फलोदी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
फलोदी
Phalodi
फलोदी में एक पारम्परिक हवेली
फलोदी में एक पारम्परिक हवेली
फलोदी is located in राजस्थान
फलोदी
फलोदी
राजस्थान में स्थिति
निर्देशांक: 27°07′52″N 72°21′50″E / 27.131°N 72.364°E / 27.131; 72.364निर्देशांक: 27°07′52″N 72°21′50″E / 27.131°N 72.364°E / 27.131; 72.364
ज़िलाजोधपुर ज़िला
प्रान्तराजस्थान
देश भारत
जनसंख्या (2011)
 • कुल1,00,000
भाषा
 • प्रचलित भाषाएँराजस्थानी, मारवाड़ी, हिन्दी
समय मण्डलभारतीय मानक समय (यूटीसी+5:30)
पिनकोड342301
वाहन पंजीकरणRJ-43

फलोदी (Phalodi) भारत के राजस्थान राज्य के जोधपुर ज़िले में स्थित एक नगर है।[1][2]

विवरण[संपादित करें]

फलोदी एक उपखंड, शहर व तहसील है। रामदेवरा, पीलवा, देचू, ढढू जाम्बा खीचन, बाप, लोहावट खारा इत्यादि इनके पड़ौसी गाँव और शहर है। यहाँ का पिन कोड ३४२३०१ [3] है। फलोदी में कई विद्यालय तथा महाविद्यालय भी है। यह राजस्थान का सबसे शुष्क क्षेत्र है। बीकानेर, जैसलमेर व जोधपुर रेल मार्ग हैं। भावनगर, जम्मू, उधमपुर, दिल्ली, काठगोदाम, बांद्रा के लिए सीधी रेल सेवा हैं।

इतिहास[संपादित करें]

फलोदी मुख्य रूप से फलवृद्धिका नाम से बसा है। इसका सबसे प्राचीन नाम विजयनगर था विक्रम संवत १५१५ में श्री सिद्धू कल्ला ने फलोदी गांव की स्थापना की थीं और उस समय इसका नाम फलवृधिका नाम रखा था जो वर्तमान में फलोदी के से जाना जाता है। इसके बाद यहां पर राव सुजा जी के पुत्र राव हमीर सिंह नरावत ने शासन किया वह विश्व प्रसिद्ध फलोदी किले का निर्माण करवाया व कई हवेलियों बावडीया,तालाबो,मंदिरों का निर्माण करवाया राव हमीर सिंह के बाद उनके जेष्ठ पुत्र राम सिंह नरावत ने शासन किया और कई विकास कार्य करवाएं आज इनके वंशज रामदेवरा के पास सुजासर गांव में रहते हैं। फलोदी नाम श्री सिद्धु कल्ला की विधवा बेटी फला के कहने पर रखा था , फला का योगदान फलोदी का दुर्ग में काफी रहा है। फलोदी कुर्जा (crane) के लिए काफी प्रसिद्ध है यहां से ०४ किलोमीटर की दूरी पर एक खीचन नामक गांव है जहां पर पूरे जोधपुर ज़िले में सर्वाधिक कुरजे यहां आती है। फलोदी में ही एक गाँव लोर्डियाँ है जिसे न्यू अमेरिका के नाम से जाना जाता है।

प्रसिद्धि[संपादित करें]

फलोदी पूरे भारत भर का सबसे ज्यादा शुष्क प्रदेश है। इनके अलावा २०१६ को यहां सबसे ज्यादा तापमान ५५ डिग्री सेल्सियस तक मापा गया। [4]। फलौदी यहाँ के वेद पाठियो से भी मशहूर है। फलौदी का सट्टा बाजार भी पूरे भारत में प्रसिद्ध है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Lonely Planet Rajasthan, Delhi & Agra," Michael Benanav, Abigail Blasi, Lindsay Brown, Lonely Planet, 2017, ISBN 9781787012332
  2. "Berlitz Pocket Guide Rajasthan," Insight Guides, Apa Publications (UK) Limited, 2019, ISBN 9781785731990
  3. पिनकोड.नेट.इन. "Pincode of Phalodi village". Pincode.net.in. Pincode.net.in. मूल से 8 दिसंबर 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 6 मई 2015.
  4. Record temperature in Phalodi but solar power generation sees a decline Archived 2016-05-21 at the Wayback Machine अभिगमन तिथि: २२ मई २०१६