महाभारत (२०१३ धारावाहिक)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

यह लेख 2013 में शुरु हुए धारावाहिक के उपर हैं, पुराने वाले के लिए देखे महाभारत (टीवी धारावाहिक)। फ़िल्म के लिए महाभारत (२०१३ फ़िल्म)

महाभारत
Mahabharat 2013 title.jpg
शीर्षक चित्र
शैली पौराणिक कथा पर आधारित टीवी नाटक
प्रारूप टीवी नाटक शृंखला
सर्जक सिद्धार्थ कुमार तिवारी
लेखक शर्मन जोसेफ, राधिका आनंद, आनंद वर्धन, मीहिर भूटा और सिद्धार्थ कुमार तिवारी।
निर्देशक सिद्धार्थ आनंद कुमार, अमरप्रीत जी° एस° छावड़ा, कमल मोंगा और लोकनाथ पांडे।
सितारे (सदस्यों को देखने के लिए।)
शुरुआत 'थीम' है कथा संग्राम की...
संगीत निर्देशक अजय-अतुल
इसमाइल दरबार
निर्माण का देश Flag of India.svg भारत
भाषा(एं) हिन्दी
तमिल
तेलुगू
बंगाली
मराठी
मलयालम
इंडोनेशियाई भाषा
निर्माण
निर्माता सिद्धार्थ कुमार तिवारी, गायत्री गिल तिवारी और राहुल कुमार तिवारी।
प्रसारण अवधि 20 मिनट[1]
निर्माण कंपनी स्वास्तिक पिक्चर्स
प्रसारण
मूल चैनल स्टार प्लस
छवि प्रारूप 576i (एस°डी°टीवी) 1080i (एच°डी°टीवी)
मूल प्रसारण १६ सितंबर २०१३ – १६ अगस्त २०१४
(कुल ११ महीने)
कालक्रम
संबंधित कार्यक्रम बाल कृष्णा
बाह्य सूत्र
आधिकारिक जालस्थल
निर्माण जालस्थल

महाभारत धारावाहिक हिन्दी पौराणिक कथाओं की टीवी नाटक श्रृंखला है और यह 6 सितंबर 2013 से स्टार प्लस पर सोमवार से शनिवार रात 08:30 बजे प्रसासित हो रहा है। यह भारतीय इतिहास के सबसे बड़े युद्ध महाभारत पर आधारित नवीन तकनीकों वाला धारावाहिक है।[2]

यह स्वास्तिक प्रोडक्शन्स द्वारा उत्पादित है। सौरभ राज जैन (कृष्ण)[3], शहीर शेख (अर्जुन)[4], पूजा शर्मा (द्रौपदी)[5], अहम शर्मा (कर्ण)[6] और अरव चौधरी (भीष्म पितामह)[7] मुख्य किरदार पर हैं।

कथा सारांश[संपादित करें]

विस्तारपूर्वक जानकारी के लिये देखें कुरुक्षेत्र युद्ध और महाभारत

यह धारावाहिक महाभारत की कथा पर आधारित है। यह धारावाहिक कुरुवंश के राज्य हस्तिनापुर के इतिहास पर आधारित है।

कहानी की शुरुआत तब होती है जब महाराज शांतनु और महारानी सत्यवती (निषाद कन्या) दोनों नाव पर विचरण कर रहे थे। दोनो में प्रेम हुआ परंतु सत्यवती नें महाराज का विवाह प्रस्ताव ठुकरा दिया। महाराज को चिंतित देख उनके तथा गंगा के पुत्र भीष्म[8] सत्यवती के पास गए तब उसने बोला कि अगर मैं तुम्हारे पिता से विवाह करुंगी तो मेरे पुत्रों का क्या होगा क्योंकि गद्दी पर तो तुम बैठोगे। तब भीष्म नें प्रतिज्ञा ली कि वह जीवन भर ब्रह्मचारी रहेगा तथा हस्तिनापुर की सेवा करेगा। आखिर में शांतनु के साथ सत्यवती का विवाह हुआ। शांतनु के प्रपौत्र पांडु तथा धृतराष्ट्र हुए, जिसमें पांडु को राजा बनाया गया क्योकि धृतराष्ट्र अंधा था। पांडु का विवाह यादव वंश की कुंती तथा माद्री से हुआ।

