कौन बनेगा करोड़पति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कैसे बने करोड़पति.... अमृतम पत्रिका, ग्वालियर मप्र से साभार... लक्ष्मी सदैव अच्छे लक्षणों से आती है। ईश्वरोउपनिषद कि अनुसार यह नियम धर्म, सत्यता, वचनबद्धता, सच्चाई, ईमानदारी से अपने आप आने लगती है। लक्ष्मी को पाने के लिए कहीं जाने की जरूरत नहीं है।

कड़ी मेहनत, पक्का इरादा हो, तो आदमी को बुरादा भी करोड़ पति बना देता है।

स्कंदपुराण में लक्ष्मी लाने के अनेक उपायों का वर्णन है।

हमने अपने पूर्वजों से सुना था कि-

जहां सुमद वहाँ सम्पद नाना।

जहाँ कुमद वहां विपद निदाना।।

अर्थात-लक्ष्मी वही आती है जिस परिवार में शांति हो। सभी लोग एक विचारधारा के ईश्वर वादी हों। आपस में सुमद हो और जिस घर में कुमद यानी कलह रहता है। आपस में प्रेम नहीं लक्ष्मी वहां से चली जाती है।

सुमद शांति ही लक्ष्मी का प्रतीक है। पैसा दिखावा के लिए नहीं आता।

कभी-कभा कुछ नीच प्रवृति के लोगों के पास लक्ष्मी आ भी जाती है, वह ज्यादा समय तक रुकती नहीं है।

ऐसे ही मूर्ख पति के साथ औरत भी नहीं रहती।

बुजुर्गों की बाते हैं, पता नहीं कितना सत्य है इनमें…

लक्ष्मी पछतानी घर नीचन के आएं कें।

औरत पछतानी पति मूर्ख पाएं कें।।

जिस घर के अंदर

एक ने कही, दूजे ने मानी।

धन पाने की यही निशानी।।

वाली बात चरितार्थ होती है। लक्ष्मी वहां 2 से 4 पीढ़ी तक ठहरती है।

बनिया-वैश्यों के यहां उस पर अमल किया जाता है, इसीलिए उनके यहां लक्ष्मी अनेक पीढ़ी तक रहती है।

ऐश्वर्य का अर्थ होता है, जहां से दुख हमेशा के पलायन कर गया। शेष सब समृद्धि है- जिसका अर्थ है सम+ वृद्धि यानी आधा सुख-आधा दुख।

ऐश्वर्य शब्द से ही ईश्वर बना हुआ है। भोलेनाथ को ही दक्षिण में ईश्वर कहा जाता है। यदि ऐश्वर्य पाने की तमन्ना है, तो ईश्वर (शिवजी) की ध्यान लगाएं।

!!नमःशिवाय च शिवाय नमः!!

इस शिवशक्ति मन्त्र का जाप करें।

राहु अकेला धनदाता ग्रह है…

राहु अकेला धनदायक, लक्ष्मी बसाने वाला ग्रह है। दीपावली की पूजा भी राहु के स्वाति नक्षत्र में इसीलिए ही करते है। राहु को दीपदान अतिप्रिय है। जो भी व्यक्ति दीपक जलाता है, राहु उसे कुछ समय बाद मालामाल कर देते हैं। दुनिया में महाधनशाली या खरबपति लोगों पर राहु की पूर्ण कृपा है।

हो सके, तो प्रतिदिन राहुकाल में अमृतम राहु की तेल के दीपक 54 दिन जलाकर उपरोक्त मन्त्र की 5 माला जपें।

किसको क्या? कैसे मिलता है-जाने…..

पैसा राहु बिना नहीं मिलता,

चाहें कर लो लाख उपाय।

शम्भू त्याग बिना नहीं मिलता,

चाहें कर लो अनेक उपाय।

मोहन प्रेम बिना नहीं मिलता,

चाहें कर लो लाख उपाय।

उज्जैन के विश्राम घाट के एक शिवस्वरूप अवधूत

बाबा शंकरानन्द के यह शब्द सदैव मेरे मस्तिष्क में गूंजते रहते हैं। वे अक्सर यही भजन गाते थे।

कभी उज्जैन जाएं, तो भैरोनाथ मन्दिर से कुछ ही दूरी पर विश्रामघाट है। यहां इनकी समाधि बनी है।

केवल महाकाल को उनकी शरीर की भस्म अंत समय में अर्पित हो, इसीलिए वहां महादेव की तपस्या में तल्लीन रहे।

महाकाल परिसर में भी पीछे की तरफ इनके गुरुओं की समाधि के रूप में शिवलिंग स्थापित हैं। कभी मौका लगे व समय मिले, तो यहां एक दीपक अमृतम राहु की तेल का अर्पित कर देना। बड़ी कृपा होगी।

महर्षि अगस्त्य के किस्से सुनकर गस्त खा जाओगे…

उज्जैन काल यानि समय की नगरी है। समय की खोज के लिए यहां महर्षि अगस्त्य ने कठोर साधना की थी, जहां महाकाल ने समय का ज्ञान दिया वह शिवालय हरसिद्धि मन्दिर के पीछे, अगस्त्येश्वर के नाम से प्रतिष्ठित है।

