दावाह

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

दावाह या दावह; (अरबी : دعوۃ) यह एक अरबी शब्द है। इस शब्द को फ़ारसी और उर्दू में दावत (دعوت) उच्छार करते हैं। इस शब्द के अनेक अर्थ हैं। मूल या स्थूल रूप से इसका अर्थ "आमंत्रण" है। अनेक जगहों और अवसरों पर इसका अर्थ मूल रूप वही रह कर भी थोडा बदला सा रहता है।

धर्म प्रचार[संपादित करें]

इस्लामी धर्मप्रचारक, लोगों को इस्लाम के बारे में बताते और सम्झाते हुवे इस्लाम की तरफ़ बुलाने को "दावाह" कहते हैं। इस तरह के निमंत्रण करने वाले को "दाई" कहते हैं। यानी इसलाम धर्म में आने या उसको स्वीकार करने का निमंत्रण देने वाला। [1]

इस्लाम में धर्म प्रचार को "तबलीग" कहते हैं। प्रचारक को "मुबल्लिग" कहते हैं। यह मुबल्लिग यानी प्रचारक भी दाई का काम करते हैं, यानी इसलाम धर्म में आने की दावत देते हैं। साथ साथ, एक मुस्लिम दूसरे मुस्लिम को भी धार्मिक रूप से परिपूर्ण होने का निमंत्रण देते हैं इसको भी दावाह कहते हैं। [2]

उद्देश्य[संपादित करें]

दावाह का मुख उद्देश्य यह है कि मुस्लिम और गैर-मुस्लिमों को इस्लामीय तत्व सम्झाना, अल्लाह की तौहीद को समझाना और मुहम्मद साहब और उनकी प्रवक्तता का परिचय देना है। लोगों को इस्लाम की तरफ़ बुलाना और इस्लाम का प्रचार और विस्तार करना।

ह.मुहम्मद के काल में[संपादित करें]

ह. मुहम्मद के काल में, मुहम्मद साहब ने अपने अनुयाइयों (सहाबा) को कुछ समूह बनाकर कई देशों में भेजा कि लोगों को एकेश्वरोपासना (तौहीद) की तरफ़ बुला सकें। आप के बाद भी, आप के अनुयाई इस काम को जारी रखा।

दावाह के तरीक़े[संपादित करें]

  • सौम्यता : दावाह जब भी करें, सौम्यता से करें। कर्कश रूप सख्त मना है। विनम्रता दावाह का ज़ेवर माना जाता है।
  • बुद्धि-कुशलता : जब किसी को आमंत्रण दें तो बुद्धि कुशलता और तार्किक रूप से समझाते हुवे बात बताना।
  • भाशोपयोग : उसी इलाक़े की भाशा में आमंत्रण देना।
  • प्रदेश : ऐसे प्रदेशों में प्रसंग करो जिस की वजह से किसी को तकलीफ़ न हो।

अन्य रूप[संपादित करें]

  • शादी की दावत देना : विवाह जैसे शुभ अवसरों में निमंत्रण देने को भी दावत देना कहते हैं।
  • घरों में भोजन करने के निमंत्रण को भी "दावत" कहते हैं।
  • इस नाम से चावल बेचने की कंपनी भी है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Oxford Islamic Studies Online". Oxfordislamicstudies.com. 2008-05-06. http://www.oxfordislamicstudies.com/article/opr/t125/e478?_hi=12&_pos=7. अभिगमन तिथि: 2012-09-19. 
  2. See entry for da‘wah in the en:Encyclopaedia of Islam.