वहाबी आन्दोलन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

वहाबी सम्प्रदाय (अरबी : وهابية‎, Wahhābiyyah) इस्लाम की एक शाखा है जिसका स्वभाव अत्यन्त कट्टर है। विश्व के अधिकांश वहाबी कतर, सउदी अरब और यूएई के निवासी हैं। सउदी अरब के लगभग 92% लोग वहाबी हैं। मुस्लिम धर्म का पहला सुधारवादी आंदोलन के नाम पर था मुसलमानों की पाश्चात्य प्रभावों के विरुद्ध हिंसक प्रतिक्रिया जो हुई उसे वहाबी आंदोलन के नाम से जाना जाता है बहावी थ(1786-1831 ई.) था। अब्दुल वहाब नज्दी जो कि अरब का एक कुख्यात लुटेरा था ने दूसरे गिरोह के साथ मक्का सऊदी अरब पर हमला किया ज्ञात रहे कि इससे पहले तुर्की मक्का के देखरेख करता था वहाब ने तुर्की के सभी 300 सेवादारों को मक्का काबा के भीतर मार दिया और सऊदी पर कब्ज़ा कर लिया फिर दूसरे गिरोह को राज चलाने और खुद को शरीयत चलाने पर सहमति के साथ आज तक दोनों गिरोह काबिज़ है इसके बाद इज़राइल ने इस गिरोह के माध्यम से इस्लाम में फिरकापरस्ती को बढ़ावा देने के लिए इसको अपना प्लान दिया जिसपर चलते हुए आज इस्लाम मे 70 से ज़्यादा फिरके हो चुके है, वहाबी विचारधारा में किसी भी तरह से पूरी दुनिया मे वहाबी विचारधारा को स्थापित करना है

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]