मन्दाकिनी नदी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

यह लेख उत्तराखण्ड की मन्दाकिनी नामक नदी पर है। अन्य मन्दाकिनी लेखों के लिए देखें मन्दाकिनी

मन्दाकिनी नदी
Mandakini River
Mandakini near Guptakashi.JPG
गुप्तकाशी के समीप मन्दाकिनी
HeadwatersGanges1.jpg
गंगा नदी के नदीशीर्ष
स्थान
देश  भारत
राज्य उत्तराखण्ड
मण्डल गढ़वाल मण्डल
भौतिक लक्षण
नदीशीर्षचाराबाड़ी हिमानी, केदारनाथ
 • स्थानउत्तराखण्ड
 • निर्देशांक30°44′50″N 79°05′20″E / 30.74722°N 79.08889°E / 30.74722; 79.08889
 • ऊँचाई3,895 मी॰ (12,779 फीट)
नदीमुख अलकनन्दा नदी
 • स्थान
रुद्रप्रयाग, उत्तराखण्ड
 • निर्देशांक
30°17′16″N 78°58′44″E / 30.28778°N 78.97889°E / 30.28778; 78.97889निर्देशांक: 30°17′16″N 78°58′44″E / 30.28778°N 78.97889°E / 30.28778; 78.97889
लम्बाई 81.3 कि॰मी॰ (50.5 मील)
जलसम्भर आकार 1,646 कि॰मी2 (636 वर्ग मील)
जलसम्भर लक्षण

मन्दाकिनी नदी (Mandakini River) भारत के उत्तराखण्ड राज्य में बहने वाली एक हिमालयाई नदी है। यह अलकनन्दा नदी की एक मुख्य उपनदी है, जो स्वयं गंगा नदी की एक स्रोतधारा है। इस नदी का उद्दगम स्थान उत्तराखण्ड में केदारनाथ के निकट है। मन्दाकिनी का स्रोत केदारनाथ के निकट चाराबाड़ी हिमनद है। सोनप्रयाग में यह नदी वासुकिगंगा नदी द्वारा जलपोषित होती है। रुद्रप्रयाग में मन्दाकिनी नदी अलकनन्दा नदी में मिल जाती है। उसके बाद अलकनन्दा नदी वहाँ से बहती हुई देवप्रयाग की ओर बढ़ती है, जहाँ बह भागीरथी नदी से मिलकर गंगा नदी का निर्माण करती है।[1][2]

'मन्दाकिनी' का अर्थ[संपादित करें]

उपसर्ग "मन्द" का अर्थ है "शिथिल" और "धीमा" और इसलिए मन्दाकिनी का अर्थ हुआ "वह जो शिथिलता से बहे"।

चित्र दीर्घा[संपादित करें]

धार्मिक महत्व[संपादित करें]

श्रीमद्भागवत में मन्दाकिनी का उल्लेख मोक्ष-प्रदायिनी नदियों में से एक के रूप में हुआ है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Uttarakhand: Land and People," Sharad Singh Negi, MD Publications, 1995
  2. "Development of Uttarakhand: Issues and Perspectives," GS Mehta, APH Publishing, 1999, ISBN 9788176480994