जार्ज विल्हेम फ्रेड्रिक हेगेल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
जोर्ज विल्हेम फ्रेडरिक हेगेल
Hegel portrait by Schlesinger 1831.jpg
Portrait by Jakob Schlesinger dated 1831, the
year of Hegel's death.
जन्म अगस्त 27, 1770
श्टुटगार्ट, Württemberg
निधन नवम्बर 14, 1831(1831-11-14) (उम्र 61)
बर्लिन, प्रुशिया
निवास जर्मनी
राष्ट्रियता जर्मन
युग 19th-century philosophy
क्षेत्र पाश्चात्य दर्शन
School and मार्क्सवाद
अभिरुचि  ·
उल्लेखनीय विचार
हस्ताक्षर Hegel Unterschrift.svg

जार्ज विलहेम फ्रेड्रिक हेगेल (1770-1831) सुप्रसिद्ध दार्शनिक थे। वे कई वर्ष तक बर्लिन विश्वविद्यालय में प्राध्यापक रहे और उनका देहावसान भी उसी नगर में हुआ।

कृतियाँ[संपादित करें]

उसके लिखे हुए आठ ग्रंथ हैं, जिनमें प्रपंचशास्त्र (Phenomelogie des Geistes), न्याय के सिद्धांत (Wissenschaft der Logic) एवं दार्शनिक सिद्धांतों क विश्वकोश (Encyclopedie der phiosophischen Wissenschaften), ये तीन ग्रंथ विशेषतया उल्लेखनीय हैं।

दार्शनिक विचार[संपादित करें]

हेगेल के दार्शनिक विचार जर्मन-देश के ही कांट, फिक्टे और शैलिंग नामक दार्शनिकों के विचारों से विशेष रूप से प्रभावित कहे जा सकते हैं, हालाँकि हेगेल के और उनके विचारों में महत्वपूर्ण अंतर भी है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • Butler, Judith, Subjects of desire: Hegelian reflections in twentieth-century France (New York: Columbia University Press, 1987)