कन्नड लिपि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
ब्राह्मी लिपि से जन्मी लिपियाँ

उत्तरी ब्राह्मी

दक्षिणी ब्राह्मी

स्वर:

कन्नड़
हिंदी एॅ

अनुस्वर: ಅಂ (हिंदी में: अं)
विसर्ग: ಅಃ (हिंदी में: अः)

व्यंजन:

प्रत्येक व्यंजन का निम्न स्वर प्रचलित है ।

  1. ह्रस्व (क्), जो उक्त व्यंजन का मूल स्वर है,
  2. दीर्घ ('क्' व 'अ' मिले 'क')

वर्णमाला मे व्यंजन के दीर्घ स्वर का उपयोग करते है ।