अक्कड़ बक्कड़ बम्बे बो

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अक्कड़ बक्कड़ बम्बे बो
Abbb.jpeg
शैली रोमांचक रहस्य
सर्जक सागर फिल्मस्
लेखक मिनाक्षी सागर
दीपाली जुजंप्पा
प्रस्तुतकर्ता स्टार प्लस
प्रकरणों की संख्या कुल 110
निर्माण
कार्यकारी निर्माता स्टेवन पीटरमेन, माइकल पोर्येस
प्रसारण अवधि 23 मिनट
प्रसारण
मूल चैनल स्टार प्लस
मूल प्रसारण 24 मार्च 2005 – 21 दिसम्बर 2005
बाह्य सूत्र
आधिकारिक जालस्थल

अक्कड़ बक्कड़ बम्बे बो स्टार प्लस पर प्रसारित होने वाला एक रहस्यमयी व हास्य से परिपूर्ण धारावाहिक है। यह २४ मार्च २००५ से २१ दिसम्बर २००५ तक चला।[1]

कहानी[संपादित करें]

इसका मुख्य पात्र नटवरलाल प्रसाद यादव बिहारी है जो एक अच्छा भूत है। वह शहर में वड़ा-पाव का ठेला लगाता है। शहर में उसके कुछ दोस्त बन जाते है जिन्हें वो बबुआ लोग कहकर पुकारता है। किसी दूसरे बुरे भूत के कारण नटवर और उसके दोस्तों के जीवन में बहुत उतार-चढ़ाव आते हैं और कई रहस्यमयी घटनाएं घटित होती है। नटवरलाल का नाम उसके दोस्त नट्टू रखते है नट्टू नामक भूत अपना यह राज अपने दोस्तों को पहले नहीं बताता लेकिन बाद में उन लोगों को यह बात पता चल जाती है। पहले वह नट्टू से डरते है लेकिन बाद में यह सच जानने के पश्चात वह कुछ समय पश्चात पुनः दोस्त बन जाते है। नट्टू को भूत बनकर भटकने से निजात पाने के लिए १०० अच्छे कार्य करने होते है। और यदि कोई बुरा कार्य करने पर उसे उसके स्थान पर २ और अच्छे कार्य करने पड़ते है। इस कार्य में उसके दोस्त भी उसका साथ देते हैं। यहाँ गप्पू नामक एक शैतान भूत भी रहता है जो उसे अच्छा कार्य करने से रोकता है और अपने दल में आने के लिए उसे परेशान करता रहता है। लेकिन अंत में गप्पू का अंत हो जाता है और नटवरलाल अपने अच्छे कार्य करने में सफल हो जाता है। इसके और धरती से चले जाता है। इसके पश्चात कहानी समाप्त हो जाती है।[2]

कलाकार[संपादित करें]

  • देवेंदर चौधरी (नटवरलाल प्रसाद यादव/नट्टू)
  • विवेक मशरू (अर्णव)

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "अक्कड़ बक्कड़ बम्बे बो स्टार उत्सव पर". सुलेखा न्यूज़. अभिगमन तिथि 5 अगस्त 2014.
  2. "अक्कड़ बक्कड़ बम्बे बो". इंडिया फोरम. अभिगमन तिथि 5 अगस्त 2014.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

  1. स्टार प्लस यू ट्यूब पर
  2. फेसबुक पर अक्कड़ बक्कड़ बम्बे बो