सरकार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सरकार कुछ निश्चित व्यक्तियों का समूह होती है जो राष्ट्र तथा राज्यों में निश्चित काल के लिए तथा निश्चित पद्धति द्वारा शासन करता है। प्रायः इसके तीन अंग होते हैं - व्यवस्थापिका, कार्यपालिका तथा न्यायपालिका[1][2] सरकार के माध्यम से राज्य में राजशासन नीति लागू होती है। सरकार के तंत्र का अभिप्राय उस राजनितिक व्यवस्था से होता है जिसके द्वारा राज्य की सरकार को जाना जाता है।
राज्य निरन्तर बदलती हुयी सरकारों द्वारा प्रशासित होते हैं।[3] हर नई सरकार कुछ व्यक्तियों का समूह होती है जो राजनितिक फ़ैसले लेती है या उनपर नियन्त्रण रखती है। सरकार का कार्य नए कानून बनाना, पुराने कानूनों को लागू रखना तथा झगड़ों में मध्यस्थता करना होता है। कुछ समाजों में यह समूह आत्म-मनोनीत या वंशानुगत होता है। बाकी समाजों में, जैसे लोकतंत्र, राजनितिक भूमिका का निर्वाह निरन्तर बदलते हुये व्यक्तियों द्वारा किया जाता है।[4]
संसदीय पद्धति में सरकार का अभिप्राय राष्ट्रपतीय पद्धति के अधिशासी शाखा से होता है। इस पद्धति में राष्ट्र में प्रधान मन्त्री एवं मन्त्री परीषद् तथा राज्य में मुख्य मन्त्री एवं मन्त्री परीषद् होते हैं। पाश्चात् देशों में सरकार और तंत्र में साफ़ अन्तर है। जनता द्वारा सरकार का दोबारा चयन न करना इस बात को नहीं दर्शाता है कि जनता अपने राज्य के तंत्र से नाख़ुश है। लेकिन कुछ पूर्णवादी शासन पद्धतियों में यह भेद इतना साफ़ नहीं है। इसका कारण यह है कि वहाँ के शासक अपने फ़ायदे के लिये यह लकीर मिटा देते हैं।[5]

सरकार के विभिन्न स्वरुप [संपादित करें]

निरंकुश राज्यशासन[संपादित करें]

कुलीनतंत्र[संपादित करें]

लोक-तंत्र[संपादित करें]

गणतंत्र[संपादित करें]

संघवाद[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "government". Oxford English Dictionary (Online संस्करण). Oxford University Press. November 2010.
  2. Bealey, Frank, संपा॰ (1999). "government". The Blackwell dictionary of political science: a user's guide to its terms. Wiley-Blackwell. पृ॰ 147. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780631206958.
  3. Flint, Colin & Taylor, Peter (2007). Political Geography: World Economy, Nation-State, and Locality (5th संस्करण). Pearson/Prentice Hall. पृ॰ 137. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-13-196012-1.
  4. Barclay, Harold (1990). People Without Government: An Anthropology of Anarchy. Left Bank Books. पृ॰ 31. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 1871082161.
  5. Holsti, Kalevi Jaako (1996). The state, war, and the state of war. Cambridge University Press. पपृ॰ 84–85. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780521577908.