जालोड़ा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

'जालोड़ा एक भारतीय राज्य राजस्थान के जोधपुर ज़िले का एक गांव है जो लोहावट तहसील के अंतर्गत आता है। गांव का पिन कोड ३४२३०१ [1]। २०११ की जनगणना के अनुसार गांव की जनसंख्या ११८९ है। दयाकोर ,कुशलावा ,पीलवा। इत्यादि इनके निकटवृति गांव है। यहां की अधिकतर जनसंख्या खेती पर निर्भर करती है। इस गांव का नाम जाळो की अधिकता होने के कारण पड़ा। 'जालोड़ा में काफी जातिया रहती है जैसे पालीवाल,रावलोत,सिहड़ भाटी,डोडिया,रुपावत,मुस्लिम,सुथार,नाई,ढोली,कुम्हार,मेघवाल,भील,जोगी,बिश्नोई,जाट,देशांतरी,स्वामी,साद,आदिजालोड़ा गांव में उप डाकघर तथा सरकारी विद्यालय तथा कई निजी विद्यालय भी है। यहाँ दो प्राचीन हनुमान मंदिर है जिनका निर्माण 500 से अधिक वर्ष पूर्व पालीवाल ब्राह्मणों द्वारा करवाया गया था। एक मन्दिर उगोणा वास में है तथा एक आथुणा वास में। मुख्य गांव को दो वास के नाम से जाना जाता है जिसमें एक उगोणा वास और दूसरा आथुणा वास। आथुणा वास में टीकाराम पालीवाल नगर है जिसका नामकरण राजस्थान के प्रथम निर्वाचित मुख्यमंत्री टीकाराम पालीवाल की जन्मस्थली होने के कारण पड़ा। उगोणा वास में देवनगर है जहां पालीवाल(ब्राह्मण) जाति रहती है। गांव के मुख्य चौराहे से पांच सड़के निकलती है जो दयाकोर, कोलू पाबूजी, मोखेरी, फलोदी, लोहावट को जोड़ती है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Jalora Village Population - Phalodi - Jodhpur, Rajasthan". Census2011.co.in. अभिगमन तिथि 2016-05-29.