स्थैतिकी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
स्थैतिक संतुलन में स्थित एक धरन (बीम) - सभी बलों का योग शून्य है; इसी प्रकार सभी आघूर्णों का योग भी शून्य है।

स्थैतिकी या स्थिति विज्ञान (Statics) यांत्रिकी की वह शाखा है जिसमें भौतिक वस्तुओं पर लगे लोडों (बलों एवं आघूर्णों) की उपस्थिति में उसके स्थैतिक संतुलन (static equilibrium) का अध्ययन किया जाता है।

संतुलन के समीकरण[संपादित करें]

चिरसम्मत यांत्रिकी
\mathbf{F} = m \mathbf{a}
न्यूटन का गति का द्वितीय नियम
इतिहास · समयरेखा
इस संदूक को: देखें  संवाद  संपादन

सभी वाह्य बलों का सदिश योग शून्य होता है।

\sum {\vec{F}_{ext}} = {\vec{0}}

किसी बिन्दु A के सापेक्ष सभी बलों के आघूणों का सदिश योग शून्य होता है।

\sum {\vec{M}_{\vec{F}} (A)} = {\vec{0}}

स्थैतिक समस्याओं से विभिन्न मॉडल[संपादित करें]

  • बिन्दु का स्थितिविज्ञान (Statics of Points)
  • ठोसों का स्थितिविज्ञान (Statics of Solids)
  • मेकैनिज्मों का स्थितिविज्ञान (Statics of Mechanisms)
  • विकृत किये जाने योग्य ठोसों का स्थितिविज्ञान (Statics of Deformable Solids)
  • द्रवस्थैतिकी (Hydrostatics)
  • सतत माध्यमों का स्थितिविज्ञान (Statics of Contineous media)

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]