महादेव महाकाल ने यहीं इन्हें दक्षिण भारत जाने का निर्देश दिया था।

कर्नाटक, तमिलनाडु एवं आंध्रप्रदेश में गुरु अगस्तेश्वर द्वारा खोजे स्वयम्भू शिवलिंग लगभग 11000 के करीब है। सभी आश्चर्यजनक है।

गुरु के आदेश का पालन करते हुए दक्षिण में किसी भी राजा ने अपने लिए महल नहीं अपितु शिवमंदिरों का जीर्णोद्धार किया और राजा का परिवार सदैव फकीरों की तरह जिया।

कभी केदारनाथ जाएं, तो महर्षि अगस्त्य मुनि मन्दिर, जो मुख्य मार्ग पर पड़ता है। यह शिवलिंग पर तेल अकेला अर्पित करने की हजारों वर्ष पुरानी परम्परा है। कभी जाएं, तो अमृतम राहु की तेल चढ़ाना हो तो चढ़ा देंवें।


कौन बनेगा करोड़पति
निर्देशक राहुल वर्मा
अरुण शेषकुमार[1]
प्रस्तुतकर्ता अमिताभ बच्चन (1–2, 4–13)
शाहरुख खान (3)
संगीत निर्देशक कीथ स्ट्रेचन (1-11)
मैथ्यू स्ट्रैचन (1-11)
रेमन कोवलो (4-11)
सावन दत्ता (5-11)
अजय–अतुल (11)
निर्माण का देश भारत
मूल भाषा(एं) हिन्दी
सत्र संख्या 13 (12 पूर्ण)
प्रकरणों की संख्या 936
निर्माण
प्रसारण अवधि 90 मिनट
निर्माण कंपनी बिग सिनर्जी प्रोडक्शंस
स्टूडियो नेक्स्ट
वितरक सोनी पिक्चर्स टेलीविजन (वैश्विक)
प्रसारण
मूल चैनल स्टार प्लस (1-3)
सोनी टीवी (4-10)
छवि प्रारूप 480i (एसडीटीवी)
1080i (एचडीटीवी)
मूल प्रसारण 3 जुलाई 2000 (2000-07-03) – वर्तमान
बाह्य सूत्र
आधिकारिक जालस्थल

कौन बनेगा करोड़पति भारत का एक रियालिटी/गेम शो है। इसमें कोई व्यक्ति अधिकतम निर्धारित १, २, ३, ४, ५, ६, ७ करोड़ रूपये जीत सकता है। इसका पहला प्रसारण सन् 2000 में हुआ था। भारत के फिल्मोद्योग के महानायक अमिताभ बच्चन इसके सूत्रधार (होस्ट) हैं। अमिताभ बच्चन का दूरदर्शन पर पदार्पण इसी को लेकर हुआ। यह अत्यन्त लोकप्रिय कार्यक्रम है। सुशील कुमार मोतिहारी बिहार के निवासी सेशन 5 में 5 करोड़ रुपये जीते।[2]

अब तक बने करोड़पति[संपादित करें]

  • अजीत कुमार (बेलागंज, गया, बिहार) : 1 करोड़
  • बबिता ताड़े (महाराष्ट्र) : 1 करोड़
  • सनोज राज (बिहार) : 1 करोड़
  • सुशील कुमार (मोतिहारी, बिहार) : ५ करोड़
₹5 करोड़ (13 में से 13) – समय की कोई पाबंदी नहीं
किस औपनिवेशिक शक्ति ने 18 अक्टूबर 1868 को निकोबार द्वीप समूह के अधिकारों को अंग्रेजों को बेचकर भारत में अपनी भागीदारी समाप्त कर दी थी?
⬥ अ: बेल्जियम ⬥ ब: इटली
⬥ स: डेनमार्क ⬥ द: फ़्रांस
सुशील कुमार का ₹5 करोड़ वाला प्रश्न
₹5 करोड़ (13 में से 13) – समय की कोई पाबंदी नहीं
दुनिया की दूसरी सबसे ऊंची पर्वत चोटी के2 पर सफलतापूर्वक चढ़ाई करने वाली पहली महिला कौन हैं?
⬥ अ: जुंको ताबेई ⬥ ब: वांडा रुत्किविक्ज़
⬥ स: तमाए वातानबे ⬥ द: चैंटल मौदुइत
सनमीत कौर का ₹5 करोड़ वाला प्रश्न

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Soma, Roy. "केबीसी के पीछे छिपा है इस मास्टर माइंड का हाथ, जानें उनसे जुड़ी 10 दिलचस्प बातें". Patrika News (hindi में). अभिगमन तिथि 15 अक्टूबर 2019.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  2. ""केबीसी-8" में कपिल की कॉमेडी, होंगे पहले मेहमान". पत्रिका समाचार समूह. ३१ जुलाई २०१४. मूल से 28 दिसंबर 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि ३१ जुलाई २०१४.

कोन बनेगा करोड़पति के रजिस्ट्रेशन 9 मई को रात्रि 9 बजे से होगे शुरू । अमिताभ बच्चन ने सोनी के इंस्ट्राग्राम पेज पर शेयर किया वीडियो। https://www.abplive.com/entertainment/kaun-banega-crorepati-2020-registration-to-begin-from-9-may-1368545/amp?__twitter_impression=true https://rastriyabulletin.blogspot.com/2020/05/Live-news_22.html

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]