धृतराष्ट्र के विवाह का प्रस्ताव लेकर जब गांधार तब गांधार का राजकुमार शकुनी ने प्रतिज्ञा ली कि जिस कुरुवंश ने उसकी बहन गांधारी का विवाह एक अंधे व्यक्ति धृतराष्ट्र के साँथ किया उसका अंत करुंगा।

धृतराष्ट्र का विवाह गांधारी से हुआ तथा इनके 100 पुत्र हुए तथा एक कन्या थी। इनमें दुर्योधन सबसे बड़ा था। उधर पांडु अपनी पत्नियों के साथ विहार कर रहा था तब मृग समझकर उसने मुनि किंदम को मार डाला जिससे उसे श्राप लगा कि वह जब भी किसी स्त्री से संभोग (प्रणय) करेगा तब उसकी मृत्यु होगी। पांडु राज त्याग कर वन में वास करता है तथा राजा की अनुपस्थिति में धृतराष्ट्र को कार्यकारी राजा बनाया गया। वन में पांडु के कहने पर कुंती ने अपने पुराने वरदान के द्वारा देवताओं से तीन पुत्र माँगे जिनका नाम क्रमश: युधिष्ठिर, भीम तथा अर्जुन पड़ा। माद्री के लिये भी दो पुत्र माँगे जिनका नाम नकुल तथा सहदेव पड़ा। भूलवश माद्री से संभोग करने हेतु पांडु की जंगल में मृत्यु हो गई।

पांडु पुत्रों को पाण्डव कहा गया। इनके तथा कौरवों के गुरु द्रोणाचार्य थे। द्रोणपुत्र अश्वत्थामा की दुर्योधन से मित्रता हुई।

सब राजकुमार हस्तिनापुर गए वहाँ दुर्योधन की मित्रता कर्ण[9] से हुई तथा उसे अंग नामक राज्य दिया।

बाद में भीम नें राक्षस हिडिंब का वध किया और उसकी बहन हिडिंबा से विवाह किया, इनके पुत्र का नाम घटोत्कच्छ था।

पाण्डवों का विवाह द्रुपद की कन्या द्रौपदी से हुआ जिसके पाँचो पाण्डवों से पाँच पुत्र हुए। अर्जुन का विवाह श्री कृष्ण की बहन सुभद्रा से हुआ, इसके पुत्र का नाम अभिमन्यु पड़ा जो गर्भ से ही युद्ध कला में निपुण था।

चौसर में छल से कौरवों ने पाण्डवों के राज काज छीन लिये तथा द्रौपदी का चीर हरण हुआ। पाण्डवों को वनवास दिया गया।

महाभारत का युद्ध राज्य को लेकर हुआ। यह 18 दिनों तक चला[10] जिसमें भगवान कृष्ण का नारायणी सेना कौरवों के साथ और भगवान खुद अर्जुन के सारथि बने तथा अर्जुन को श्रीमद् भगवद्गीता का ज्ञान दिया। इस युद्ध में भीष्म, दुर्योधन तथा उसके भाई, द्रोण, अभिमन्यु, घटोत्कच्छ, शकुनी आदि मारे गए। अश्वत्थामा ने द्रौपदी को पुत्रों को पाण्डव समझकर मार डाला तब पाण्डवों ने इसके ब्राह्मण होने के कारण इसके मस्तक से मणि निकालकर अधमरा छोड़ दिया। अभिमन्यु और उत्तरा के पुत्र परीक्षित का जन्म हुआ। तक्षक नाग के दंश से परीक्षित की मृत्यु हुई।

उत्पादन तथा पदोन्नति[संपादित करें]

