश गणतंत्र बन गया परन्तु इसने अपनी राष्ट्रमण्डल की सदस्यता बरकरार रखी। 2 अक्टूबर 2013 को देश के आंतरिक मंत्री ने घोषणा की कि उनका देश तत्काल प्रभाव से राष्ट्रमण्डल की सदस्यता छोड़ रहा है क्योंकि उनके अनुसार देश "औपनिवेशवाद को बनाए रखने वाली किसी भी संस्था" में सदस्य के तौर पर नहीं रह सकता।[2]


भूगोल[संपादित करें]

गाम्बिया का मानचित्र

गाम्बिया एक बहुत छोटा और संकरा देश है जिसकी सीमाएँ विसर्पन करती गाम्बिया नदी का प्रतिबिम्बन हैं। सबसे चौड़े स्थान पर भी देश ४८ किमी से कम चौड़ा है, और देश का कुल क्षेत्रफल ११,३०० किमी है। गाम्बिया का लगभग १,३०० वर्ग किमी या ११% भाग जल अच्छादित है। गाम्बिया, सेनेगल का लगभग एक अन्तःक्षेत्र (एन्क्लेव) है और इसकी ७४० किमी की पूरी सीमा सेनेगल से लगती है। यह अफ़्रीकी महाद्वीप पर सबसे छोटा देश है। तुलनात्मक रूप से गाम्बिया भारत के त्रिपुरा राज्य से थोड़ा बड़ा है। देश की पश्चिमी सीमा अन्ध या अटलाण्टिक महासागर से लगती हुई है और इसकी तटरेखा ८० किमी लम्बी है।[3]

गाम्बिया की सामान्य जलवायु उष्णकटिबन्धीय है। जून से नवम्बर तक के दौरान देश में ग्रीष्म ऋतु होती है और यह वर्षा-काल भी होता है। नवम्बर से मई तक, तापमान अपेक्षाकृत कम होता है जलवायु शुष्क होती है। गाम्बिया का मौसम पड़ोस के सेनेगल, दक्षिणी माली, और उत्तरी बेनिन के समान होता है।[4]

इस देश की वर्तमान सीमाएँ १८८९ में ब्रिटेन और फ़्रांस के बीच हुए एक समझौते के बाद निर्धारित की गई थी। पैरिस में अंग्रेज़ों और फ़्रांसीसीयों के मध्य हुई वार्ता के बाद, फ़्रांसीसीयों ने अंग्रेज़ों को आरम्भ में गाम्बिया नदी का ३२० किमी का भाग नियन्त्रण के लिए दिया। १८९१ में आरम्भ हुए सीमाकन से पैरिस वार्ता के पन्द्रह वर्षों बाद जाकर गाम्बिया की समापक सीमाओं का निर्धारण हुआ। सीधी रेखाओं और वृतांशों की श्रृंखलाओं के परिणामस्वरूप अंग्रेजों उन क्षेत्रों का नियन्त्रण मिला जो गाम्बिया नदी के उत्तर और दक्षिण में १६ किमी तक फैला हुआ था।[5]

राजनीति[संपादित करें]

राष्ट्रप्रमुख: राष्ट्रपति याहया जामेह (१८ अक्तूबर १९९६ से)। गाम्बिया में देश का राष्ट्रपति, राष्ट्रप्रमुख और सरकार प्रमुख दोनों होता है।

सरकार प्रमुख: राष्ट्रपति याहया जामेह (१८ अक्तूबर १९९६ से)।

उप राष्ट्रपति: इसातोउ जिए-सैदी (२० मार्च १९९७)

मन्त्रीपरिषद: मन्त्रीपरिषद राष्ट्रपति द्वारा स्वीकृत की जाती है।

चुनाव: राष्ट्रपति का चुनाव लोकप्रिय मत द्वारा पाँच वर्षीय अवधि के लिए किया जाता है (कार्यकाल की कोई सीमा नहीं है); अंतिम चुनाव २२ सितंबर, २००६ को आयोजित किए गए थे (अगले २०११ में)

चुनाव परिणाम: याहया जामेह पुनः राष्ट्रपति चुने गए; मत प्रतिशत - याहया जामेह ६७.३%, ओसैनोउ २६.६%, हालिफ़ा सल्लाह ६.०%।

गाम्बिया में १८ वर्ष से ऊपर के सभी गाम्बियाई नागरिक मतदान कर सकते हैं।

प्रशासनिक प्रभाग[संपादित करें]

