यूजेन ओ' नील

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(यूजीन ओ'नील से अनुप्रेषित)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

यूजेन ग्लेडस्टोन ओ' नील (Eugene Gladstone O'Neill) [1888-1953] अमेरिकी नाटककार थे। 1936 ई० में साहित्य में नोबेल पुरस्कार विजेता।

यूजेन ओ' नील
ONeill-Eugene-LOC.jpg
यूजेन ओ' नील (एलिस बाउटन की चित्रकृति)
जन्म यूजेन ग्लेडस्टोन ओ' नील
16 अक्टूबर 1888
न्यूयार्क (बैरेट हाउस),
अमेरिका
मृत्यु नवम्बर 27, 1953(1953-11-27) (उम्र 65)
बोस्टन, मासाचुसेट्स, अमेरिका
व्यवसाय नाटकलेखन
राष्ट्रीयता अमेरिकी
उल्लेखनीय सम्मान 1936 ई० में साहित्य में नोबेल पुरस्कार
नाटक के लिए पुलित्जर सम्मान (1920, 1922, 1928, 1957)
जीवनसाथी 1.कैथलीन जेनकिन्स (1909-1912) 2.एजनद बोलटन (1918-1929) 3.कारलोटा माण्टरी (1929–1953)
सन्तान
  • जूनियर यूजेन ओ' नील
  • शाने ओ' नील
  • ऊना ओ' नील
सम्बन्धी
  • जेम्स ओ' नील (पिता)
  • मेरी ईलेन क्वीनलाँ (माता)

हस्ताक्षर

जीवन-परिचय[संपादित करें]

यूजेन ओ' नील का जन्म 16 अक्टूबर, 1888 को न्यूयॉर्क के बैरेट हाउस में हुआ था, जो उस जमाने में एक पारिवारिक होटल था।[1] इनका पूरा नाम यूजेन ग्लेडस्टोन ओ' नील (Eugene Gladstone O'Neill) था।[2] इनके पिता जेम्स ओ' नील उन दिनों के प्रसिद्ध अभिनेताओं में से एक थे। 7 वर्ष तक तो बालक ओ' नील अपने पिता के साथ उनके अभिनय के सिलसिले में जहाँ-तहाँ घूमते रहे। गर्मी में इनके माता-पिता न्यू लंदन में रहते थे।

ओ' नील की पढ़ाई प्रिंसटन विश्वविद्यालय से चल रही थी। वहाँ इन्हें न तो अच्छे अंक मिले और न ही श्रेणी। अतः पढ़ाई बीच में ही छोड़ देनी पड़ी। 1907 में ही नील की शिक्षा समाप्त हो गयी। 1909 में सोने की खोज में दक्षिण अमेरिका के क्षेत्रों में भटकते रहे और अंत में वहाँ से लौट कर आये तो एक मल्लाह के रूप में भर्ती होकर साउथेंप्टन गये।[1] 24 दिसंबर 1912 को उन पर क्षय रोग का आक्रमण हुआ और वह वालिंगफोर्ड गेलार्ड फॉर्म सेनेटोरियम में भर्ती किये गये। यही वह समय था जिसे ओ' नील ने अपना पुनर्जन्म माना है, क्योंकि इसी समय उन्हें अपने समस्त कार्यों पर पुनर्विचार का मौका मिला और अंततः उन्होंने नाटककार बनने का निश्चय किया।[3] यही निश्चय उन्हें सृजन के साथ-साथ सम्मान के भी शिखर पर ले गया। ओ' नील की तीन शादियाँ हुई थीं, जिनमें से एजनद बोल्टन से उत्पन्न लड़की कोना ने प्रसिद्ध अभिनेता चार्ली चैप्लिन से शादी की थी।[3]

सम्मान[संपादित करें]

ओ' नील को नाटकों के लिए पुलित्जर पुरस्कार भी मिला था। 1920 ईस्वी में उन्हें क्षितिज के उस पार के लिए, 1922 ईस्वी में अन्ना क्रिस्टी के लिए और 1928 ईस्वी में अनोखा विश्राम के लिए पुरस्कार मिल चुके थे।[1] 1936 ईस्वी में इन्हें साहित्य में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

ये अकेले अमेरिकी नाटककार थे जिन्हें साहित्य का नोबेल पुरस्कार दिया गया।[4]

प्रकाशित पुस्तकें[संपादित करें]

  1. लांग डेज जर्नी इनटू नाइट
  2. मिस बिगाटन के लिए एक चाँद
  3. बर्फ का आदमी आता है ( शहर में नयी लड़की)
  4. क्षितिज के उस पार
  5. अन्ना कृष्टि
  6. अनोखा विश्राम
  7. मकड़ी का जाला
  8. काउण्ड ईस्ट फाॅर कारडिफ

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. नोबेल पुरस्कार विजेता साहित्यकार, राजबहादुर सिंह, राजपाल एंड सन्ज़, नयी दिल्ली, संस्करण-2007, पृ०-142.
  2. हिंदी विश्वकोश, खंड-6, नागरी प्रचारिणी सभा, वाराणसी, संस्करण-1966, पृष्ठ-451.
  3. नोबेल पुरस्कार विजेता साहित्यकार, पूर्ववत्, पृ०-143.
  4. नोबेल पुरस्कार कोश, सं०-विश्वमित्र शर्मा, राजपाल एंड सन्ज़, नयी दिल्ली, संस्करण-2002, पृ०-237.