यह कार्यक्रम शुरुआत से ही सफल है। यह स्वास्तिक पिक्चर्स का उत्पादन है जिसमें संगणकों द्वारा कई प्रकार के नवीन संपादन विधियों का उपयोग हुआ जिससे इसके टीम ने इसे असली जैसा बना दिया।

इसके उत्पादक सिद्धार्थ कुमार तिवारी की मानें तो इस कार्यक्रम में कुल 100 करोड़ (US$14.6 मिलियन) लागत आई है तथा मार्केटिंग में 20 करोड़ (US$2.92 मिलियन) खर्च हुआ। इसी के साथ यह धारावाहिक भारतीय टेलीविजन इतिहास का सबसे मँहगा धारावाहिक बन गया।[11]

सितारे[संपादित करें]

  1. सौरभ राज जैन (कृष्ण, विष्णु)
  2. शहीर शेख (अर्जुन)
  3. पूजा शर्मा (द्रौपदी)
  4. अहम शर्मा (कर्ण)
  5. अरव चौधरी (भीष्म)
  6. प्रणीत भट्ट (शकुनि)
  7. रोहित भारद्वाज (युधिष्ठिर)
  8. सौरव गुर्जर (भीम)
  9. अर्पित राँका (दुर्योधन)
  10. विन राणा (नकुल)
  11. लावण्य शर्मा (सहदेव)
  12. निसार खान (द्रोणाचार्य)
  13. पल्लवी सुभाष (देवी रुक्मिणी)
  14. अतुल मिश्रा (भगवान वेदव्यास)
  15. हेमंत चौधरी (कृपाचार्य)
  16. रतन राजपूत (अम्बा)
  17. केतकी कदम (राधा)
  18. शायंतनी घोष (सत्यवती)
  19. निर्भय वाधवा (दु:शासन)
  20. विभा अनंद (देवी सुभद्रा, योगमाया)
  21. परश अरोड़ा (अभिमन्यु)
  22. रिचा मुखर्जी (उत्तरा)
  23. शिखा सिंह (शिखंडिनी)
  24. अनूप सिंह ठाकुर (धृतराष्ट्र)
  25. रिया दीप्सी (गांधारी)
  26. शफ़क़ नाज़ (कुंती)
  27. नवीन जिंगर (विदुर)
  28. प्रीति पुरी चौधरी (देवकी)
  29. गरिमा जैन (दुशला)
  30. सबर कश्यप (युयुत्सु)
  31. सुदेश बेरी (द्रुपद)
  32. करन सूचक (धृष्टद्युम्न)
  33. नाज़िया हसन शायेद (वृशाली)
  34. अंकित मोहन (अश्वत्थामा)
  35. संदीप अरोड़ा (विकर्ण)
  36. चाँदनी शर्मा (कृपी)
  37. मल्लिका (सुदेशना)
  38. विवाना सिंह (देवी गंगा)
  39. समीर धर्माधिकारी (शांतनु)
  40. आर्यमन सेठ (विचित्रवीर्य)
  41. अपर्णा दिक्षित (अम्बिका)
  42. मानसी शर्मा (अम्बालिका)
  43. अरुण राणा (पांडु)
  44. निधि तिवारी (सुखदा)
  45. सुहानी ढाँकी (माद्री)
  46. अजय मिश्रा (संजय)
  47. अली हसन (तक्षक, जयद्रथ)
  48. टीनू वर्मा (जरासंध)
  49. तरुण खन्ना (बलराम)
  50. वैष्णवी धनराज (हिडिम्बा)
  51. केतन (घटोत्कच)
  52. जॉय माथुर (शिशुपाल)
  53. पुनीत इस्सर (परशुराम)
  54. मोहित रैना (भगवान शिव)
  55. निखिल आर्य (देवराज इंद्र)
  56. कुनाल भाटिया (अग्निदेव)
  57. गुरप्रीत सिंह (रुक्मि)
  58. जयंतिका सेन गुप्ता (अर्शि)
  59. रीओ कपाडिया (सुबाला)
  60. श्वेता गौतम (सुधर्मा)
  61. राज प्रेमी (कालयावन)