गाम्बिया के प्रशासनिक प्रभाग

गाम्बिया पाँच प्रभागों और एक नगर में विभक्त है। गाम्बिया के विभाग स्वतंत्र चुनाव आयोग द्वारा संविधान की धारा १९२ के अनुसार किए गए थे।[6] ये विभाग हैं:

  • निम्न नदी (मांसा कोंको)
  • मध्य नदी (जानजानबुरे)
  • उत्तरी किनारा (केरेवन)
  • ऊपरी नदी (बासे)
  • पश्चिमी (ब्रिकामा)
  • बांजुल (पूर्वी बांजुल, बांजुल, केन्द्रीय बांजुल, बाकाउ, पश्चिमी बांजुल, सेरेकुन्दा)

राष्ट्रीय राजधानी, बांजुल, का वर्गीकरण नगर के रूप में होता है।

यह विभाग और ३७ उप-विभागों में विभक्त हैं।

प्रमुख नगर[संपादित करें]

बांजुल का एक दृश्य

गाम्बिया के प्रमुख नगर हैं:

जनसांख्यिकी[संपादित करें]

गाम्बिया में बहुत से मूल समूह रहते आए हैं और उनके बीच आपसी मतभेद बहुत कम हैं, और प्रत्येक समूह अपनी भाषा और परम्पराओं को सहेजे हुए है। इनमे सबसे विशाल समूह मान्दिका जनजाति है, इसके बाद क्रमशः फूला, वोलोफ, जोला, और सेराहूले जनजातियाँ हैं। देश में लगभग ३,५०० अन-अफ़्रीकी भी रहते हैं (जनसंख्या का ०.२३%) जिनमें यूरोपीय और लेबनानी मूल के लोग हैं। अधिकांश यूरोपीय ब्रितानी हैं, और इसमें से अधिकांश ने स्वतन्त्रता के बाद देश छोड़ दिया।

देश की ९०% प्रतिशत जनसंख्या इस्लाम धर्म की अनुयायी है और शेष में से अधिकांशतः ईसाई धर्मावलम्बी हैं।

एक गाम्बियाई महिला और बच्चा

गाम्बिया की लगभग ६३% जनसंख्या (१९९३ की जनगणना) ग्रामीण क्षेत्रों मे निवास करती है, लेकिन अधिक से अधिक युवा नौकरी और शिक्षा की खोज में राजधानी और अन्य बड़े नगरों की ओर पलायन कर रहे हैं। २००३ के अनंतिम आँकड़ों से यह पता लगता है की ग्रामीण और नगरीय क्षेत्रों की जनसंख्यायों का अंतर पट रहा है क्योंकि अधिक से अधिक क्षेत्रों को नगरीय क्षेत्र घोषित किया जा रहा है। नगरों की ओर होते पलायन, विकास परियोजनाओं, और आधुनिकीकरण के चलते अधिक से अधिक गाम्बियाई पश्विमी संस्कृति के संपर्क में आ रहे हैं लेकिन पारंपरिक रूप से विस्तरित परिवार पर बल, और देशावरी पोशाक और उत्सव, अभी भी दैनिक जीवन का अभिन्न अंग हैं।

स्वास्थ्य सेवाएँ[संपादित करें]

सार्वजनिक व्यय २००४ में सकल घरेलू उत्पाद का १.८% था, जबकि निजी व्यय ५.०% था। बाल मृत्यु दर वर्ष २००५ में ९७ प्रति १,००० जन्म थी। २००० के आरंभ में प्रति १,००,००० लोगों पर ११ चिकित्सक थे। वर्ष २००५ में जीवन प्रत्याशा महिलाओं के लिए ५९.९ वर्ष और पुरुषों के लिए ५७.७ वर्ष थी।

अर्थव्यवस्था[संपादित करें]

गाम्बिया एक उदारवादी, बाज़ार-आधारित अर्थव्यवस्था है जिसमें देश के कृषि क्षेत्र का बहुत योगदान है। कृषि-क्षेत्र देश की अर्थव्यवस्था में ३०% का योगदान करता है और देश की ७०% प्रतिशत जनसंख्या कृषि क्षेत्र में अनुलग्न है। देश की जीडीपी में मूँगफली उत्पादन का ६.९%, अन्य फसलों का ८.३%, मवेशियों का ५.३%, मत्स्य-ग्रहण का १.८%, और वानिकी का ०.५% योगदान है। उद्योगों का अर्थव्यवस्था में ८% योगदान है और इस क्षेत्र में ५८% प्रतिशत लोग कार्यरत हैं। देश का सीमित निर्माण-क्षेत्र मुख्यतः कृषि आधारित है जैसे मूँगफली प्रक्रमण, नानबाई (बेकरी), मद्यनिर्माणशाला (ब्रूरी), और चर्मशोधनशाला इत्यादि। अन्य निर्माण गतिविधियाँ है साबुन, पेय-पदार्थ, और वस्त्र-निर्माण।

