करिश्मा का करिश्मा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
करिश्मा का करिश्मा
शैली विज्ञान, हास्य
विकासकर्ता आबिद हुसैन और अपर्णा गणेश
लेखक रघुवीर शेखावत
निर्देशक स्वप्न वाघमरे जोशी
सितारे नीचे देखें
'थीम' संगीत निर्देशक ललित सेन
शुरुआत 'थीम' "करिश्मा का करिश्मा"
निर्माण का देश भारत
मूल भाषा(एं) हिन्दी
सत्र संख्या 1
प्रकरणों की संख्या कुल 65
निर्माण
कार्यकारी निर्माता सुषमा कौल
निर्माता सुनील दोषी
प्रसारण अवधि लगभग 24 मिनट
प्रसारण
मूल चैनल स्टार प्लस
छवि प्रारूप 480आई (एसडीटीवी)
मूल प्रसारण 24 जनवरी 2003 – 16 अप्रैल 2004

करिश्मा का करिश्मा भारतीय हिन्दी धारावाहिक है, जिसका प्रसारण स्टार प्लस पर 24 जनवरी 2003 से लेकर 16 अप्रैल 2004 तक हुआ।[1] इसके निर्माता सुनील दोषी हैं। इसका निर्देशन स्वप्न जोशी ने किया है।[2]

कहानी[संपादित करें]

यह कहानी एक वैज्ञानिक विक्रम कि है। जो एक ऐसे रोबोट का आविष्कार करता है जिसे कोई भी मानव समझ ले। वह उसका नाम करिश्मा रखता है। उसकी पत्नी शीतल को उसकी पड़ोसी यह कह के कान भर्ती है कि विक्रम का किसी और के साथ प्रेम संबंध है। क्योंकि वह देर रात तक घर नहीं लौटता था। वह अपने परिवार के सामने करिश्मा को लाता है। इसके बाद शीतल उसे विक्रम की दूसरी पत्नी की बेटी समझती है। लेकिन विक्रम उसे समझा देता है। इसके बाद केवल विक्रम, शीतल और उनके बच्चे राहुल को ही इस बारे में पता होता है कि वह एक रोबोट है। उनके पड़ोसी श्रद्धा और परेश हमेशा उनके काम में टाँग अड़ाते रहते हैं।

कलाकार[संपादित करें]

  • झनक शुक्ल - करिश्मा
  • संजीव सेठ - विक्रम
  • एवा ग्रोवर / तिसका चोपड़ा - शीतल
  • भावना बालसेवार - श्रद्धा
  • श्वेता प्रसाद - स्वीटी
  • मयंक टंडन - राहुल
  • जमनादास मजेठीया - परेश

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Karishma Kaa Karishma debuts on Star Plus Friday". Indiantelevision.com. 22 January 2003. मूल से 5 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 सितंबर 2015.
  2. "Adorable robot girl of Karishma Kaa Karishma". TribuneIndia. 9 March 2003. मूल से 24 सितंबर 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 सितंबर 2015.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]