किशोर कलाकार

  1. सिद्धान्त गौतम (एकलव्य)
  2. विक्रम सोनी ( किशोर कृष्ण)
  3. विनीत त्रिपाठी (बाल कृष्ण)
  4. विद्युत क्सावियर (कर्ण)
  5. आयूष शाह (अश्वत्थामा)
  6. रोहित शेट्टी (युधिष्ठिर)
  7. मीरज जोशी (भीम)
  8. आलम खान (दुर्योधन)
  9. सौम्य सिंह (अर्जुन)
  10. राज शाह (दु:शासन)
  11. देवेश अहूजा (नकुल)
  12. रुद्राक्ष जायसवाल (सहदेव)
  13. अशनूर कौर (दुशला)
  14. गननय शुक्ला (कर्ण)
  15. योग्य सक्सेना (अश्वत्थामा)
  16. गुरबानी थप्पर (मालिनी)

अधिक - IMDb

है कथा संग्राम की...[संपादित करें]

"है कथा संग्राम की..."
कोरस, अजय गोगवाले, अतुल गोगवाले द्वारा गीत महाभारत ऐल्बम से
रिलीज़ सितम्बर 16, 2013 (2013-09-16)
रेकॉर्ड की तिथि सितंबर 2013
संगीत प्रकार इतिहास
लम्बाई 1:04
लेबल स्वास्तिक पिक्चर्स
निर्माता सिद्धार्थ तिवारी

है कथा संग्राम की। .. एक कोरस गीत है जिसके रक्षणकर्ता अजय तथा अतुल हैं तथा निर्देशक सिद्धार्थ तिवारी हैं। यह स्टार प्लस के कार्यक्रम महाभारत (2013) का मुख्य गीत है। गीत में महाभारत के सभी मुख्य किरदारों का चित्रण किया गया हैं। [12]

अन्य भाषा में संस्करण[संपादित करें]

इस कार्यक्रम की लोगप्रियताके कारण इसका भाषान्तरण कई भाषाओं में किया गया है जैसे बंगाली, मलयालम, तेलुगू, तमिल, इंडोनेशियाई भाषा और मराठी में। इसका बंगाली संस्करण स्टार जलशा चैनल में प्रसारित होता है तथा मलयालम एशियानेट में, तेलुगू संस्करण मां टीवी में, तमिल संस्करण स्टार विजय में, मराठी संस्करण स्टार प्रवाह में तथा इंडोनेशियाई एएनटीवी में प्रसारित होता है।[13]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "महाभारत (धारावाहिक २०१३) तकनीकी विनिर्देश". IMDb. अभिगमन तिथि ६ नवम्बर २०१३.
  2. महाभारत 16 सितंबर 2013 से सुरू
  3. मिलिये महाभारत के कृष्ण से।
  4. अर्जुन का चुनाव
  5. द्रौपदी, द्रौपदी का किरदार निभाया पूजा शर्मा नें।
  6. कर्ण देखें कि कौन बनेगा स्टार प्लस का कर्ण
  7. भीष्म बने अरव
  8. भीष्म, भीष्म की जीवनी।
  9. कर्ण कुंती का पहला पुत्र था जिसे उसने सूर्यदेव से माँगा था, इसके पास जन्म से ही अभेद्य कवच और कुंडल थे जिन्हे कुरुक्षेत्र में इसने इंद्र (अर्जुन के पिता) को दान दिया। इसके गुरु परशुराम थे।
  10. 18 दिन, जानिये महाभारत के 18 दिनों में क्या हुआ।
  11. महाभारत, 120 करोड़ में इस धारावाहिक का इतना अच्छा निर्माण हो पाया है।
  12. है कथा संग्राम की...
  13. महाभारत (2013 टीवी सीरीज) अंग्रेजी

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]