धर्म[संपादित करें]

गाम्बिया में एक मस्जिद

संविधान की धारा २५ के अन्तर्गत गाम्बिया में सरकार देश के सभी नागरिकों के धार्मिक अधिकारों की रक्षा के प्रति कटिबद्ध है। सरकार द्वारा किसी भी राष्ट्र धर्म की स्थापना नहीं की गई। इस्लाम धर्म गाम्बिया का प्रमुख धर्म है और देश की ९०% जनसंख्या इस धर्म की अनुयायी है। गाम्बिया के अधिकांश मुसलमान, इस्लाम के सुन्नी साम्प्रदाय के अनुयायी हैं।

देश में ईसाई धर्म के लोग ८% के लगभग हैं जिनमें से अधिकांश रोमन कैथलिक हैं। एशिया से हुए आव्रजन के कारण देश में बौद्ध और बहाई धर्म के लोग भी रहते हैं। शेष २% जनसंख्या आधिवासी धर्मों को मानने वाली है और देश में कुछ आस्तिक भी पाए जाते है।

भाषा[संपादित करें]

ब्रिटिश उपनिवेशवाद के कारण अंग्रेज़ी गाम्बिया की आधिकारिक भाषा है। इसके अतिरिक्त यहाँ बहुत-सी अन्य भाषाएँ भी यहाँ के मूल निवासियों द्वारा बोली जाती हैं जैसे: आकू, कैंजिन भाषाएँ, फूला, कारोन, वोलोफ़ इत्यादि।

शिक्षा[संपादित करें]

गाम्बिया में एक कक्षा

संविधान के अनुसार देश में सभी के लिए निशुल्क और प्रार्थमिक शिक्षा अनिवार्य है लेकिन संसाधनों और शैक्षणिक ढाँचे की कमी के कारण इसका कार्यान्वन कठिन है।[7] वर्ष १९९५ में सकल प्राथमिक नामांकन ७७.१% था और कुल प्रार्थमिक नामांकन ६४.७% था। विद्यालयों के ऊँचे शुल्क के कारण बहुत से बच्चे विद्यालयों में प्रवेश से वंचित रह गए, लेकिन फरवरी १९९८ में गाम्बिया के राष्ट्रपति द्वारा प्रार्थमिक शिक्षा के प्रथम छः वर्षों के लिए शिक्षा-शुल्क को समाप्त कर दिया गया। प्रार्थमिक-शिक्षा विद्यालयों में लड़कियों का प्रतिशत ४० है लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में यह आँकड़ा बहुत कम है जहाँ पर सांस्कृतिक कारणों और निर्धनता के कारण बहुत से मातापिता लड़कियों को पाठशाला भेजने में अरुचिकर होते हैं। लगभग २०% पढ़ने-की-आयुवर्ग के बच्चे मदरसों में पढ़ते हैं जहाँ का पाठ्यक्रम प्रतिबंधक होता है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. (अंग्रेज़ी) मानव विकास सूचकांक, तालिका ३: मानव और वेतनिक निर्धनता, पृ. ३५. १ जून २००९ को अभिगमित
  2. "राष्ट्रमंडल से बाहर हुआ गाम्बिया". नवभारत टाइम्स. 3 अक्टूबर 2013. http://navbharattimes.indiatimes.com/world/other-countries/gambia-exited-from-commonwealth/articleshow/23442667.cms. अभिगमन तिथि: 5 अक्टूबर 2013. 
  3. गाम्बिया - भूगोल सीआईए वर्ल्ड फैक्टबुक
  4. पश्चिमी अफ़्रीका का मौसम डेरेक हेवर्ड, जे एस ओगुन्तोयिन्बो (१९८७)
  5. द वर्ल्ड एण्ड अ वेरी स्मॉल प्लेस इन एफ़्रिका: अ हिस्ट्री ऑफ़ ग्लोबलाइज़ेसन इन नियूमी, गैम्बिया डॉन्लड आर राइट
  6. गाम्बिया - सरकार सीआईए वर्ल्ड फैक्टबुक
  7. गाम्बिया - बाल श्रम के सबसे बुरे स्वरूप पर २००१ के विष्कर्ष परिणाम।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सरकार
सामान्य जानकारी
पर्यटन
अन्य